शनिवार, 14 मार्च 2015

मैप आईटी की एक ही दिन में तीन पदों के लिए तीन परीक्षाएं आज


भोपाल। मध्यप्रदेश एजेंसी फॉर प्रमोशन ऑफ इंफरमेशन टेक्नोलॉजी (मैप आईटी) में डिस्ट्रिक्ट मैनेजर, असिस्टेंट मैनेजर और ऑफिस असिस्टेंट के पदों के लिए रविवार 15 मार्च को आयोजित की जाने वाली चयन परीक्षा आवेदकों के लिए परेशानी का सबब बन गई है।
तीन पदों के लिए तीन अलग-अलग समय पर परीक्षाएं आयोजित की जा रही है। जिन उम्मीदवारों ने सभी पदों के लिए आवेदन किया है, उनमें से ज्यादातर को अलग-अलग परीक्षा केंद्र आवंटित किए गए हैं। कुछ उम्मीदवारों के परीक्षा केंद्र तो पांच से सात किलोमीटर की दूरी पर हैं। जबकि दो पदों के लिए होने वाली परीक्षाओं के बीच का अंतर केवल दो घंटे का है। दिक्कत की बात यह है कि ऑनलाइन परीक्षा होने के कारण उम्मीदवारों को परीक्षा हॉल में आधा घंटे पहले पहुंचना जरूरी किया गया है। उम्मीदवारों का कहना है कि इस परेशानी की शिकायत संस्थान से की है, लेकिन उन्हें अधिकारियों की ओर से कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला है। परीक्षा केंद्रों की इस व्यवस्था से सबसे ज्यादा परेशानी उन उम्मीदवारों को होगी, जो अन्य राज्यों से परीक्षा देने भोपाल आ रहे हैं। इस परीक्षा में प्रदेश भर से 52 हजार से ज्यादा उम्मीदवार शामिल हो रहे हैं। उम्मीदवारों को यह भी आरोप है कि 15 मार्च को होने वाली परीक्षा की तारीख 4 मार्च को घोषित की गई थी। इससे परीक्षा की तैयारी के लिए समय ही नहीं मिल पाया है। साथ ही परीक्षा से संबंधित पदों की संख्या की जानकारी साफ नहीं की गई है। ऐसे में जो उम्मीदवार अन्य राज्यों में होनेे वाली विभिन्न चयन परीक्षाओं के लिए आवेदन कर सकते थे वो भी इससे वंचित रह गए।

कई उम्मीदवारों की समस्या सुलझाने का दावा
मैप आईटी के डिप्टी डायरेक्टर कमल जैन के अनुसार करीब आठ हजार आवेदक ऐसे हैं, जिन्होंने एक से ज्यादा पदों के लिए आवेदन किया हुआ है। आवेदन के दौरान हुई तकनीकी गलती के कारण सॉफ्टवेयर ने कई उम्मीदवारों को परीक्षा के लिए अलग-अलग शहर और केंद्र आवंटित कर दिए थे। संस्थान ने तकनीकी स्तर पर हुई गलती को सुधारते हुए उम्मीदवारों को सभी परीक्षा के लिए एक ही केंद्र और एक ही शहर करने की कोशिश की है।
परीक्षा के तय कार्यक्रम के अनुसार डिस्ट्रिक्ट मैनेजर का पेपर सुबह 10 से 11.30 बजे, असिस्टेंट मैनेजर का पेपर दोपहर 1 से 2.30 बजे और ऑफिस असिस्टेंट का पेपर दोपहर 4 से शाम 5.30 बजे होगा।
-

हर दिन एक हजार से अधिक वेबसाइट होती हैं हैक : बिनाएल जोसफ


जीवीएन स्कूल में शुरू होंगे तीन नए सर्टिफिकेट कोर्स

भोपाल। इंफॉर्मेशन सिक्योरिटी रिसर्चर और एथिकल हैकर बिनाएल जोसफ का मानना है कि हैकर बनने के लिए इंटरेस्ट, गूगल नॉलेज और इंग्लिश की समझ होना चाहिए। यह जरूरी नहीं कि टेक्नीकल नॉलेज बहुत ज्यादा हो। किसी भी स्ट्रीम का स्टूडेंट किसी भी तरह का हैकर बन सकता है। 23 साल के युवा एथिकल हैकर बिनाएल जोसफ ने यह बात शनिवार दोपहर जीवीएन स्कूल में आयोजित पत्रकारवार्ता में कही।  बिनाएल कहते हैं, रोजमर्रा की जिंदगी में कोई भी हैकिंग का शिकार हो सकता है, लेकिन कुछ बेसिक टिप्स अपनाकर खुद को सिक्योर किया जा सकता है, हालांकि साइबर क्राइम से खुद को रोकने के लिए कोई भी 100 फीसदी सिक्योरिटी हासिल नहीं कर सकता क्योंकि हैकिंग करने वाला लगातार स्मार्ट होता जा रहा है।

ये हैं बेसिक टिप्स
1. अपने पासवर्ड में नंबर्स, लेटर और साइन का कॉम्बिनेशन रखें।
2. प्राइवेसी सेटिंग्स को अपडेट करते रहे।
3. किसी भी तरह की सेंसिटिव इंफॉर्मेशन सोशल नेटवर्किंग पर शेयर न करें।
4. अपना पासवर्ड बदलते रहें यदि आपको शंका है कि कोई इसे क्रेक करने की कोशिश कर रहा है। किसी भी तरह की फाइल डाउनलोड करने के बाद उसे स्केन कर लें।
6. अनाधिकृत वेबसाइट से कुछ भी डाउनलोड न करें।
7. किसी भी अजनबी के द्वारा भेजे गए मेल को ओपन न करें क्योंकि उस अटैचमेंट के साथ वायरल भी हो सकते हैं।
8. अपने सिस्टम पर एंटी-वायरस अपडेट रखें।
9. पब्लिक कंप्यूटर इस्तेमाल करते समय चेक कर लें कि वहां की-लॉगर हार्डवेयर इंस्टॉल तो नहीं है। अक्सर साइबर कैफे पर की-लॉगर लगा दिया जाता है जिससे दूसरे व्यक्ति को आपके ईमेल और पासवर्ड की जानकारी मिल जाती है।

ऐसे होगा साइबर क्राइम कम
साइबर सिक्योरिटी अवेयरनेस के लिए शुरुआत स्टूडेंट्स और पेरेंट्स से की जानी चाहिए तभी सोसायटी में साइबर क्राइम को कम कर सकेंगे। जब लोग जानकार होंगे तो उनके साथ अपराध की गुंजाइश भी कम हो जाएगी। यही वजह है कि स्कूल्स से यह शुरूआत की जा रही है। जिसमें ग्यारहवीं और बारहवीं के स्टूडेंट्स को दो साल का सर्टिफिकेट प्रोग्राम कराया जा रहा, जिसके लिए अलग से कोई फीस चार्ज नहीं की जा रही। बिनाएल ने बताया कि भारत में हर दिन 1000 से अधिक वेबसाइट हैक होती है, जिन्हें गल्फ देशों के हैकर अंजाम देते हैं। कोई भी वेबसाइट या एप 100 फीसदी सुरक्षित नहीं है।

सप्ताह में दो दिन होंगे तीन कोर्स शुरू
इस अवसर पर जीवीएन - द ग्लोबल स्कूल की प्रिंसीपल आरती बैरी ने कहा कि नए शिक्षण सत्र से स्कूल में कक्षा 11 व 12 वीं के छात्रों के लिए तीन नए सर्टिफिकेट कोर्स शुरू होंगे जिनमें साइबर क्राइम, सिक्युरिटीज व फोटोग्राफी शामिल हैं। यह कोर्स शुक्रवार व शनिवार को छात्रों को पढ़ाए जाएंगे।

मंत्री के नजदीकी पर ब्लैकमेल करने का आरोप


- प्रिया तिवारी ने की कोलार थाने में शिकायत

भोपाल। इवेंट आर्गेनाइजर प्रिया तिवारी ने पर्यटन और संस्कृति मंत्री सुरेंद्र पटवा के नजदीकी संजय मीणा पर ब्लैकमेल का आरोप लगाया है। ब्लैकमेल से तंग आकर शनिवार को प्रिया का झगड़ा संजय से हो गया। ये झगड़ा इतना बढ़ गया कि नौबत मारपीट की आ गई। इस मारपीट में प्रिया के सिर में चोट आई। इस पर प्रिया ने संजय की शिकायत कोलार थाने में की है। प्रिया के परिचित रवि शर्मा का कहना है कि डेढ़ साल से संजय प्रिया को परेशान और ब्लैकमेल कर रहा था। उसके पास प्रिया के कुछ पुराने फोटो हैं, जिसके दम पर वह ब्लैकमेल कर रहा था। इसी बात पर आज बहुत ज्यादा झगड़ा हो गया।

दिग्विजय ने मुख्यमंत्री रहते एक बिल्डर से लिए थे 10 करोड़ : नंदकुमार सिंह चौहान


- भाजपा ने कहा - इनकम टैक्स अपीलेट ट्रिब्यूनल के दस्तावेजों के आधार पर लिए थे रुपये

