बुधवार, 30 जुलाई 2014

संघ को समझना है, तो कटारे, खाकी नेकर पहनें!


- कैबिनेट मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने फेसबुक पर दिया कटारे के सवाल का जबाव

भोपाल। मप्र सरकार के कैबिनेट मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने नेता प्रतिपक्ष सत्यदेव कटारे पर फेसबुक पोस्ट के जरिये कटाक्ष किया है। दरसअल, कटारे ने भोपाल में आयोजित संघ के चिंतन शिविर पर सवाल उठाए थे। मप्र सरकार के वरिष्ठ मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने अपने फेसबुक पेज (पब्लिक फिगर) पर बुधवार को एक पोस्ट करते हुए नेता प्रतिपक्ष सत्यदेव कटारे पर तीखा पलटवार किया है। विजयवर्गीय ने यह पोस्ट कटारे के उस पत्र के बाद की है, जो उन्होंने संघ प्रमुख मोहन भागवत को लिखा है।
विजयवर्गीय ने फेसबुक पर कहा - विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष की भूमिका ढंग से न निभा पाने वाले श्रीमान असत्यदेव कटारे ने आजकल पत्र लिखने का धंधा चालू कर दिया है, लेकिन अच्छा होता की वह श्रीमती सोनिया गांधी को पत्र लिखते कि अजय सिंह पूरे विधानसभा सत्र में क्यों अनुपस्थित रहे? क्यों आपकी पार्टी के विधायकों ने सदन में अपने क्षेत्र से जुड़े मुद्दे प्रभावी ढंग से नहीं उठाए? जब आप राष्ट्रपतिजी से मिलने गए, तो क्यों सारे विधायक आपके साथ नहीं गए?  रही बात सरकार में संघ के हस्तक्षेप की, तो संघ एक सांस्कृतिक संगठन है। संघ को समझने के लिए कटारे को खाकी नेकर पहनकर शाखा में आना होगा। संघ सरकारों के काम में कभी हस्तक्षेप नहीं करता। कटारे अगर साबित कर दें, तो मैं राजनीति से संन्यास ले लूंगा और अगर साबित न कर सके तो कटारे को राजनीति छोड़ देना चाहिए। कटारे को राजनीतिक ड्रामेबाजी बंद कर काम पर ध्यान देना चाहिए। उनकी जरा सी असफलता मध्यप्रदेश को नया नेता प्रतिपक्ष दिला सकती है।

कटारे का बयान पब्लिसिटी स्टंट : सिसौदिया
बीजेपी ने नेता प्रतिपक्ष सत्यदेव कटारे की आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत को लिखी गई चिट्ठी को पब्लिसिटी स्टंट करार दिया है। पार्टी का कहना है कि कटारे को उनकी पार्टी के नेता दिग्विजय सिंह और कमलनाथ ही आपको नेता प्रतिपक्ष के रूप में स्वीकार नहीं कर रहे हैं। बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता बिजेंद्र सिंह सिसौदिया ने कटारे को चिट्ठी लिखकर उनकी मोहन भागवत को लिखी गई चिट्ठी का जवाब दिया है। सिसौदिया ने कहा कि कटारे ने चिट्ठी लिखने के साथ प्रेस को जारी कर दी जो पब्लिसिटी स्टंट दिखाई देता है। उन्होंने चिट्ठी लिखने के पहले पुलिस के बयान को नहीं देखा जिसमें साफतौर पर कहा गया है कि घोटाले में आरएसएस के पदाधिकारी का नाम नहीं है।

अब ट्रेन में मिलेगा प्री-कुक फूड


- चुनिंदा गाडिय़ों में 10 अगस्त से शुरू हो रही है योजना
भोपाल। अब आपको ट्रेन में यात्रा के दौरान आर्डर पर प्री-कुक फूड मिल सकेगा। इसके तहत यात्रियों को नामी कंपनियों द्वारा सप्लाई किए गए सूप, बर्गर,

