शुक्रवार, 29 अप्रैल 2016

पांच हजार सफाई कर्मियों धरना प्रदर्शन आज


- यादगारे शाहजनी पार्क में प्रदेशभर के सफाई कर्मचारी सुबह 10 बजे होंगे एकत्रित
- मौन रहकर करेंगे धरना-प्रदर्शन, मुख्यमंत्री को देंगे ज्ञापन


भोपाल। अखिल भारतीय सफाई मजदूर कांग्रेस ट्रेड यूनियन के तत्वावधान में सफाई कर्मियों की 34 सूत्रीय मांगों को लेकर 30 अप्रैल को सुबह 11 बजे प्रदेशभर के लगभग 5 हजार सफाई मजदूर कामगार यादगारे शाहजहानी पार्क में मौन रूप से धरना प्रदर्शन करेंगे। बाद में एक प्रतिनिधि मंडल मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मिलकर उन्हें ज्ञापन सौंपेगा।
यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष मगन झांझोट ने बताया कि प्रदेश में सफाई कर्मचारियों की हालत दिनोंदिन खराब होती जा रही है, इस बारे में कई बार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित संबंधित विभाग को ज्ञापन दिए, धरना-प्रदर्शन किए गए लेकिन सरकार ने सफाई कर्मचारियों की हालत पर जरा सा भी तरस नहीं आया। उन्होंने कहा कि सिर पर मैला ढोने और हाथ से सफाई करने वाले सफाई कामगारों की समस्याओं का अब शीघ्र समाधान का वक्त आ गया है लेकिन सरकार के सिर पर आज तक जूं नहीं रेंगी। इसलिए 30 अप्रैल को सुबह 11 बजे शाहजहांनी पार्क में 34 सूत्रीय राष्ट्रीय मांगों को लेकर नगर पालिका और नगर निगम में कार्यरत लगभग 5 हजार सफाईदार कर्मचारी एकत्रित होंगे और गांधीवादी तरीके से अधिकार रैली निकालेंगे।  इसके बाद मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा जाएगा।
1 मई को मनेगा काला दिवस
प्रदेशाध्यक्ष मगन झांझोट ने बताया कि 1 मई को मजदूर दिवस को काला दिवस मनाया जाएगा। कर्मचारी काली पट्टी बांधकर मजदूर दिवस का बहिष्कार करेंगे।

ये हैं प्रमुख मांगें
- सफाई के कार्य की ठेकेदारी प्रथा बंद की जाए
- संविधान की धारा 341, 14, 15, 16 के आधार पर मौजूदा अनुसूचित जाति को मिलने वाले आरक्षण में से बाल्मिकी मेहतर को लोक संख्या के आधार पर 5 प्रतिशत आरक्षण दिया जाए।
- सिर पर मैला ढोने और हाथ से सफाई कामगारों का प्रदेश व्यापी सर्वेक्षण कर उनके आश्रितों को तथा उनका पुनर्वसन हेतु आर्थिक पैकेज दिया जाए।
- नगर पालिका, नगर निगमों में सपाई कामगारों के रिक्त पदों पर सीधी भर्ती से नियुक्ति की जाए।

सामूहिक विवाह सम्मेलन में 58 जोड़ों की हुई शादी


- त्रिदेवी मां बैष्णों जन कल्याण दरबार प्रदेश समिति का 9 वां विवाह सम्मेलन आयोजित

भोपाल। मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत त्रिदेवी मां बैष्णों जन कल्याण दरबार प्रदेश समिति, भोपाल के तत्वावधान में शुक्रवार को रतन कॉलोनी, करोंद में सामूहिक विवाह सम्मेलन के तहत 58 जोड़ों का विवाह वैदिक रीति-रिवाज से सम्मान कराया। इस मौके पर नव दंपति को दहेज का सामान व उपहार भी दिए गए।
प्रदेश अध्यक्ष विनोद पलया ने बताया कि आज सुबह से ही पंडाल में व्यवस्था व सुरक्षा व्यवस्था सुचारू रूप से की गई थी। पंडितों द्वारा सबसे पहले मां बैष्णों देवी की विधिविधान से पूजा-अर्चना की गई। बाद में सभी दूल्हों को घोड़ी व बग्गी पर बैठाकर बारात निकाली गई। तत्पश्चात विद्वान पंडितों द्वारा मंत्रोच्चार के साथ 58 जोड़ों का पाणिग्रहण संस्कार कराया गया। समिति के प्रदेश अध्यक्ष निवोद पलया, शशि यादव, बद्रीप्रसाद सहित समिति के अन्य पदाधिकारियों व सदस्यों ने वर-वधू को आशीर्वाद दिया।


भगवान अहंकारी स्वभाव को सहन नहीं करते : पंडित नीरज


- नीलकंठेश्वर मंदिर ईदगाहहिल्स में सजाई गई गोवर्धन पर्वत की झांकी
- सैंकड़ों श्रद्धालु कर रहे श्रीमद भागवत कथा का रसास्वादन


भोपाल। श्री नीलकंठेश्वर शिव दुर्गा मंदिर परिसर, ईदगाह हिल्स में चल रही संगीतमय श्रीमद् भागवत कथा के पांचवें दिन वृंदावनधाम के कथावाचक पंडित नीरज कृष्ण महाराज ने कहा कि गायों का पालन, चराने तथा उनके दूध को पीने के कारण भगवान कृष्ण का नाम गोपाल पड़ा। गौ का वर्धन (बढ़ाने वाला) होने के कारण गिरिराज पर्वत का नाम गोवर्धन पड़ा। हम सबकों भी गौ पालन कर घर के सभी परिजनों को गौ दुग्ध से पुष्टकर निरोग बनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि भगवान अहंकारी स्वभाव को सहन नहीं कर सकते है। अहंकारी व्यक्ति का भगवान अहंकार नष्ट करते हैं। इंद्र को अभिमान था कि वह वर्षा करता हैं। नहीं करूं तो सृष्टि नष्ट हो जाए। भगवान कृष्ण ने उनका अभिमान दूर करने के लिए गोवर्धन पूजा कराकर इंद्र का मान मर्दन किया। कृष्ण की लीलाओं का बखान करते हुए उन्होंने कहा कि जीवन में भगवान ने माखन चोरी के बहाने ब्रज क्षेत्र का मक्खक्रोध की ज्वाला से व्यक्ति को हमेशा नुकसान मक्खन को दूसरे नगरों में बिकने जाने से रोका, ताकि ग्वाल बाल मक्खन खाकर पुष्ट हो। अत्याचारी कंस की सेना से मुकाबले में सक्षम बन सके। कथा के दौरान गोवर्धन भगवान की मनोरम झांकी सजाकर गोवर्धन लीला का व्याख्यान किया। कथा के अंत में प्रसाद बांटा गया। इस मौके पर मुख्य यजमान मनोज निगम, एमडी पाटिल, आचार्य पंडित गोविंद शर्मा, आरएन त्रिपाठी, सुरेश राय, पवन निगम, वरुण, अनुराग, झाबू, अभिषेक व गिरीश त्रिपाठी उपस्थित थे।