भोपाल। व्यापमं फर्जीवाड़े में मप्र सरकार को घेरने वाले कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह पर भाजपा ने पलटवार कर दिया है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर आरोप लगाया है कि उन्होंने भोपाल के एक नामी बिल्डर से 10 करोड़ रुपए मुख्यमंत्री रहते हुए लिए थे। चौहान ने शनिवार को प्रेस कान्फ्रेंस में इस बात का खुलासा किया। इसमें बताया गया कि इनकम टैक्स अपीलेट ट्रिब्यूनल के दस्तावेजों के आधार पर ये बात कही जा सकती है कि दिग्विजय सिंह ने बिना किसी वैध तरीके के यह राशि ली थी। इसके अलावा अन्य लोगों के नाम भी इन दस्तावेजों में है। इस मामले की जांच की मांग चौहान ने की है।
2008 में बिल्डर पर पड़ा था इनकम टैक्स का छापा
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद नंदकुमार सिंह चौहान ने कांग्रेस महासचिव और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर एक बिल्डर के साथ अवैध लेन देन का आरोप लगाते हुए आयकर विभाग से इस मामले में समग्रता के साथ जांच कर आवश्यक कार्यवाही (आर्थिक दंड और अपराधिक मामले में सजा) की मांग की है। 30 मई 2008 को आयकर विभाग ने एक बिल्डर के यहां छापा मारा था जिसमें अन्य अभिलेखों के अलावा तीन डायरियां बिल्डर के हाथ की लिखी हुई जप्त की गयी थी। जांच में बिल्डर ने स्वीकार किया है कि जो भी एन्ट्रियां हुई है वे सब उसके हाथ की है और पूरी तरह से प्रामाणिक है। यह खर्चे का विवरण है जो उसके द्वारा व्यापारिक लेन-देन को लेकर दर्ज किया गया है। इन डायरियों में करोडों रूपए तत्कालीन मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को देने की एन्ट्रीज है। प्रमाण के तौर पर बार-बार सीएम और एचसीएम की प्रष्टियां हुई है। यह सभी एन्ट्रियां अक्टूबर 2003 के पहले की है। इस दौरान दिग्विजय सिंह ही मुख्यमंत्री थे। उनके भाई के नाम भी लेन देन में एन्ट्रियां पायी गयी है, जो गंभीर भ्रष्टाचार का सबूत है और इसका इन्कम टैक्स डिपार्टमेंट तथा अन्य संबंधित एजेंसियों को गंभीरता से अध्ययन जांच कर कार्यवाही करना चाहिए।
मप्र के मुख्यमंत्री रहते हुए लिया पैसा
ट्रिब्यूनल के आदेश के पेज 95 से 102 के बीच अंकित सभी बातों की ध्यान आकर्षित किया और कहा कि इन तथ्यों से स्पष्ट है कि प्रविष्टी के समय के दिग्विजय सिंह ही मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री थे उनको इन तथ्यों के बारे में स्पष्टीकरण देना चाहिए।

एक हफ्ते आगे बढ़ाई जा सकती है गेहूं खरीदी


भोपाल।
प्रदेश में कुछ दिनों से हो रही बारिश को देखते न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी को एक हफ्ते के लिए आगे बढ़ाया जा सकता है। कुछ कलेक्टरों ने खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग को फसल में नमी आने और खरीदी केन्द्रों का स्थान गीला होने का हवाला देते हुए खरीदी की तारीख आगे बढ़ाने की मांग उठाई है। हालांकि, इस बारे में अभी कोई अंतिम फैसला नहीं लिया गया है। खरीदी 18 मार्च से शुरू होनी है। उज्जैन, इंदौर, भोपाल और नर्मदापुरम् संभाग में खरीदी 18 मार्च से 19 मई तक होनी है। जबकि, चंबल, ग्वालियर, रीवा, शहडोल, जबलपुर और सागर संभाग में खरीदी 25 मार्च से की जाएगी। उज्जैन, इंदौर, भोपाल और नर्मदापुरम् संभाग में पिछले एक हफ्ते से कहीं ना कहीं बारिश हो रही है। गेहूं में नमी आ गई है। नमी वाला गेहूं खरीदने पर पाबंदी है। ऐसे में यदि किसान उपज ले भी आते हैं तो उसे लौटाना पड़ेगा, इसलिए कुछ कलेक्टरों ने खरीदी को आगे बढ़ाने की मांग रखी है। मंत्रालय सूत्रों का कहना है कि विभाग खरीदी को एक हफ्ते आगे बढ़ाने पर विचार कर रहा है। अंतिम फैसला एक या दो दिन में लिया जाएगा।

किसानों को धान और गेहूं पर बोनस के मंथन का नहीं निकला नतीजा


भोपाल। किसानों को धान और गेहूं पर बोनस की जगह क्या राहत दी जाए, ये तय करने शनिवार को सीएम हाउस पर हुई बैठक बेनतीजा रही। सीएम ने मंत्रियों और अफसरों से अगली बैठक में बेहतर सुझाव लाने को कहा है।


इन सुझावों पर नहीं बनी सहमति
फसल बीमा : फायदा-नुकसान न समझाने के कारण सीएम पूरी तरह सहमत नहीं हुए। फसल बीमा पर उन्होंने कहा-कई किसान फसल बीमा ही नहीं भरते हैं और न ही हर किसान की फसल बर्बाद या खराब होती है। ऐसे में हम शत-प्रतिशत किसानों को लाभ नहीं दे पाएंगे।
खाद पर सब्सिडी : सीएम को प्रस्ताव ठीक लगा, लेकिन छोटे-बड़े किसानों में सामंजस्य अस्पष्ट रहा। मुख्यमंत्री ने कृषि और सहकारिता विभाग के अफसरों को विस्तृत जानकारी बनाकर लाने को कहा, जिसमें स्पष्ट हो कि प्रति बैग खाद पर सब्सिडी दी जाए या फिर एक मुश्त राशि सब्सिडी के नाम पर दें। किसान संघ के पदाधिकारियों ने किसानों को सीधी राहत देने के लिए खाद की सब्सिडी देना सही ठहराया
ये मौजूद रहे बैठक में : मंत्री गौरीशंकर शेजवार, गोपाल भार्गव, गौरीशंकर बिसेन, जंयत मलैया, विजय शाह, रामपाल सिंह और नरोत्तम मिश्रा, एसीएस अजय नाथ, कृषि उत्पादन आयुक्त आरके स्वाई, पीएस राजेश राजौरा और मुख्यमंत्री के सचिव विवेक अग्रवाल।

एक करोड़ की टैक्स चोरी निकली


भोपाल। विभागीय अफसरों ने रैंकर्स पाइंट पर करीब एक करोड़ रुपए के सर्विस टैक्स की चोरी निकाली है। खुफिया विंग की इस कार्रवाई में विंग के असिस्टेंट डायरेक्टर सालिक परवेज एवं सीनियर इंटेलीजेंस ऑफिसर शरद त्रिपाठी एवं विनीत कुमार सहित अफसरों की छह टीमें शामिल थीं। इस गोपनीय ऑपरेशन में ज्यादातर अफसर भोपाल से ही गए थे। जांच अधिकारियों ने रैंकर्स पाइंट के डायरेक्टर के के शर्मा एवं कपिल बिरथरे से पूछताछ की है। दोनों के बयान भी दर्ज किए गए हैं। भोपाल में डीजीसीईआई की यूनिट खुलने के बाद खुफिया विंग की यह पहली कार्रवाई है। दूसरे कोचिंग संस्थान कैटालाइजर के यहां से बरामद दस्तावेजों की छानबीन अभी जारी है। इसके भोपाल स्थित कार्यालय में विभागीय अफसरों को ज्यादा कुछ नहीं मिला। गौरतलब है कि
कस्टम एवं सेंट्रल एक्साइज की खुफिया विंग डीजीसीईआई ने इंदौर की दो कोचिंग इंस्टीट्यूट रैंकर्स पाइंट एवं कैटालाइजर पर छापा मारकर एक करोड़ रुपए की सर्विस टैक्स चोरी का खुलासा किया था। औचक कार्रवाई डीजीसीईआई की भोपाल यूनिट ने की थी। दोनों संस्थानों के आधा दर्जन ठिकानों पर शनिवार तड़के तक छानबीन चली। कैटालाइजर के भोपाल स्थित दफ्तर में भी तलाशी ली गई। सेंट्रल एक्साइज महकमे की खुफिया विंग ने दोनों संस्थानों से बड़ी संख्या में दस्तावेज बरामद किए हंै। इनमें ज्यादातर रिकार्ड सॉफ्ट कॉपी में है, विभागीय अफसरों ने कम्प्यूटर एवं लैपटाप से जब्त किए। गुरुवार दोपहर दोनों संस्थानों के इंदौर स्थित दफ्तरों में एक साथ कार्रवाई हुई थी। छानबीन तड़के ढाई बजे तक चलती रही थी। रैंकर्स पाइंट की छानबीन में करीब साढ़े पांच हजार बच्चों का पंजीयन पाया गया था। प्रत्येक छात्र से 60 हजार से लेकर डेढ़ लाख रुपए तक ट्यूशन फीस वसूली जा रही थी। संस्थान का टर्नओवर 20 करोड़ से अधिक का बताया गया है। लेकिन डॉटा में हेराफेरी कर विभाग को पूरा सर्विस टैक्स नहीं दिया जा रहा था। कोचिंग संस्थान ने सभी छात्रों को फीस की रसीदें तो दीं थीं लेकिन रिकार्ड में सभी का ब्यौरा नहीं रखा। छात्रों को रसीदें देने के बाद उनका रिकार्ड गायब कर दिया जाता था।