वेजीटेबल सेंडविच, नूडल्स जैसे आइटम यात्रा के दौरान दिए जाएंगे। यह सुविधा 10 अगस्त से एक दर्जन ट्रेनों में प्रायोगिक रूप से शुरू की जा रही है। भोपाल से गुजरने वाली गोवा व तमिलनाडु एक्सप्रेस में यात्रियों को प्री-कुक आइटम मिल सकेंगे। रेल बजट में यात्रियों को पैकड फूड उपलब्ध करवाने की घोषणा की गई है। इस कड़ी में यह आइटम पहले चरण में उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। रेल मंत्रालय के प्रवक्ता अनिल सक्सेना ने बताया कि फिलहाल प्रायोगिक तौर पर कुछ ट्रेनों में कुछ प्री-कुक आइटम देने की शुरुआत की जा रही है। अगले चरण में राजधानी, शताब्दी व प्रीमियम गाडिय़ों में भी यह आइटम उपलब्ध करवाए जाने लगेंगे।

बेस किचन का जायजा लिया
बताया जाता है कि दो दिन पहले ही रेल मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों की एक टीम ने नागपुर स्थित हल्दीराम कंपनी के फूड डिवीजन का इस सिलसिले में जायजा लिया था। वहीं, अन्य दो टीमें भी दूसरे शहरों में खाने के आइटम सप्लाई करने वाली नामी कंपनियों के बेस किचन का जायजा लेने गई थीं। इसके बाद तय माना जा रहा है कि 10 अगस्त से कुछ ट्रेनों में प्री-कुक फूड उपलब्ध करवा दिया जाएगा।

यह है प्री-कुक फूड
खाने-पीने के ऐसे आइटम जिन्हें खरीदार के सामने ही खाने लायक बना दिया जाता है। ऐसे आइटम प्री-कुक फूड की श्रेणी में आते हैं। जैसे टमाटर सहित अन्य सूप के पाउडर को गर्म पानी मिलाकर तत्काल तैयार कर ग्राहक को उपलब्ध करवा दिया जाता है। इसी तरह बर्गर, बड़ा पाव, वेजीटेबल सेंडविच, कार्न फ्लेक्स आदि को भी तत्काल तैयार कर दे दिया जाता है।

कीमत कंपनी तय करेगी
ट्रेन में जो कंपनी प्री-कुक फूड उपलब्ध करवाएगी, कीमत उसकी पैकिंग के अनुसार रहेगी। रेलवे और कंपनी के बीच यह अनुबंध रहेगा कि अच्छी गुणवत्ता के आइटम ही यात्रियों को उपलब्ध करवाए जाएं। रेलवे इन कंपनियों से मात्र लाइसेंस फीस ही इन आयटमों को ट्रेन में सप्लाई करने की एवज में लेगी।

वॉल्वो के बाद अब माय कैब सेवा शुरू


भोपाल। मेट्रो की तर्ज पर शहर में भी बुधवार से माय कैब नामक सिटी टैक्सी सर्विस का शुभारंभ हुआ। वॉल्वो बस के बाद यह दूसरी बड़ी सौगात है जिसका लाभ बुधवार से ही लोगों ने उठाया। शहरवासी इस विशेष सुविधा का लाभ 24 घंटे ले सकेंगे।
नगरीय प्रशासन मंत्री कैलाश विजयवर्गीय, गृहमंत्री बाबूलाल गौर, उच्च शिक्षामंत्री उमाशंकर गुप्ता, महापौर कृष्णा गौर और नगर निगम परिषद अध्यक्ष कैलाश मिश्रा ने हरी झंड़ी दिखाकर सिटी टैक्सी सेवा का शुभारंभ जवाहर चौक बस स्टैंड से किया। इस नई सुविधा के तहत पब्लिक प्राइवेट पार्टनशिप (पीपीपी) मोड पर 100 रेडियो कैब खरीद ली गई हैं।
नगर निगम प्रशासन के मुताबिक शहर के किसी भी कोने से रेडियो कैब को 666-6666 नंबर पर कॉल करके बुलाया जा सकेगा। मोबाइल फोन से इस नंबर पर कॉल करने के पहले एसटीडी कोड नंबर 0755 लगाना होगा। यह सेवा 24 घंटे उपलब्ध रहेगी। नगर निगम ने इस टैक्सी सेवा के संचालन का जिम्मा एक प्राइवेट कंपनी को सौंपा है। लोगों को आरामदेह और लग्जरी सफर मुहैया कराने के लिए इस कंपनी ने नगर निगम की शर्तों पर स्विफ्ट डिजायर कारें खरीदी हैं। अंदाजा लगाया जा रहा है कि माय कैब के संचालन से नगर निगम को भी हर महीने करीब एक लाख 75 हजार रुपए की आय होगी।

