रविवार, 26 जून 2016

मीना समाज करेगा छात्र छात्राओ का सम्मान


-3 जुलाई को राजधानी में होगा सम्मान समारोह

भोपाल। मीना समाज के प्रतिभावान छात्र छात्राओं को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से मीना समाज संगठन द्वारा समाज की प्रतिभाओं को सम्मानित किया जाएगा।यह  निर्णय रविवार को हमीदिया रोड स्थित मीना समाज सेवा संगठन की बैठक में लिया गया। संगठन के अध्यक्ष लालाराम मीना ने बताया कि सम्मान समारोह आगामी 3 जुलाई को हमीदिया रोड स्थित मीना समाज सेवा संगठन के प्रदेश कार्यालय मे होगा।इस अवसर पर संगठन द्वारा वर्ष 2015-16 की बोर्ड की 10वीं तथा12वीं परीक्षा में उत्तीर्ण हुए सभी मेधावी विद्यार्थियों को सम्मानित किया जाएगा। इसके लिए 01 जुलाई तक प्रविष्टियां आमंत्रित की गई हैं। इसके साथ ही समारोह में 'मीना आदिवासी एक परिचय' पत्रिका का विमोचन भी किया जाएगा और प्रदेश में पहली बार मीना समाज की online सदस्यता एप का शुभारंभ  भी होगा, जिससे समाज के लोग घर बैठे संगठन के सदस्य बनकर समाज के विकास में सहयोग कर सकेंगे। बैठक में संगठन के प्रदेश संगठन मंत्री भगवानसिंह मीना, वरिष्ठ  जिला उपाध्यक्ष हरभजन मीना  अग्निहोत्री, प्रदेश प्रवक्ता बृजेश मीना,प्रचार मंत्री भैयालाल मारण सहित पदमसिंह मीना, गुलाबसिंह मीना, वीरेंद्र मीना आदि  प्रमुख रूप से उपस्थित थे।
---------



बुधवार, 15 जून 2016

समसामयिक ग़ज़लें



अशोक मिज़ाज
एक चिंगारी ने इक तिनका जला रक्खा है,
और अख़बारों ने तूफ़ान उठा रक्खा है i

तोप तलवार की अब कोई ज़रुरत ही नहीं,
एक झाड़ू ने ही दिल्ली को हिला रक्खा है ।
चोर आवाज़ उठाने लगे चोरों के खिलाफ,
बेईमानों ने बहुत शोर मचा रक्खा है i
मसअले और भी हैं,मुल्क में सुलझाने को,
तुम ने कश्मीर को सीने से लगा रक्खा हैi
इक सियासत के परस्तार की अगवानी ने ,
सारी सड़कों पे गरीबों को बिछा रक्खा है
कुछ तो हालात वतन के ही बहुत नाज़ुक हैं,
कुछ पडोसी ने भी आतंक मचा रक्खा है ।
ऐसा लगता है महानगरों में आकर जैसे,
हमने भारत को भी अमरीका बना रक्खा है
छापने के लिए तैयार नहीं है कोई,
फ़ारसी में मेरा दीवान लिखा रक्खा है ।
अशोक मिज़ाज
2ग़ज़ल .....
वो पाक जैसा न हो और न चीन जैसा हो,
कोई तो दोस्त मेरा आस्तीन जैसा हो ।
नज़रिया अपना ज़माने को देखने के लिए,
हो दूरबीन कभी खुर्द्बीन जैसा हो
पहाड़ जैसे कलेजे के साथ लाज़िम है,
हमारे ज़ब्त का सीना ज़मीन जैसा हो ।
सभी ख़ुदा को तराज़ू में तौलते हैं यहाँ,
वो चाहते हैं वो उन के यक़ीन जैसा हो ।
हमारे एक इशारे पे लोग नाचेंगे,
हमारा लहजा भी साँपों की बीन जैसा हो ।
मेरी ये ज़िद भी है ,कोशिश भी है,क़सम भी है
मेरा वजूद किसी नामचीन जैसा हो ।
मशीनी दौर में ये भी मिज़ाज मुमकिन है,
हमारा बच्चा भी बिलकुल मशीन जैसा हो ।
अशोक मिज़ाज
3ग़ज़ल
बला की धूप में क्या क्या किसान देखते हैं,
कभी ज़मीन ,कभी आसमान देखते हैं,
कहाँ गये वो सिपाही जो हम से कहते थे,
हम अपने गावों में हिन्दोस्तान देखते हैं.
सड़क का दर्द हवाई जहाज क्या जाने,
कहाँ ज़मीन को आला कमान देखते हैं ?
पहाड़ चढ़ने की हिम्मत कोई नहीं करता,
सहूलियत के लिए सब ढलान देखते हैं,
ग़रीब लोगों के जज़्बात कौन देखता है
सियासी लोग तो उनका रुझान देखते हैं.
वो अपनी बात पे क़ायम कभी नहीं रहते,
हम उनका रोज़ बदलता बयान देखते हैं.
ये चीज़ पहले बिकाऊ नहीं थी पर अब हम
गली गली में अना की दुकान देखते हैं.
अना = स्वाभिमान
अशोक मिज़ाज,