राज्यपाल की याचिका पर कांग्रेस ने सरकार से मांगी सफाई

- कांग्रेस ने एसटीएफ की जांच पर उठाए सवाल


भोपाल। प्रदेश कांग्रेस ने राज्यपाल रामनरेश यादव द्वारा हाईकोर्ट में एसटीएफ की एफआईआर खारिज करने को लेकर दायर याचिका पर सरकार से सफाई मांगी है। पार्टी ने कहा है कि राज्यपाल ने अपनी ही सरकार के खिलाफ याचिका दायर की है। इससे कानून और प्रजातांत्रिक व्यवस्था को लेकर भ्रम की स्थिति बन गई है। इसी तरह कांग्रेस ने व्यापमं घोटाले की पड़ताल कर रही एसटीएफ की भूमिका पर संदेह जताते हुए शिकायतों को उसे ही जांच के लिए सौंपने प्राकृतिक न्याय के सिद्धांत के खिलाफ बताया। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता केके मिश्रा ने कहा कि व्यापमं घोटाले की जांच जिस तरह से चल रही है उससे इस बात की संभावना बेहद कम है कि कभी व्यापमं का असली सच लोगों के सामने आ सके। एसटीएफ रसूखदारों को छोड़कर सब पर कार्रवाई कर रही है। पहली बार राजभवन और राज्यपाल का नाम इस तरह किसी घोटाले में आया है। एसटीएफ ने राज्यपाल और उनके परिजनों के खिलाफ एफआईआर भी कर ली है। राज्यपाल ने अपने ऊपर दर्ज की एफआईआर को खारिज करने के लिए हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। इसमें प्रदेश सरकार को भी पार्टी बनाया गया है। राज्य सरकार सारे काम राज्यपाल के नाम से करती है। ऐसे में विचित्र स्थिति बन गई है। मिश्रा ने मांग उठाई है कि सरकार को कानूनी और प्रजातांत्रिक स्थिति को स्पष्ट करना चाहिए।

हर दिन एक हजार से अधिक वेबसाइट होती हैं हैक : बिनाएल जोसफ


जीवीएन स्कूल में शुरू होंगे तीन नए सर्टिफिकेट कोर्स


भोपाल। इंफॉर्मेशन सिक्योरिटी रिसर्चर और एथिकल हैकर बिनाएल जोसफ का मानना है कि हैकर बनने के लिए इंटरेस्ट, गूगल नॉलेज और इंग्लिश की समझ होना चाहिए। यह जरूरी नहीं कि टेक्नीकल नॉलेज बहुत ज्यादा हो। किसी भी स्ट्रीम का स्टूडेंट किसी भी तरह का हैकर बन सकता है। 23 साल के युवा एथिकल हैकर बिनाएल जोसफ ने यह बात शनिवार दोपहर जीवीएन स्कूल में आयोजित पत्रकारवार्ता में कही।  बिनाएल कहते हैं, रोजमर्रा की जिंदगी में कोई भी हैकिंग का शिकार हो सकता है, लेकिन कुछ बेसिक टिप्स अपनाकर खुद को सिक्योर किया जा सकता है, हालांकि साइबर क्राइम से खुद को रोकने के लिए कोई भी 100 फीसदी सिक्योरिटी हासिल नहीं कर सकता क्योंकि हैकिंग करने वाला लगातार स्मार्ट होता जा रहा है।

ये हैं बेसिक टिप्स

1. अपने पासवर्ड में नंबर्स, लेटर और साइन का कॉम्बिनेशन रखें।
2. प्राइवेसी सेटिंग्स को अपडेट करते रहे।
3. किसी भी तरह की सेंसिटिव इंफॉर्मेशन सोशल नेटवर्किंग पर शेयर न करें।
4. अपना पासवर्ड बदलते रहें यदि आपको शंका है कि कोई इसे क्रेक करने की कोशिश कर रहा है। किसी भी तरह की फाइल डाउनलोड करने के बाद उसे स्केन कर लें।
6. अनाधिकृत वेबसाइट से कुछ भी डाउनलोड न करें।
7. किसी भी अजनबी के द्वारा भेजे गए मेल को ओपन न करें क्योंकि उस अटैचमेंट के साथ वायरल भी हो सकते हैं।
8. अपने सिस्टम पर एंटी-वायरस अपडेट रखें।
9. पब्लिक कंप्यूटर इस्तेमाल करते समय चेक कर लें कि वहां की-लॉगर हार्डवेयर इंस्टॉल तो नहीं है। अक्सर साइबर कैफे पर की-लॉगर लगा दिया जाता है जिससे दूसरे व्यक्ति को आपके ईमेल और पासवर्ड की जानकारी मिल जाती है।

ऐसे होगा साइबर क्राइम कम
साइबर सिक्योरिटी अवेयरनेस के लिए शुरुआत स्टूडेंट्स और पेरेंट्स से की जानी चाहिए तभी सोसायटी में साइबर क्राइम को कम कर सकेंगे। जब लोग जानकार होंगे तो उनके साथ अपराध की गुंजाइश भी कम हो जाएगी। यही वजह है कि स्कूल्स से यह शुरूआत की जा रही है। जिसमें ग्यारहवीं और बारहवीं के स्टूडेंट्स को दो साल का सर्टिफिकेट प्रोग्राम कराया जा रहा, जिसके लिए अलग से कोई फीस चार्ज नहीं की जा रही। बिनाएल ने बताया कि भारत में हर दिन 1000 से अधिक वेबसाइट हैक होती है, जिन्हें गल्फ देशों के हैकर अंजाम देते हैं। कोई भी वेबसाइट या एप 100 फीसदी सुरक्षित नहीं है।

सप्ताह में दो दिन होंगे तीन कोर्स शुरू
इस अवसर पर जीवीएन - द ग्लोबल स्कूल की प्रिंसीपल आरती बैरी ने कहा कि नए शिक्षण सत्र से स्कूल में कक्षा 11 व 12 वीं के छात्रों के लिए तीन नए सर्टिफिकेट कोर्स शुरू होंगे जिनमें साइबर क्राइम, सिक्युरिटीज व फोटोग्राफी शामिल हैं। यह कोर्स शुक्रवार व शनिवार को छात्रों को पढ़ाए जाएंगे।

मंगलवार, 3 मार्च 2015

अब कोलार में पानी संकट होगा दूर : शिवराज सिंह चौहान


- जन्मदिन पर सीएम करेंगे योजना का भूमिपूजन
- कोलार को मिलेगी 52 करोड़ की पेयजल योजना की सौगात

भोपाल। पानी का संकट दूर करने के लिए कोलार क्षेत्र में 52 करोड़ की लागत से पेयजल योजना की सौगात मिलने जा रही है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इस परियोजना का 5 मार्च को कोलार में भूमिपूजन करेंगे। इस दिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का जन्मदिन भी है। कार्यक्रम शाम पांच बजे बंजारी दशहरा मैदान पर आयोजित होगा। यह जानकारी हुजूर विधायक रामेश्वर शर्मा ने मंगलवार को आयोजित एक प्रेसवार्ता में दी।

साल भर में पूरा होगा काम
रामेश्वर शर्मा ने बताया कि यूआईडीएसएसएमटी योजना के तहत स्वीकृत इस योजना के क्रियान्वयन में आ रही सभी अड़चनों को दूर कर लिया गया है और अब कार्य शुरू करने के लिए टेंडर हो चुके हैं। एक साल में इसका काम पूरा हो जाएगा।

मीटर लगेंगे

इस परियोजना के टेंडर में पहली बार कार्य की गुणवत्ता एवं पानी के पर्याप्त वितरण को सुनिश्चित करने के लिए संबंधित कंपनी को 10 साल के मेंटेनेंस की भी जिम्मेदारी का प्रावधान रखा गया है। इसमें लोगों को मीटर से पानी सप्लाई किया जाएगा। साथ ही टंकियों एवं राईसिंग मेन में भी मीटर लगाए जाएंगें ताकि लीकेज पर प्रभावी नियंत्रण रखा जा सके।

पहले चरण में केरवा, दूसरे चरण में नर्मदा परियोजना से आएगा पानी

योजना के अंतर्गत प्रथम चरण में 1 लाख 80 हजार की जनसंख्या के लिए 29 एम.एल.डी. पानी केरवा से लिया जाएगा और द्वितीय चरण में आवश्यक 27 एम.एल.डी. शुद्घ पानी नगर निगम की नर्मदा परियोजना से लिया जाएगा। प्रस्तावित योजना में प्रथम चरण के तहत केरवा में इनटेकवेल एवं सतगढ़ी पहाड़ी पर डब्लूटीपी बनाया जाएगा । केरवा से कोलार तक 500 एमएमए 7 किलोमीटर डीआईके-9 पाइपलाइन डाली जाएगी । इसके अलावा 20 लाख लीटर क्षमता की 5 उच्चस्तरीय टंकियां, 4 इंच से लेकर 12 इंच तक एचडीपीई पाइप 170 किलोमीटर वितरण लाइनें डाली जाएंगी ।

योजना की खास बातें

1. कोलार पेयजल परियोजना से 162 कालोनियों, 56 झुग्गी बस्तियों और 42 ग्रामों को मिलेगा फायदा।
2. वर्ष 2030 में पानी की जरूरत का अनुमान लगाकर इंटेकवेल का निर्माण होगा।
3. 20 लाख लीटर क्षमता की पांच उच्चस्तरीय टंकियों का होगा निर्माण।

कक्षा दसवीं की परीक्षा में पहले दिन बने १७७ नकल प्रकरण


भोपाल। मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मण्डल की मंगलवार से शुरू हुई कक्षा दसवीं की परीक्षा में पहले ही दिन १७७ नकल प्रकरण बने। भोपाल में ललरिया स्थित परीक्षा केंद्र में एक छात्र के पास से नकल की पर्चियां बरामद की गई। उडऩदस्ते ने छात्र के खिलाफ नकल प्रकरण का मामला दर्ज किया। मंगलवार को तृतीय भाषा का पेपर था। मंडल से मिली जानकारी के अनुसार सबसे ज्यादा नकल के प्रकरण भिण्ड जिले में बने। यहां करीब १२३ नकल प्रकरण दर्ज किए गए। जबकि देवास में ९, रायसेन व राजगढ़ में ७-७, मुरैना व श्योपुर में ६-६, बुरहानपुर में ४, बालाघाट, सीधी, सागर, दमोह में २-२ और सीहोर, बैतूल, जबलपुर, उमरिया, शहडोल, सिंगरौली, छतरपुर, उज्जैन में एक-एक नकल के प्रकरण बने हैं।