मिलेगी कंप्यूटराइज्ड स्लिप
भोपाल व हबीबगंज रेलवे स्टेशन, राजा भोज एयरपोर्ट, डीबी सिटी, एमपी नगर, न्यू मार्केट, मोती मस्जिद और होशंगाबाद रोड पर भी यह सेवा उपलब्ध रहेगी। इसमें यात्र कर रहे यात्रियों को कंप्यूटराइज्ड स्लिप दी जाएगी। बिल जीपीएस के आधार पर तय की गई दूरी के हिसाब से बनेगा। इससे किराए में हेराफेरी की गुंजाइश नहीं रहेगी।

टूर पैकेज तैयार
जानकारी के अनुसार माय कैब भोपाल से पचमढ़ी समेत अन्य पर्यटन शहरों के लिए भी उपलब्ध रहेंगी। लांग टूर के लिए गाड़ी बुक करने के लिए पैकेज तैयार किया जा रहा है।

ये है किराया
निगम प्रशासन के मुताबिक इस टैक्सी सेवा के लिए आरटीओ द्वारा तय किए गए किराए के मुताबिक पहले 2 किमी पर 50 रुपए देना होंगे। इसके बाद 23 रु. प्रति किमी किराया लगेगा। आप जिस लोकेशन पर हैं, वहां से आपके कैब में सवार होने के बाद ही उसका मीटर चालू होगा।

वेटिंग चार्ज 100 रु. प्रतिघंटा
मान लीजिए आप कैब लेकर एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन या जरूरी मीटिंग में गए और आपने कैब के ड्राइवर से रुकने को कहा तो वेटिंग चार्ज के तौर पर आपको 100 रु. प्रति घंटे देने होंगे। इसी तरह नाइट चार्ज के तौर पर निर्धारित किराए का 20 फीसदी चार्ज अलग से देना होगा।

पहले से है टैक्सी सेवा
शहर में दो अन्य प्राइवेट टैक्सी सर्विस पहले से चल रही है। मेट्रो टैक्सी का संचालन पिछले करीब चार साल से हो रहा है। इसकी 40 इंडिगो गाडिय़ां चलाई जा रही हैं। जबकि आपकी टैक्सी का संचालन करीब चार महीने पहले ही शुरू हुआ है। इसके तहत 30 टैक्सियां शहर में दौड़ रही हैं। मेट्रो टैक्सी को बुलाने के लिए 0755-6555555 पर, जबकि आपकी टैक्सी के लिए 0755-6050505 पर कॉल किया जा सकता है।