4 माह से फरार मादक पदार्थ तस्कर क्राइम ब्रॉच की गिरफ्त में



        क्राइम ब्रॉच भोपाल द्वारा मादक पदार्थ की तस्करी करने वाले एक शातिर गॉजा तस्कर को द्वारिका नगर छोला मंदिर से गिरफ्तार करने में सफलता अर्जित की है। आरोपी के कब्जे से 3 किलो गॉजा जप्त किया गया है। जिसकी अनुमानित कीमत 6000/-रूपये आकी गई है।       
    क्राइम ब्रॉच भोपाल के द्वारा पूर्व में पकडे गये आरोपी राजू सूर्यवंषी पिता स्व. माणिक सूर्यवषी उम्र 38 साल निवासी आनंद नगर एवं रिंकू शर्मा पिता षिवनारायण शर्मा उम्र 26 साल निवासी अलीगढ को गिरफ्तार किया गया था। जिनके कब्जे से 41 किलो मादक पदार्थ गॉजा जप्त किया गया था। आरोपी राजू एवं रिंकू ट्रेन के बाथरूम में रखकर विषाखापट्नम से मादक पदार्थ लाकर भोपाल में अन्य लोकल सप्लाइयो को दिया करते थे। जिसमें से छोला क्षेत्र निवासी अर्जुन खटीक का नाम बताया था जिसकी पूर्व में  काफी तलाष की गई पर नही मिला था। जिसे क्राइम बा्रॅच द्वारा पकडने के लिये काफी प्रयास किये जा रहेे थे। आरोपी का कोई पता नही चला था।
        क्राइम ब्रॉच भोपाल की टीम द्वारा नषे के व्यापार पर निगाह रखी जाती रही है के अनुसार पुराने गॉजा तस्कर ,लुटेरे , नकबजन आदि अपराधियों पर एवं उनकी गतिविधियो पर नजर रखती है इसी दौरन अर्जुन खटीक जोकि मादक पदार्थ की सप्लाई  का काम करता है क्राइम ब्रॉच को मुखबिर द्वारा सूचना मिली की अर्जुन खटीक जो पूर्व के गॉजे तस्करो के नाम आने पर से ही  फरार था जो गॉजे की सप्लाई कर रहा है। क्राइम बंॉच भोपाल के द्वारा वरिष्ठ अधिकरियो को सूचना से अवगत कराकर टीम बनाकर द्वारिका नगर सूचना की तस्दीक के लिये भेजा गया। तथा सूचना की तस्दीक सही पाये जाने पर उक्त व्यक्ति को पकडकर उससे पूछताछ की गई जिसने अपना नाम अर्जुन खटीक पिता राजकुमार खटीक उम्र 36 साल निवासी 72 गली न. 03 छोला भोपाल का रहना बताया एंव तलाषी में उसके कब्जे से 03 किलो मादक पदार्थ गॉजा जप्त किया गया हैं। आरोपी के पूछताछ में बताया गया है कि पूर्व में राजू सूर्यवंषी से गॉजा लंेकर खापाने का काम बहुत दिनो से कर रहा था।
    आरोपी के विरूद्ध थाना क्राइम ब्रॉच में वैधानिक कार्यवाही कर अन्य गॉजे के तस्कर गिरोह के अन्य सदस्यो एवं फुटकर विक्रेताओ के संबंध मे पूछताछ की जा रही है।