अफजल गुरु के अवशेष मांगना देशद्रोह : जीतू


भोपाल। कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने अफजल गुरु के अवशेष मांगने पर भाजपा और पीडीपी के नेताओं को आड़े हाथों लिया है। पटवारी ने कहा है कि यह देशद्रोह है। उन्होंने कहा कि भाजपा की भी दोगली नीति इस बयान के बाद उजागर हो गई है। भाजपा कश्मीर में धारा 370 हटाने की बात करती थी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी कहते थे कि पाकिस्तान को उसकी ही भाषा में जवाब दिया जाएगा। पीडीपी कभी भाजपा को देशद्रोही कहती थी आज भाजपा उसी के साथ खड़ी हुई है। पटवारी ने कहा कि आतंकी के अवशेष मांगना और आतंकवादियों को महिमा मंडित करना देशद्रोह की श्रेणी में आता है। इससे देश में आतंकियों के होसलें भी बढ़ते हैं। पटवारी ने कहा कि भाजपा और पीडीपी की सोच से साबित होता है कि इन्होंने पाकिस्तान और आतंकवादियों के सामने समर्पण कर दिया है।

70 डलिया मावा जब्त, ट्रक चालक फरार


भोपाल। होली पर मिठाई दुकानों में सप्लाई होने वाले मिलावटी मेवे की खेप बढ़ गई है। इसके मद्देनजर की गई जांच में पुलिस को मंगलवार को  फिर एक ट्रक से 70 डलिया मावा मिला है। इसे कब्जे में लेकर सेंपल लिए जा रहे हैं। वहीं एक अन्य ट्रक चालक माल सहित भागने में कामयाब हो गया।  अपर जिला मजिस्ट्रेट बीएस जामोद ने बताया कि मंगलवार सुबह ग्वालियर के मोर बाजार से भोपाल आ रहे दो ट्रकों को रोकने की कोशिश सूखी सेवनिया पुलिस ने की। इसमें से एक ट्रक चालक तो भाग निकला, जबकि दूसरा ट्रक क्रमांक एमपी 07/जीए/4115 पकड़ा गया। इस ट्रक से 70 डलिया मावा जब्त किया गया है, जिसकी जांच खाद्य सुरक्षा विभाग के अमले द्वारा की जा रही है। इनके सैंपल जांच के लिए भेजे जाएंगे। गौरतलब है कि तीन दिन पहले भी 38 डलिया मावा और 7 पेटी पनीर सूखी सेवनिया थाने की पुलिस ने जब्त किए थे। मिलावट की आशंका में इसके सेंपल जांच के लिए भेजे गए हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गोद लेंगे मध्यप्रदेश के 200 गांव


- सीहोर, शाजापुर, उज्जैन और आगर-मालवा के गांवों की सूची सीएम के पास पहुंची

भोपाल । मध्यप्रदेश के 200 हरिजन बहुल गांवों में जल्द ही शहर जैसी सुविधाएं होंगी। ये संभव होगा इन गांवों को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा गोद लेने से। प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर मप्र में आदिवासी बहुल 200 गांवों को गोद लेकर आदर्श गांव बनाने की इच्छा जाहिर की है। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ने प्रधानमंत्री आदर्श ग्रामों के लिए सीहोर, शाजापुर, उज्जैन और आगर-मालवा के 200 एससी बहुल गांवों की सूची बनाकर मुख्यमंत्री को भेज दी है। मंजूरी मिलते ही सूची केन्द्र को भेज दी जाएगी। इन गांवों में चमचमाती सड़कें, शुद्ध पेयजल, स्कूल और ग्राम आरोग्य केन्द्र जैसी सुविधाएं होंगी। अभी प्रदेश के गांवों को बेहतर बनाने केन्द्र की 31 और राज्य की 15 योजनाएं हैं। मोदी के इन आदर्श गांवों को इन योजनाओं के लाभ के साथ ही केन्द्र से 20-20 लाख रुपए और राज्य से 5-5 लाख रुपए मिलेंगे। केन्द्र से पैसा मिलने के बाद इन गांवों को पूर्ण रूप से आदर्श बनाने की जिम्मेदारी राज्य सरकार की होगी। आदर्श गांव की जमीनी हकीकत जानने केन्द्रीय अधिकारियों की टीम इनका औचक निरीक्षण भी करेगी।

मोदी के गांवों में इन पर होगा फोकस
1. इन्फ्रास्ट्रक्चर - गांवों को मुख्य सड़क से जोड़ा जाएगा। हर घर में शुद्ध पेयजल पहुंचाने की व्यवस्था होगी। सभी घरों में बिजली कनेक्शन होगा। आंतरिक सड़कें पक्की होंगी। पर्याप्त संचार सुविधाएं जैसे पोस्ट ऑफिस, टेलीफोन और संभव हो तो इंटरनेट भी। बैंकिंग सुविधाएं, जिसमें मोबाइल बैकिंग आदि शामिल हैं।
2. स्वच्छता एवं पर्यावरण - शौचालय, जल-मल निकासी की सुविधा। पौधारोपण, वाटर हार्वेस्टिंग और ग्रामीण जल संरचना का रख रखाव होगा। साथ ही सौर ऊर्जा इसमें विशेष रूप से बायो गैस, सौर ऊर्जा और पवन ऊर्जा शामिल हैं। धुंआ रहित चूल्हों का उपयोग होगा।
3. सामाजिक अधोसंरचना - आंगनवाड़ी सेंटर, स्कूल, स्वास्थ्य केन्द्र, पंचायत और सामुदायिक भवन के लिए अलग-अलग इमारत। बच्चों के लिए प्ले ग्राउंड। शत-प्रतिशत संस्थागत डिलेवरी की व्यवस्था हो। ग्राम सभा, ग्राम पंचायत, महिला स्वरोजगार, स्वयं सहायता समूह आदि सक्रिय हों।
4. जीवन स्तर - युवाओं को गांवों में ही पर्याप्त रोजगार के अवसर। कौशल उन्न्यन के साथ ही नई तकनीक के आधार पर प्रशिक्षण। विशेष रूप से खेती, पशुपालन और मछली पालन जैसे व्यवसाय खोलने के लिए। फसल का पर्याप्त पैसा मिले इसकी व्यवस्था होगी।

पंचायत आयुक्त करेंगे मॉनीटरिंग
मोदी के आदर्श 200 गांवों में तय मापदंड के अनुसार इन्फ्रास्ट्रक्चर, जल-मल निकासी और पर्यावरण, सामाजिक अधोसंरचना विकास और ग्रामीणों के जीवन स्तर को बेहतर बनाने की दिशा में ठीक ढंग से काम हो रहा है कि नहीं। इसे देखने की जिम्मेदारी पंचायत आयुक्त की होगी। वे समय-समय पर भोपाल से टीम भेजकर गांवों की रिपोर्ट भी तैयार करवाएंगे।

इनका कहना है
सीएम को भेज दी सूची
प्रधानमंत्री मप्र के आदिवासी बहुल 200 गांवों को गोद लेकर उन्हें आदर्श गांव बनाना चाहते हैं। हमने चार जिलों के 200 गांवों की सूची तैयार कर मुख्यमंत्री को भेज दी है। उनकी हरी झंडी मिलते ही इसे केन्द्र को भेज दिया जाएगा।
- अरुण शर्मा, अपर मुख्य सचिव
पंचायत एवं ग्रामीण विकास

कांग्रेस का 23 से 31 मार्च तक गांव चलो, घर चलो प्रोग्राम


भोपाल। प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय में आज जिला अध्यक्षों की एक बैठक हुई जिसमें प्रदेश कांग्रेस प्रभारी और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव मोहन प्रकाश ने जिलों को गांव चलो, घर चलो प्रोग्राम दिया है। यह प्रोग्राम 23 से 31 मार्च तक जिलों के दूरस्थ ग्रामों तक चलाया जाएगा और इस बीच जिला मुख्यालय पर एक बड़ा प्रोग्राम भी होगा। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में आयोजित इस बैठक में गांव चलो, घर चलो प्रोग्राम के तहत जिला इकाइयों को कहा गया कि वे लोगों तक राज्य के व्यापम घोटाले से लेकर केंद्र के भूमि अधिग्रहण कानून की जनविरोधी मुद्दों को पहुंचाएं। इस प्रोग्राम के तहत जिलों में एक बड़े कार्यक्रम में प्रदेश के बड़े पदाधिकारी भी जगह-जगह पहुंचेंगे। बैठक में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव, कांतिलाल भूरिया, सज्जन सिंह वर्मा सहित कई अन्य नेता भी शामिल हुए।

शहरों में 15 और गांव में 30 मिनट में पहुंचेंगी पुलिस


- कैबिनेट ने बढ़ाया डायल 100 का बजट

भोपाल। मंगलवार को हुई शिवराज ?कैबिनेट की बैठक में कई अहम फैसले लिए गए। इसके तहत प्रदेश की नई खनिज नीति को मंजूरी मिल गई है। वहीं 18 महत्वपूर्ण मुद्दों पर भी फैसला लिया गया। इसके तहत कैबिनेट में डायल 100 स्कीम का बजट भी बढ़ाया गया। इसके अनुसार अब शहरों में 15 मिनट, जबकि गांव में 30 मिनट में पुलिस लोगों की सहायता के लिए पहुंच जाया करेगी। इसके साथ ही संविदा शाला शिक्षा भर्ती परीक्षा में संशोधन किया गया है, अब अतिथि शिक्षकों को भी बोनस अंक दिए जाने का प्रावधान होगा।