अच्छे दिनों की इबारत लिखी जाएगी चिंतन शिविर में


भोपाल। गुरुवार से भोपाल में राष्ट्र्रीय स्वयं सेवक संघ का चार दिवसीय चिंतन शिविर शुरू हो गया। ऐसा माना जा रहा है कि इसमें मोदी सरकार की दिशा तय करने कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर मंथन होगा। इसमें विदेश नीति से लेकर संघ और भाजपा में बेहतर तालमेल के जरिये अच्छे दिनों की इबारत तैयार होगी। इसके संबंध में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यालय में बुधवार से ही संघ पदाधिकारियों का जमावड़ा लगना शुरू हो गया है। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के बौद्धिक विभाग द्वारा 31 जुलाई से 3 अगस्त तक (चार दिवसीय) चिंतन शिविर का आयोजन किया जाएगा। इस बैठक में संघ के विशिष्ट संगठनों जैसे स्वदेशी जागरण मंच, विश्व हिंदू परिषद, प्रज्ञा भारतीय और वनवासी कल्याण परिषद के चुने हुए लोग भी शामिल होंगे। ये सभी लोग मिलकर विचारधारा और अकादमिक स्तर पर कई विषयों पर मंथन करेंगे।

शामिल होंगे कई दिग्गज
जानकारी के अनुसार शिविर में संघ के कई अहम सदस्य शामिल होंगे। इनमें संघ प्रमुख मोहन भागवत से लेकर भैय्या जी जोशी और सुरेश सोनी तक सभी शामिल हैं। इसके साथ ही भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, राम माधव, एस गुरुमूर्ति सहित अन्य दिग्गज के शामिल होने की संभावना जताई जा रही है।

इन मुद्दों पर होगी चर्चा
केंद्र सरकार को पाकिस्तान और अमेरिका के साथ कैसे संबंध और व्यवहार रखना चाहिए, इसे लेकर आगे की रणनीति अब राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ इन चार दिनों की बैठक में तय करेगा। इसके साथ ही कश्मीर समस्या, सुरक्षा व्यवस्था, बांग्लादेशी घुसपैठ, चीन मामले में अब तक का रुख, पाकिस्तान और आतंकवाद, समान नागरिक संहिता सहित आर्थिक नीतियों और महत्वपूर्ण राजनीतिक मसलों पर चर्चा की जाएगी।

तालमेल बनाने की कोशिश
इस चिंतन शिविर को महत्वपूर्ण इसीलिए माना जा रहा है क्योंकि इसके माध्यम से संघ और केंद्र सरकार के बीच कई मुद्दों पर तालमेल बैठाया जा सकेगा। एनडीए की अटल सरकार के कार्यकाल में जब संघ और सरकार के बीच विभिन्न मुद्दों पर अलगाव पैदा हुए थे तो उसका मूल कारण संघ की वैचारिक सोच के खिलाफ सरकार का कामकाज था। संघ के फैसलों पर अमल न करने के चलते ही दत्तोपंत ठेंगड़ी ने अटल सरकार के खिलाफ संघर्ष छेड़ दिया था। उस वक्त संघ, अटल सरकार की आर्थिक नीतियों से भी सहमत नहीं था।

विशेष बैठक भी होगी
जानकारी के अनुसार इस चिंतन बैठक के दौरान एक दिन संघ के कोर ग्रुप केंद्रीय टोली की भी बैठक होगी। इसमें संघ प्रमुख मोहन भागवत के साथ ही शीर्ष पदाधिकारी सर कार्यवाह भैयाजी जोशी, सुरेश सोनी, कृष्णगोपाल, दत्तात्रेय हौसबोले सहित लगभग 11 लोग मौजूद रहेंगे।