क्राइम ब्रांच भोपाल द्वारा डेढ साल से गुमे बालक को ढुढ़ निकालने मे सफलता


क्राइम ब्रांच भोपाल द्वारा निशातपुरा भोपाल का एक 19 साल का बालक जो दिनांक 18.01.15 के सुबह दादी के यहा पलाशी गया था जो दादी के घर से रात्री 08 बजे घर जाने की कहकर निकला था जो घर वापस नहीं आया जब देर रात तक रोहित रजक दादी के यहा से घर नहीं पहुचा तब उसके दोस्त यारो तथा रिश्तेदारों और सभी संभावित स्थानो पर तलाश किया पर काही रोहित का पता नहीं चला लगभग डेढ़ साल तक रोहित का कोई पता नहीं चला तब एक दिन रोहित के द्वारा उसके पिता को फोन आया तब रोहित के पिता द्वारा क्राइम ब्रांच मदद के लिए आए द्य क्राइम ब्रांच की टीम द्वारा तलाश मे शनै- शनै पूछताछ और जानकारी एकत्रित कर उज्जैन के मोहन नगर के पास से गुमसूदा बालक को ढुढ निकालने मे सफलता अर्जित की है द्य
             रोहित रजक पिता घनश्याम रजक, उम्र 20 साल , निवासी- मकान न0 29 गली न0 1 रतन कॉलोनी थाना निशातपुरा का रहने वाला है द्य रोहित के पिता पेशे से शासकीय कर्मचारी है इनके दो लड़का और एक लड़की है द्य रोहित जो की 09 वी क्लास तक पढ़ा है पर पढ़ाई मे कमजोर होने के कारण पढ़ाई मे उसका मन नहीं लगता था और ज्यादातर खेलता रहता था या अपने दोस्तो के संग घूमता रहता था द्य
           दिनांक 18.01.2015 को रोहित रजक अपने घर से अपनी माँ से पढ़ाई को को लेकर डाट सुनकर अपने घर मे बिना बताए दादी के यहा निकला था और उसके बाद दादी के यहा से रात्री 08 बजे के लगभग वह दादी से अपने घर को जाने की कहकर निकला पर अपने घर नहीं पहुचा जब रात्री ज्यादा होने लगी तब घर वालों ने रोहित की तलाश की तो वह दादी के यहा से 08 बजे बताकर निकल गया था यह पता चला तब घर वालों ने उसकी खोजबीन सुरू की और अपने रिश्तेदारों , रोहित के दोस्तो और संभावित स्थानो पर तलास और पूछताछ की पर रोहित का कोई पता नही चला
       रोहित जो की डेढ़ सालो से गुम था उसका एक दिन उसके पिता के मोबाइल पर किसी नंबर से फोन आया तो उसने फोन पर अपने पिता से बात की तब उसके पिता को वहा के आसपास के रहने वालों ने बताया की आप क्राइम ब्रांच मे तुरंत जाए क्राइम ब्रांच की टीम रोहित को ढुढ़ निकलेगी तब रोहित के पिता ने जिस नंबर द्वारा रोहित से बातचीत हुई थी क्राइम ब्रांच को बताया गया और क्राइम ब्रांच द्वारा उसकी डीटेल बुलवाई गई द्य निरंतर प्रयाश के बाद ये पता चला रोहित ने जिस नंबर से अपने पिता से बात की थी उस नंबर की लोकेशन उज्जैन के पास मोहन नगर की आ रही है द्य
रोहित रजक के मोबाइल नंबर की काल डिटेल का तकनीकी विश्लेषण , परीक्षण एवं तकनीकी प्रयाश करने पर क्राइम ब्रांच की टीम को यह ज्ञात हुआ की रोहित उज्जैन के मोहन नगर मे कही रह रहा है द्य
        क्राइम ब्रांच द्वारा एक टीम गठित कर काल डीटेल के जरिए और उसकी लोकेशन के जरिए उज्जैन रोहित की पतराशी के लिए उज्जैन रवाना हुए और वाहा काफी प्रयाशों के बाद रोहित रजक को ढुढ निकालने मे सफलता प्राप्त की जब रोहित को ढुढ़ लिया गया तब पता चला रोहित घर से जब निकला था पहले इंदौर गया और इंदोर मे इंदौर होटल मे काम किया उसके कुछ महिनो बाद रोहित उज्जैन आ गया और वहा ठेकेदार मनीष से पहचान हो गई और उनही के पास पुताई का काम रहा था द्य

राजधानी में प्रदर्शन करेंगे

शुजालपुर तहसील जिला शाजापुर के डुंगलाय गांव के 40 किसान आज गुरुवार को जल संसाधन विभाग के खिलाफ राजधानी में प्रदर्शन  करेंगे।
मामला जेठड़ा तालाब के सीपेज से फसल बर्बादी का।
32 हेक्टेयर कृषि भूमि  में नहीं हो पा रही एक भी फसल।
पांच साल से मुआवजा और क्षतिपूर्ति की मांग लेकर दर दर की ठोकरें खा रहे, अब सल्फास खाने की विवशता ।
प्रमुख नेतृत्व कर रहे जीवनसिंह मेवाड़ा और श्रीकांत देशमुख ने दी जानकारी। चार दिन से भोपाल मे़ं पड़े है। विभाग के वरिष्ठ अधिकारी नहीं कर रहे सुनवाई।
---.....----