रेत खनन की नई नीति को मंजूरी

सरकार हर साल रेत की कीमतों में 5 प्रतिशत तक की वृद्धि करेगी। इस तरह आगामी पांच साल तक लगातार 5 फीसदी की दर से रेत महंगी होती जाएगी। नई रेत खनन नीति में रेत के ठेके आवंटन किए जाने की शर्तें कड़ी की गई हैं। इसके अनुसार यदि ठेकेदार जिस मात्रा में रेत खनन करने का ठेका लेता है, उसे उतनी रेत का खनन करना ही होगा। अन्यथा उसका ठेका निरस्त कर दिया जाएगा।

नहीं होगी रेत की कमी
कैबिनेट बैठक में हुए फैसले के दौरान सरकार ने जानकारी दी कि, रेत खनन का नया एरिया तलाश लिया गया है। लगभग 3000 हैक्टेयर के इस क्षेत्र से जल्द ही खनन का कार्य शुरू किया जाएगा। नई रेत खनन नीति में यह प्रावधान बाजार में रेत की उपलब्धता बनी रहने की वजह से किया जा रहा है। इसके अलावा माइनिंग कॉर्पोरेशन की रेत खनन में चली रही मोनोपॉली खत्म करने का भी नई नीति में प्रावधान है, अब ठेकेदार सीधे रेत की खदान ठेके पर ले सकेंगे। अभी तक प्रदेश में जहां भी रेत का खनन होता है, वहां सिर्फ खनिज विकास निगम को ही ठेके दिए जाते हैं जिससे वह 280 रुपए प्रति क्यूबिक मीटर के हिसाब से रेत बेचता है, जिसकी शहर तक आने में कीमत बढ़ जाती है।

कोयले पर मिलेगी पहले से अधिक रायल्टी

केंद्र सरकार ने खनिज की नई नीति बनाई है। इसके ही अनुरुप प्रदेश सरकार ने भी अपनी खनिज नीति तैयार की है। केंद्र की नई खनिज नीति से प्रदेश को कोयले पर पहले से अब काफी अधिक रायल्टी मिलेगी। उम्मीद जताई जा रही है कि कोयले की रायल्टी से प्रदेश को पांच हजार करोड़ से अधिक की राशि मिलेगी। इसी तरह नई खनिज नीति में गौण खनिज के नीलामी की अलग से व्यवस्था के प्रावधान भी किए जाएंगें। इतना ही नहीं खदानों के पट्टों की लीज बढ़ाने के प्रस्ताव को भी हरी झंडी दे दी गई।

मीराज में करोड़ों की टैक्स चोरी पकड़ी


मामला मूलचंदानी बंधु की फर्मों पर छापा, कार्रवाई जारी

भोपाल। कमर्शियल टैक्स विभाग ने सोमवार को विदेशी गिफ्ट आइटम और क्रॉकरी विक्रेता मूलचंदानी ब्रदर्स के संत हिरदाराम नगर और होशंगाबाद रोड स्थित शोरूम मीराज में दो करोड़ रुपए की टैक्स चोरी पकड़ी थी। जानकारी के अनुसार मूलचंदानी बंधु टैक्स चोरी करने के लिए हर साल कारोबार में नुकसान दिखा रहे थे। मंगलवार को भी मीराज पर छापे की कार्रवाई जारी रही। कार्रवाई के दूसरे दिन भी करोड़ों के टैक्स चोरी करने की बात सामने आ रही है। जांच के दौरान करीब 20 ट्रंक दस्तावेज बरामद किए गए हैं, जिनकी जांच की जा रही है। छापे की कार्रवाई मीरा मेटल्स, चिमनलाल एंड संस और चिमन इंपैक्स में भी हुई।

जाने-माने कारोबारी

मीराज मॉल के संचालक जवाहर मूलचंदानी इससे पहले बर्तन के थोक व्यापारी थे। सालों से मुख्यमार्ग पर उनकी बर्तन की दुकानें बनी हुई थी। संतनगर में जाने-माने बर्तन के व्यापारियों में शामिल मूलचंदानी बंधु ने करीब डेढ़ साल पहले मीराज मॉल खोला था। जानकारी के मुताबिक मीराज की एक ब्रांच आशिमा मॉल में भी बनी हुई है। जिसका शुभारंभ विगत वर्ष ही हुआ है। उपनगर में भी मीराज मॉल सबसे बड़ा मॉल है।

बिक्री में दिखा रहे थे लगातार कमी
सूत्रों के अनुसार, मूलचंदानी पिछले तीन सालों से बिक्री में लगातार कमी दिखा रहे थे। कमर्शियल टैक्स आयुक्त राघवेंद्र सिंह ने 72 सदस्यीय टीम गठित कर एक साथ सोमवार को दोपहर तीन बजे छापे की कार्रवाई की। छह घंटे जांच के बाद सभी प्रतिष्ठान सील कर दिए गए। जांच मंगलवार को भी जारी रही।

चोरी के सबूत आए सामने

सोमवार को जांच के दौरान विभाग के प्रमुख सचिव मनोज श्रीवास्तव से इस बारे में बातचीत की गई थी। उन्होंने बताया था कि, हां मूलचंदानी ब्रदर्स के यहां छापे मारे गए हैं। प्रारंभिक जांच में बड़े पैमाने पर कर चोरी के सबूत सामने आए हैं।

इनका कहना है
हां, हमारे प्रतिष्ठानों पर कमर्शियल टैक्स की कार्रवाई हुई है। ये सारे हमारे परिवार के हैं। कार्रवाई में क्या मिला, इस बारे में ज्यादा जानकारी विभाग ही दे सकता है।
-जवाहर मूलचंदानी, पार्टनर, मूलचंदानी ब्रदर्स

गोपाल भार्गव के बेटे-बेटी की शादी 22 अप्रैल को


- पीएम को भेजेंगे आमंत्रण, सामूहिक विवाह में होगी शादी

भोपाल। प्रदेश के सहकारिता मंत्री गोपाल भार्गव अपने बेटे और बेटी की शादी सामूहिक विवाह सम्मेलन में करेंगे। दोनों का विवाह उनके द्वारा आयोजित किए जाने वाले सामूहिक विवाह सम्मेलन में ही होगा। विवाह सम्मेलन 22 अप्रैल को आयोजित किया जाएगा। इसमें शामिल होने के लिए सभी केंद्रीय मंत्रियों एवं पीएम नरेंद्र मोदी को भी न्यौता भेजा जाएगा। जानकारी के मुताबिक मंत्री गोपाल भार्गव के बेटे अभिषेक भार्गव और बेटी डॉ. अवंतिका की शादी 22 अप्रैल को होने वाली है। बेहद ही सादगी से होने वाली इस शादी में कई बड़े नेताओं के शामिल होने की संभावना जताई जा रही है। इसका आयोजन सामूहिक विवाह सम्मेलन में होगा।

14 साल से करा रहे हैं विवाह सम्मेलन
गोपाल भार्गव पिछले 14 साल से गढ़ाकोटा में सामूहिक विवाह सम्मेलन का आयोजन करते आ रहे हैं। इस वर्ष अप्रैल माह में आयोजित होने वाले इस समारोह में वे अपने बेटे-बेटी का भी विवाह कराएंगे।

गंजबासौदा के आचार्य परिवार में होगा आयोजन

अभिषेक भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष हैं और उनकी शादी गंजबासौदा के आचार्य परिवार में होने जा रही है। आचार्य पुलिस से रिटायर्ड कर्मचारी हैं और उनकी बेटी शिल्पी से अभिषेक की शादी होगी। वहीं बेटी डॉ. अवंतिका की शादी नितिन शर्मा से होने जा रही है जो अमेरिका रहते हैं। नितिन मूलत: हिमाचल के रहने वाले हैं।

राष्ट्रपति से मुलाकात कर मप्र के राज्यपाल रामनरेश यादव लौटे भोपाल


भोपाल। राज्यपाल रामनरेश यादव मंगलवार शाम 4.15 बजे भोपाल लौट आए हैं। भोपाल लौटने से पहले सुबह लगभग 8.30 बजे उन्होंने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाकात कर कई अहम मुद्दों पर चर्चा की। हालांकि उनके बीच हुई बातचीत बेहद गोप
नीय बताई जा रही है। गौरतलब है कि 26 फरवरी से राज्यपाल यादव दिल्ली के मप्र भवन में डेरा डाल कर बैठे थे और लगातार राष्ट्रपति से मिलने का वक्त मांगा रहे थे। व्यापमं घोटाले में राज्यपाल के खिलाफ एफआईआर होने के बाद उनके इस्तीफे को लेकर असमंजस अब भी बना हुआ है। व्यापमं मामले में एफआईआर दर्ज होने के बाद राज्यपाल यादव की दिल्ली यात्रा काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही थी। दिल्ली में इतने दिनों तक रहने के बावजूद राज्यपाल रामनरेश यादव ने किसी से मुलाकात नहीं की, यहां तक कि मीडिया से भी उन्होंने दूरी बनाए रखी थी। हालांकि, पहले से तय कार्यक्रम के मुताबिक राज्यपाल यादव को शनिवार शाम (28 फरवरी) को ही दिल्ली से भोपाल लौटना था, लेकिन राष्ट्रपति से मुलाकात के बगैर वे लौटना नहीं चाह रहे थे।