मप्र में जनऔषधि केंद्र खुलेंगे, मिलेंगी सस्ती दवाएं


- एम्स में जनऔषधि केंद्र का गृहमंत्री बाबूलाल गौर ने किया शुभारंभ
भोपाल। राजधानी के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के सामने बुधवार को प्रदेश के पहले जन औषधि केंद्र की शुरुआत हुई। केंद्र का उद्घाटन गृहमंत्री बाबूलाल गौर ने किया। इस केंद्र पर गंभीर बीमारियों के मरीजों को 361 प्रकार की जेनरिक दवाएं सस्ती दर पर मिलना शुरू हो गई हैं। साकेत नगर स्थित इस जनऔषधि भंडार पर सभी ब्रांडेड दवाओं के जेनिरक फार्मूले की दवाएं मिलेंगी। बाजार में बिक रही दवाओं की तुलना में यह दवाएं 2 से 20 गुना तक सस्ती होंगी। एम्स के अस्पताल की शुरुआत न होने तक जनऔषधि भंडार सुबह 8 से रात 8 बजे तक ही खुलेगा। अस्पताल की शुरुआत होने पर स्टोर 24 घंटे खुला रहेगा। ब्यूरो ऑफ फार्मा पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग्स ऑफ इंडिया (बीपीपीआई) के जनरल मैनेजर पीके शांतरा ने बताया कि औषधि भंडार पर बिकने वाली दवाओं की गुणवत्ता की निगरानी करने सभी दवाओं की बिक्री से पहले लेबोरेटरी जांच कराने की व्यवस्था दी है। इससे दवा सप्लायर जनऔषधि भंडार को कम गुणवत्ता की दवाएं सप्लाई नहीं कर सकेंगे।

अगस्त में खुलेंगे 8 औषधि भंडार
मध्यप्रदेश में भोपाल सहित 25 जिलों में जनऔषधि भंडार खुलेंगे। भोपाल के बाद सीहोर, सागर, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा, इंदौर, छतरपुर, ग्वालियर और मुरैना में औषधि भंडार खोले जाएंगे। इन शहरों के औषधि भंडार में 30 अगस्त से पहले जेनरिक दवाओं की बिक्री शुरू हो जाएगी।

होम डिलीवरी की सुविधा
जनऔषधि भंडार के फार्मासिस्ट रामचंद्र मौर्य ने बताया कि सीनियर सिटीजन को दिन में दो बार दवाओं की होम डिलीवरी दी जाएगी। इसके लिए सीनियर सिटीजन को औषधि भंडार के फोन नंबर 0755-4294256 पर दवा का नाम एक दिन पहले नोट कराना होगा।

शिकायत टोल फ्री नंबर पर
मरीज जनऔषधि भंडार से खरीदी गई दवा की गुणवत्ता खराब होने पर उसकी शिकायत भी कर सकेंगे। इसके लिए जनऔषधि भंडार के फार्मासिस्ट के पास कंप्लेंट बुक रहेगी। इसके अलावा खरीददार मिनिस्ट्री ऑफ केमिकल एंड फर्टीलाइजर के औषध निर्माण विभाग को टोल फ्री नंबर 1800-180-8080 पर शिकायत कर सकेंगे।

ये दवाएं मिलेंगी सस्तीं
दवा का नाम- ब्रांडेड दवा की कीमत- जेनरिक दवा की कीमत
डाईक्लोफेनेक 100 एमजी- 39.73- 4.43
पेरासीटामोल 500 एमजी- 18.34- 5.60
निमेसुलाइड 100 एमजी- 33.93- 3.42
ट्रामाडोल 50 एमजी- 78.00- 3.94
सिप्रोफ्लोक्सासिन 250 एमजी- 47.37- 16.54
अमोक्सीसिलीन 500 एमजी- 65.45- 37.00
डोम्पेरीडोन 10 एमजी- 24.82- 3.29
पेन्टाप्राजोल 40 एमजी- 55.34- 7.72
रेबीप्राजोल 20 एमजी- 57.84- 6.12
एटोवास्टाटिन 20 एमजी- 174.85- 10.32
मेटफार्मिन एचसीएल 500 एमजी- 26.79- 4.80
सिट्राजिन 10 एमजी- 27.92- 3.09