दसवीं की छात्रा ने केरोसिन डालकर आग लगा ली


- माता-पिता के बीच चल रहे विवाद से थी परेशान

भोपाल। बैरसिया के सिलावटपुरा मोहल्ले में सोमवार शाम दसवीं कक्षा की एक छात्रा ने केरोसिन छिड़ककर खुद को आग के हवाले कर दिया। गंभीर हालत में उसे हमीदिया अस्पताल के बर्न वार्ड में भर्ती कराया गया है। घटना का कारण माता-पिता के बीच चलने वाला विवाद बताया जा रहा है। पुलिस ने छात्रा के मरणासन्न बयान दर्ज कर लिए हैं।
पुलिस के मुताबिक सिलावट मोहल्ला बैरसिया निवासी डालचंद शाक्य पेशे से मिस्त्री है। उसकी पत्नी लक्ष्मी शाक्य बैरसिया जिला अस्पताल में काम करती है। उनके चार बच्चे हैं। करीब छह माह पूर्व लक्ष्मी ने अपने पति के खिलाफ दहेज प्रताडऩा का मुकदमा दर्ज कराया है। तभी से दोनों के बीच विवाद चल रहा है और पति-पत्नी अलग-अलग रहने लगे हैं। लक्ष्मी अपने चार बच्चों के साथ बैरसिया में ही रहती है जबकि डालचंद भोपाल में आकर रहने लगा है। शाक्य दंपति की बड़ी पुत्री रोशनी शाक्य (17) दसवीं कक्षा की छात्रा है। सोमवार शाम करीब पांच बजे जब मां लक्ष्मी अपने काम पर गई हुई थी, रोशनी ने अपने कमरे में केरोसिन छिड़ककर खुद को फूंक लिया। शोर सुनकर पड़ोसी मौके पर पहुंचे और करीब 65 फीसदी झुलसी हालत में अस्पताल में भर्ती कराया।

नहीं बताया कारण

पुलिस का कहना है कि छात्रा ने अपने मरणासन्न बयान में अपनी मर्जी से आग लगाने की बात कही है लेकिन कारण नहीं बता पा रही है। संभावना व्यक्त की जा रही है कि पति-पत्नी के बच चल रहे विवाद के कारण वह तनाव में रहती थी। पुलिस इस बिंदु पर भी जांच कर रही है कि कहीं पढ़ाई व परीक्षा के तनाव के कारण तो छात्रा ने यह कदम नहीं उठाया है।






















डैम में मिली लापता युवक की लाश


- तीन दिन से बिना बताए घर से था गायब

भोपाल। कलियासोत डैम में मंगलवार दोपहर एक युवक की लाश मिलने से सनसनी फैल गई। युवक पिछले तीन दिन से घर से लापता था। लाश दो दिन पुरानी बताई जा रही है। पुलिस का अनुमान है कि युवक तालाब किनारे बैठकर शराब पी रहा होगा और संतुलन बिगडऩे से पानी में जा गिरा। शरीर पर किसी तरह के चोट के निशान नहीं होने से पुलिस ने हत्या की आशंका से इनकार किया है।
कमलानगर पुलिस के मुताबिक कमलानगर निवासी गणेश प्रजापति नामक एक युवक मंगलवार सुबह करीब पौने 12 बजे थाने के पीछे इमली वाली मजार के पास कलियासोत डैम में मछली मारने गया था। पानी में बंसी का कांटा डालकर वह मछली फंसने का इंतजार करने लगा। तभी अचानक उसकी नजर बंसी से थोड़ी दूर पानी में उतराते एक सिर पर पड़ी। डर के मारे वह वहां से भाग खड़ा हुआ और पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही गोताखोरों के साथ पुलिस मौके पर पहुंची और पानी से लाश को बाहर निकाल लिया। लाश दो दिन पुरानी दिख रही थी। मृतक के कपड़ों से पुलिस को एक परची मिली जिसके आधार पर एक मोबाइल नंबर पर कॉल किया गया। कॉल रिसीव करने वाला युवक तत्काल घटनास्थल पर पहुंचा और मृतक की शिनाख्त राजीव नगर कोटरा निवासी राजेश सपेरा पुत्र मांगीलाल सपेरा (20) के रूप में की। सूचना मिलते ही मृतक के परिजन भी मौके पर पहुंच गए थे। पुलिस ने बताया कि मृतक मेहनत-मजदूरी करता था और शराब पीने का आदी भी था। पुलिस को घटनास्थल से एक शराब की बोतल भी मिली है। अनुमान लगाया जा रहा है कि शराब के नशे में वह पानी में गिर गया होगा। परिजनों का कहना है कि अक्सर वह घर से गायब हो जाता था इसलिए उसकी गुमशुदगी दर्ज नहीं कराई गई थी। पुलिस का कहना कि शार्ट पीएम रिपोर्ट से खुलासा हो सकेगा कि राजेश की मौत किन कारणों के चलते हुई है।

हंगामें के बीच संपन्न हुए, न्यूमार्केट व्यापारी महासंघ के चुनाव


- 92 प्रतिशत हुई वोटिंग, मतदान स्थल के बाहर बनी रही गहमागहमी

भोपाल। राजधानी में मंगलवार को न्यू मार्केट व्यापारी महासंघ के चुनाव हंगामें के बीच संपन्न हुए। सुबह से ही मतदान स्थल के बाहर व्यापारियों को जमघट लगना शुरू हो गया देखते ही देखते सैकड़ों की तदाद में लोग मौजूद रहे। मतदान सुबह ठीक 11 बजे प्रारंभ हुआ, जो शाम तक चला। इससे पहले उम्मीदवारों के बीच मतदान स्थल के आस- पास एजेंट बिठाने को लेकर एक बार हंगामें की स्थिति भी निर्मित हुई। लेकिन कुछ देर बाद मामला शांत हो गया। दोपहर करीब 1 बजे एक बार फिर से पदाधिकारियों और पुलिस के बीच तीखी नौंक-झौंक हुई। मौके पर मौजूद पुलिस बल ने बल प्रयोग करते हुए व्यापारियों और पदाधिकारियों को मतदान स्थल के बाहर कर दिया। मतदान स्थल के बाहर सभी दलों के लोग अपने - अपने उम्मीदवार के पक्ष में प्रचार करते देखे गए। गुपचुप तरीके से उम्मीदवार मतदाताओं से अपने पक्ष में मतदान करने की अपील करते देखे गए। मालूम हो कि हर तीन साल में पदाधिकारियों के चुनाव होतेे हैं। इस बार कुल मतदान 92 प्रतिशत रहा जो पिछले साल के मुकाबले 4 प्रतिशत कम दर्ज किया गया। मतगणना स्थल के बाहर बड़ी स्क्रिन लगाई गई हैं। देर रात तक परिणाम भी जारी होने की संभावना है। मतगणना स्थल के बाहर लोगों का जमावाड़ा लगा हुआ था। अब सभी की निगाहें परिणामों पर लगी हुई हैं।
0 ग्राहकों को हुई खासी परेशानी- न्यू मार्केट में मतदान के चलते ग्राहकों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। दरअसल मंगलवार को टॉप इन टाउन के पास मतदान स्थल बनाया गया था। इस कारण लोगों को खरीददारी करने में परेशानी का सामना करना पड़ा।

छठवीं कक्षा की छात्रा का अपहरण


भोपाल। गांधी नगर थाना क्षेत्र के प्रताप वार्ड से छठवीं कक्षा की एक छात्रा के अपहरण का मामला सामने आया है। पुलिस ने इस मामले में प्रकरण दर्ज कर छात्रा की खोजबीन शुरू कर दी है। पुलिस के मुताबिक प्रताप वार्ड गांधी नगर निवासी राशिद खान की साढ़े 12 वर्षीय पुत्री फिजा खान छठवीं कक्षा की छात्रा है। विगत 26 फरवरी की रात करीब साढ़े 8 बजे वह बिना बताए घर से अचानक गायब हो गई। हर संभव ठिकानों पर तलाश करने के बाद मां रजिया सुल्तान ने बच्ची की गुमशुदगी थाने में दर्ज कराई थी। विवेचना के दौरान परिजनों की आशंका के चलते पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ अपहरण का प्रकरण दर्ज किया है। बालिका के अपहरण की सूचना से इलाके में सनसनी फैली हुई है।

विजीलेंस टीम ने पकड़ी बिजली चोरी


भोपाल ।
शहर वृत्त भोपाल अंतर्गत विजलेंस दल (उत्तर-पूर्व) द्वारा शहर के विभिन्न क्षेत्रों में कनेक्शनोंं की जॉच के दौरान 4 विद्युत चोरियॉं पकड़ी गई जिनसे रुपये 5.49 लाख की बिलिंग की गई।  राजधानी के अहमदाबाद पैलेस कोहेफिजा में स्थित फ ॉल्कन क्रेस्ट पब्लिक स्कूल में उपयोगकर्ता जाहिदा बेगम द्वारा मीटर बायपास कर बिजली चोरी की गई एवं स्कूल हेतु 5 किलोवॉट का विद्युत भार चलाया गया । प्रकरण में रु. 2.07 लाख की बिलिंग की गई। इसी प्रकार छोला विश्राम घाट के पास स्थित म.नं.-778 करीम बख्श कॉलोनी में उपयोगकर्ता सूफि या बी एवं उनके 2 किरायेदारों द्वारा निकट के पोल से सीधे केबिल डालकर बिजली चोरी की गई एवं 1 गीजर सहित 7.4 किलोवाट का विद्युत भार चलाया गया। इनके प्रकरण में रू. 1.05 लाख की बिलिंग की गई।
कोहेफि जा क्षेत्र में सैफि या कॉलेज गेट के पास मकान नं.-50 में उपयोगकर्ता सैय्यद शोएब अली के मीटर में छेड़छाड़ कर बिजली चोरी किया जाना पाया गया। इनके द्वारा 1 ए.सी. व एक गीजर सहित 8.4 किलोवाट का विद्युत भार चलाया गया । उक्त प्रकरण में रुपये 1.28 लाख की बिलिंग की गई। इसी प्रकार इन्द्रपुरी क्षेत्र में सेक्टर-सी स्थित मोहनी व्यू अपार्टमेंट, फ्लेट क्र-1, निवासी लक्ष्मी रानी के मीटर में छेद कर छेडख़ानी की गई एवं बिजली चोरी कर 1 ए.सी., 1 गीजर सहित 9 किलोवाट के विद्युत भार का उपयोग किया गया । उक्त प्रकरण में रुपये 1.19 लाख की बिलिंग की गई।

मिनीबस की टक्कर से पिता की मौत, दो बच्चे गंभीर


- बच्चों को घुमाने ले जा रहा था बाइक सवार पिता

भोपाल। शाहजहांनाबाद थाना क्षेत्र स्थित तीन मोहरों के पास एक तेज रफ्तार मिनीबस ने विपरीत दिशा से आ रही मोटरसाइकिल को जोरदार टक्कर मार दी। हादसे में बाइक सवार युवक समेत उनके दो पुत्र भी गंभीर रूप से घायल हो गए थे। गंभीर हालत में पिता को चिरायु अस्पताल और बच्चों को एलबीएस अस्पताल में भर्ती कराया गया था। मंगलवार तड़के इलाज के दौरान युवक की मौत हो गई। पुलिस ने आरोपी चालक के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर खोजबीन शुरू कर दी है। पुलिस के मुताबिक कांग्रेस नगर टीला जमालपुरा निवासी मुमताज अली (30) काजीकैम्प स्थित एक होटल में कारीगर का काम करते थे। विगत एक मार्च की शाम करीब पांच बजे वह अपने दो पुत्रों मुजीब (12) व हसीब (10) को अपनी मोटरसाइकिल से घुमाने ले जा रहे थे। पड़ोस का एक बच्चा भी उनके साथ था। बताया जाता है कि जैसे ही वह एलबीएस अस्पताल के पास तीन मोहरों के पास पहुंचे, विपरीत दिशा से आ रही तेज रफ्तार मिनीबस के चालक ने लापरवाही से गाड़ी चलाते हुए उन्हें जोरदार टक्कर मार दी और गंभीर रूप से घायल मुमताज व बच्चों को वहीं तड़पता छोड़कर मिनीबस लेकर फरार हो गया। हादसे में मुमताज समेत उनके दोनों पुत्र मुजीब व हसीब गंभीर रूप से घायल हो गए।
बच्चों की हालत में सुधार
सोमवार-मंगलवार की दरमियानी रात करीब साढ़े तीन बजे मुमताज ने चिरायु अस्पताल में दम तोड़ दिया, जबकि बच्चों की हालत में सुधार आया है। पुलिस ने आरोपी चालक के खिलाफ गैर-इरादतन हत्या का प्रकरण दर्ज कर खोजबीन शुरू कर दी है। घटनास्थल पर मौजूद लोगों के बताए कि नंबर के आधार पर मिनीबस की तलाश की जा रही है।

पता ही नहीं चला कब हो गई दो लाख की लूट


- जुमेराती में दिनदहाड़े दिल्ली के व्यापारी के साथ हुई लूट संदिग्ध

भोपाल। दिल्ली के पिचकारी व्यापारी के साथ भीड़ भरे जुमेराती इलाके में दिनदहाड़े दो लाख रुपए की लूट की कहानी फिलहाल पुलिस के गले नहीं उतर रही है। पुलिस ने घटनास्थल पर मौजूद करीब एक दर्जन स्थानीय दुकानदारों के बयान दर्ज किए हैं लेकिन किसी ने भी लूट की वारदात होने की पुष्टि नहीं की है।
कोतवाली पुलिस के मुताबिक सदर बाजार नई दिल्ली निवासी राजकुमार सिंह (43) पिचकारी के थोक व्यापारी हैं। सोमवार सुबह वह दिल्ली से भोपाल आए और बैरागढ़ के दो व्यापारियों से क्रमश: डेढ़ लाख रुपए व 50 हजार रुपए की वसूली की। वसूली करने के बाद वह ललवानी प्रेस रोड स्थित थोक बाजार आ गए और वहां से एक स्थानीय व्यापारी की स्कूटी लेकर जुमेराती की ओर निकल गए। जुमेराती गेट के पास वह जाम में फंस गए। इसी दौरान एक बदमाश उनका नोटों भरा बैग झपटकर पैदल ही भाग निकला। पुलिस अधीक्षक अरविंद सक्सेना ने बताया कि लूट का प्रकरण दर्ज करने के बाद पुलिस ने जुमेराती गेट के पास टार्च, ताला-चाबी आदि करीब एक दर्जन दुकानदारों के बयान दर्ज किए लेकिन किसी ने भी लूट की वारदात होते हुए नहीं देखी। दुकानदारों का कहना है कि उन्होंने तो फरियादी की चीख-पुकार भी सुनाई नहीं दी। इतनी भीड़ भरे इलाके से कोई बदमाश नोटों भरा बैग झपटकर कैसे फरार हो सकता है, समझ से परे है।

नपा बैरसिया का सब इंजीनियर रिश्वत लेते गिरफ्तार


-नामांतरण के लिए भटका रहा था चार माह से

भोपाल। लोकायुक्त पुलिस ने मंगलवार को नगरपालिका परिषद बैरसिया में पदस्थ सब इंजीनियर शशिकांत पवार को फरियादी की दुकान पर ही 1500 रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया। आरोपी सब इंजीनियर मकान के नामांतरण के लिए तीन हजार रुपए की मांगकर चार माह से टहला रहा था। लोकायुक्त एसपी वीरेंद्र सिंह ने बताया कि बैरसिया में रहने वाला जफर खान मकान का नामांतरण अपनी पत्नी के नाम से कराना चाह रहा था, इसके लिए उसने चार माह पहले नगर पालिका परिषद बैरसिया में आवेदन किया था, लेकिन परिषद में अस्थाई रूप से पदस्थ सब इंजीनियर शशिकांत पवार उससे तीन हजार रुपए की अतिरिक्त मांग कर रहा था। इसके लिए सब इंजीनियर, जफर को काफी दिनों से टहला रहा था। परेशान होकर जफर ने इसकी शिकायत लोकायुक्त पुलिस से की। योजनाबद्ध तरीके से जफर ने बैरसिया रोड स्थित अपनी साइकिल की दुकान पर ही सब इंजीनियर को बुला लिया और पुलिस के सामने ही 1500 रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार करा दिया। हालांकि बाद में सब इंजीनियर ने जमानत करा ली है।

डीआरएम चौधरी को दी विदाई


भोपाल
। भोपाल रेल मंडल के निवर्तमान मंडल रेल प्रबंधक राजीव चौधरी की स्पोटर््स खिलाडिय़ों द्वारा मंगलवार को मंडल कार्यालय में भावभिनी विदाई दी गई तथा नवागत डीआरएम आलोक कुमार का स्वागत किया गया।
चौधरी द्वारा स्पोर्ट्स क्षेत्र में दिए योगदान को सराहा। भोपाल रेल मंडल में स्पोर्ट्स विभाग द्वारा निवर्तमान डीआरएम राजीव चौधरी द्वारा अपने कार्यकाल के दौरान दिए गए अभूतपूर्व सहयोग की सराहना करते हुए उनके प्रति आभार व्यक्त किया । इस अवसर पर स्पोर्ट्स अधिकारी अजय कुमार सिन्हा सहित कई रेल अधिकारी मौजूद थे । स्पोर्ट्स खिलाडिय़ों में अखलाक अहमद, कमल चावला, जेपी यादव, मो. साकिब, माजिद कुरैशी सहित कई खिलाडिय़ों ने श्री चौधरी को विदाई के अवसर पर उनका स्वागत करते हुए नए डीआरएम आलोक कुमार से उम्मीद जताई कि श्री कुमार भी अपने कार्यकाल में स्पोर्ट्स को बढ़ावा देंगे ।

तोडफ़ोड़ कर दो कारों को किया आग के हवाले


भोपाल। कमलानगर थाना क्षेत्र में पिछले छह माह से चला आ रहीं वाहनों में तोडफ़ोड़ व आगजनी की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। रविवार-सोमवार की दरमियानी रात भी अज्ञात बदमाशों ने दो कारों में तोडफ़ोड़ कर आग लगा दी। पुलिस के अनुसार विपिन गुप्ता ने पुलिस को शिकायती आवेदन दिया था कि रविवार-सोमवार की दरमियानी रात उनके घर के सामने खड़ी उनकी कार में किसी बदमाश ने आग लगा दी। जब वह बाहर पहुंचे तो उनकी कार समेत पड़ोसी की कार जल रही थी। आनन-फानन में आग पर काबू पाया गया। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने आगजनी का मामला दर्ज कर लिया है।

श्रीलंका के जमातियों पर प्राणघातक हमला




- पुलिस से किया आरोपी का गिरफ्तार, आरोपी मानसिक विक्षिप्त

भोपाल/मंडीदीप। मंगलवार दोपहर करीब एक बजे मंडीदीप के मंगलावारा बाजार में उस समय सनसनी फैल गई गई जब एक अधेड़ व्यक्ति ने फल खरीद रहे तब्लीगी जमातियों पर हमला कर दिया। कुछ लोगों ने हिम्मत दिखाते हुए हमला करने वाले व्यक्ति को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया। बताया जाता है कि हमले में घायल दो व्यक्ति श्रीलंका से तब्लीगी जमात में शामिल थे। मुस्लिम समुदाय के लोगों सहित हिन्दु समाज के लोगों ने भी इस घटना की निंदा की है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धनंजय शाह ने पत्रकरों को बताया कि श्रीलंका से करीब 15 मुस्लिम धर्म विचारकों का दल मंडीदीप आया हुआ है। इस तब्लीगी जमात में शामिल सलीम और याासीन मंगलवारा बाजार में एक ठेले पर फल खरीद रहे थे कि पीछे से वार्ड क्रमांक दस के निवासी रामदीन पुत्र हजारी 55 साल ने डंडे से हमला कर दिया। जिससे यासीन एवं सलीम को गहरी चोंट आई है, वहीं बीच बचाव करने पहुंचे जईद को भी चोंट लगी है। पुलिस के अनुसार आरोपी रामदीन मानसिक रूप से अस्वस्थ है तथा आए दिन अपने परिवार सहित आसपास के लोगों को परेशान करता रहता है।
उक्त घटना की खबर मिलते ही एक समुदाय विशेष के लोग बड़ी संख्या में मंगलवारा बाजार उस नर्सिंग होम के सामने एकत्र हो गए जहां उक्त जमातियों को घायल अवस्था ले जाया गया था। वहीं चिकित्सकों ने घायलों का प्राथमिक उपचार कर उन्हें भोपाल रिफर करने की सलाह समाज के लोगों को दी। जिसके बाद उन्हें भोपाल के लिए रवाना कर दिया। उक्त घटना के बाद पुलिस प्रशासन चौकन्ना हो गया। उधर घटना से नाराज एक समुदाय के कुछ लोगों ने दुकान बंद कराने का प्रयास किया तो इसी समुदाय के समझदार लोगों ने उन लोगों को शांत कर नगर में अमन शांति बनाए रखने पर जोर दिया।

घटना की एक स्वर में की निंदा

औकाफ प्रबंधक कमेटी अध्यक्ष मो. सोहेल खान, मुस्लिम त्योहर कमेटी अध्यक्ष अल्ताफ भाई,अब्दुल भाई, पार्षद अख्तर अली, इम्तियाज भाई सहित श्री हिन्दु उत्सव समिति अध्यक्ष जगदीश शर्मा,भाजपा जिलाध्यक्ष राजेन्द्र अग्रवाल,भाजपा मंडल अध्यक्ष अरविंद जैन, नपाध्यक्ष पूर्णिमा जैन ने घटना की कड़े शब्दों में निंदा की है। लगभग सभी का कहना था कि जमात में आए श्रीलंका के नागरिक हमारे अतिथि थे उनके साथ हुई वारदात अक्षम्य है।

पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा मामले के आरोपी रिमांड पर


भोपाल। व्यवसायिक परीक्षा मंडल व्यापमं द्वारा आयोजित पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा-2013 में फरार चल रहे दो फर्जी आरक्षकों मुरैना निवासी जितेन्द्र सिंह सेंगर पुत्र बीरबल सिंह और सतेन्द्र सिंह पुत्र रामपाल सिंह सेंगर को अदालत ने पूछताछ करने के लिए 7 मार्च तक पुलिस रिमांड पर एसटीएफ के सुपुर्द किए जाने के आदेश दिए हैं। एसटीएफ ने आरोपियों को सोमवार को हिरासत में लेकर मंगलवार को सीजेएम पंकज सिंह माहेश्वरी की कोर्ट में पेश कर पूछताछ करने के लिए उन्हें 7 मार्च तक पुलिस रिमांड पर दिए जाने की प्रार्थना की थी।

पीएमटी परीक्षा फर्जीवाड़ा के आरोपियों ने किया समर्पण


भोपाल। व्यापमं द्वारा आयोजित पीएमटी परीक्षा घोटाला मामले के दो आरोपियों शाहिद और रवींद्र कुमार यादव ने मंगलवार को सीजेएम पंकज सिंह माहेश्वरी की अदालत में अपने वकील के साथ उपस्थित होकर समर्पण कर दिया । अदालत ने आरोपियों को न्यायिक हिरासत में केंद्रीय जेल भेजने के आदेश दिए।

सुधीर शर्मा की जमानत याचिका खारिज


भोपाल। व्यापमं द्वारा आयोजित संविदा शाला शिक्षक वर्ग-2 परीक्षा पात्रता परीक्षा घोटाला मामले में न्यायिक हिरासत में केंद्रीय जेल में बंद खनिज कारोबारी सुधीर शर्मा की जमानत याचिका को जिला अदालत ने मंगलवार को सुनवाई के बाद मामला गंभीर प्रवृत्ति का होने से निरस्त कर दिया। एसटीएफ के विशेष न्यायाधीश रामकुमार चौबे की अदालत में जमानत याचिका पर सुनवाई के दौरान शर्मा के वकील ने अपनी बहस में अदालत के सामने दलीलें पेश करते हुए उसे मामले में निर्दोष बताते हुए जमानत पर रिहा किए जाने की प्रार्थना की थी। वहीं सरकारी वकील पीके श्रीवास्तव ने शर्मा की जमानत याचिका का विरोध करते हुए उनके अपराध को गंभीर प्रवृत्ति का बताते हुए उनकी जमानत याचिका को निरस्त करने का अनुरोध किया था। न्यायाधीश ने दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद मामला गंभीर प्रवृत्ति का होने से जमानत याचिका को निरस्त कर दिया। उल्लेखनीय है कि एसटीएफ ने व्यापमं के अन्य मामलों में केंद्रीय जेल में बंद खनिज कारोबारी सुधीर शर्मा को संविदा शाला शिक्षक वर्ग-2 परीक्षा घोटाले मामले में पूछताछ करने के लिए 28 फरवरी तक पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ की थी। रिमांड की अवधि समाप्त होने पर अदालत ने शर्मा के वापिस केंद्रीय जेल भेज दिया था।

स्वाइन फ्लू से एक घण्टे में बाप बेटे की मौत


- बचाव के नाम पर अफसरों की केवल बयान बाजी

भपाल। राजधानी में स्वाईन फ्लू का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। मंगलवार को इस बीमारी ने महज एक घण्टे में बाप और बेटी को लील लिया। दोनों की मरीजों की मौतें हमीदिया अस्पताल में हुईं। खानू गॉव निवासी हसीन कमाल 65 साल और उनकी बेटी शाजली 31 साल ने मंगलवार की शाम अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। इन दोनों मौतों के बाद राजधानी में स्वाईन फ्लू को लेकर दहशत और बढग़ई है। खासकर खानू गॉव के लोग बेहद ही खौफजदा हैं। मृतकों के परिजनों के मुताबिक हसीन कमाल पहले इस वायरस के चपेट में आए थे। इसके बाद उनकी तीमारदारी विवाहित बेटी शाजली को भी इस वायरस ने अपनी जद में ले लिया। दोनों का इलाज अस्पताल में चल रहा था। शाम 7 बजे हसीन कमाल ने दुनिया को अलविदा कह दिया। इसके एक घण्टे बाद ही बाप के साथ बेटी भी चल बसी। दोनों को अस्पताल में समुचित इलाज नहीं मिलने का आरोप परिजनों ने लगाया है। उन्होंने यह भी बताया कि मौत के बाद भी उनको एम्बूलेंस और वार्ड ब्वाय ने शवों को घर तक पहुंचाने में मदद तक नहीं की। इलाके में दहशत का यह माहौल है कि खानू गॉव के लोग इस बीमारी से बचाव के लिए परेशान हाल हैं। उन्होंने जिला प्रशासन से मांग की है कि यहां बचाव के लिए समुचित व्यवस्था की जाए।

अब तक हो चुकी हैं 50 मौतें
मंगलवार को दो संदिग्ध मरीजों की मौत हो गई। इस तरह से अब तक स्वाईन फ्लू से मरने वालों की संख्या 50 पर पहुंच गई है। जबकि 15 मरीजों के स्आब के नमूने जांच के लिए भेजे गए हैं। 12 पॉजीटिव मरीज पाए गए हैं। अब तक करीब 450 से ज्यादा मरीज स्वाईन फ्लू के ए,बी और सी केटैगरी से पीडि़त हैं। इधर स्वाईन फ्लू के नाम पर स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों द्वारा बचाव के लिए केवल बयान बाजी जारी की जा रही है। शहर के सभी सरकारी और निजी अस्पतालों में बुखार, सर्दी, खांसी, जुकाम के मरीजों में स्वाईन फ्लू की दहशत बरकरार है। कंट्रोल रूम से नहीं मिलती जानकारी -इधर स्वाईन फ्लू के लिए बनाए गए कंट्रोल रूम में भी बार-बार फोन लगाने के बाद भी कोई सकारात्मक जानकारी प्राप्त नहीं होती है। कोई व्यक्ति यदि स्वाईन फ्लू के बारे में बचाव की जानकारी लेना चाहे तो वहां से एक ही उत्तर दिया जा रहा है कि अस्पताल में जाकर चिकित्सक से मिलो।

तत्काल शिकायत करें

सीएमएचओ डॉ. वीणा सिन्हा ने कहा है कि अस्पतालों में यदि किसी मरीज को इलाज के दौरान कोई परेशानी आती है तो वह तत्काल उनसे शिकायत कर सकते हैं। उनकी शिकायत पर शीघ्र कार्यवाही होगी और किसी स्वास्थ्य अधिकारी की लापरवाही पर उसे दंडित भी किया जाएगा।