शिक्षा मंत्री ने किया स्कूल का आकस्मिक निरीक्षण



- दो अध्यापक को थमाया नोटिस, स्कूल में मिली जगह-जगह गंदगी
भोपाल। बुधवार को स्कूल शिक्षा मंत्री पारस जैन आकस्मिक निरीक्षण के लिए टीटी नगर स्थित कमला नेहरू हायर सेकंड्री स्कूल जा पहुंचे। इस दौरान उन्होंने स्कूल की सभी कक्षाओं, बिजली, पानी सहित अन्य मूलभूत सुविधाओं का जायजा लिया। स्कूल में फैली अव्यवस्थाओं को देखकर उन्हें नाराजगी व्यक्त की। इसके बाद मंत्री पारस जैन प्राचार्य के कक्ष में गए, यहां उन्होंने हाजिरी रजिस्टर चैक किया और अनुपस्थित मिली दो शिक्षिकाओं को कारण बताओ नोटिस जारी किया। गौरतलब है कि यह स्कूल प्रिंसिपल और टीचर्स के कथित विवादों के चलते पिछले कई दिनों से मीडिया की सुर्खियों में है। मंत्री जैन ने साफ-सफाई और बिजली की व्यवस्था जल्द दुरुस्त करने के निर्देश स्कूल प्रबंधन को दिए हैं। इस मौके पर कई छात्राएं मंत्री जैन से मिली और छात्राओं ने स्कूल का समय सुबह 8 बजे से एक बजे तक किए जाने की मांग की। वर्तमान में स्कूल का समय सुबह दस बजे से शाम 5 बजे तक है। निरीक्षण के बाद मीडिया से चर्चा करते हुए मंत्री ने कहा कि प्राचार्य और शिक्षकों के बीच चल रहे विवाद को चर्चा कर जल्द ही सुलझा लिया जाएगा।

कटारे ने आरएसएस प्रमुख को लिखी चिट्ठी


भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष सत्यदेव कटारे ने प्रदेश के व्यापमं घोटाले, पीएससी घोटाले और माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय के कुलपति की नियुक्ति में विपक्ष की आपत्ति को नजरअंदाज किए जाने को लेकर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत को चिट्ठी लिखी है। इसमें उन्होंने मांग की है कि आरएसएस का प्रदेश की प्रशासनिक व्यवस्था में कोई दखल नहीं हो और इस पर चिंतन बैठक में गंभीरता से विचार किया जाए। कटारे ने पत्र में आरोप लगाया है कि व्यापमं घोटाले में पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा, आरएसएस कार्यकर्ता सुधीर शर्मा, आरएसएस के पूर्व प्रमुख सुदर्शन कुमार द्वारा मिहिर नामक बेरोजगारी की सरकारी नौकरी की सिफारिश से लेकर पीएससी में आरएसएस के प्रचारक की अनुशंसा पर अध्यक्ष की नियुक्ति और माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय में कुलपति की नियम विरुद्ध नियुक्ति में विपक्ष की आपत्ति को नजरअंदाज करने के पीछे आरएसएस का हाथ है। इन तमाम घोटालों के कारण प्रदेश के नौजवानों के अवसरों को छीना गया है।

बाढ़ वाले मंदिर में गणेश प्रतिमा स्थापित


- सीएम शिवराज ने सपत्नीक की पूजा-अर्चना
भोपाल। मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उनकी पत्नी साधना सिंह ने बुधवार को विदिशा में बाढ़ वाले मंदिर में नई गणेश प्रतिमा की स्थापना कराई। इस मंदिर में 11 अप्रैल को डकैती पड़ी थी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विदिशा के बाढ़ वाले गणेश मंदिर में बुधवार को करीब 6 घंटे पूजा अर्चना की। उनकी पत्नी साधना सिंह भी पूजा में उनके साथ बैठीं। इस मौके पर प्रभारी मंत्री रामपाल सिंह, विधायक कल्याण सिंह दांगी, और प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे। गौरतलब है कि बेतवा किनारे रंगई घाट पर शिवराज सिंह चौहान ने इस मंदिर का निर्माण करवाया था। इसी 11 अप्रैल को इस मंदिर में डकैती पड़ी थी, जिसमें डकैत भगवान गणेश की प्रतिमा को खंडित कर गए थे। मंदिर में नई प्रतिमा स्थापित करने के प्रयास में शिवराज सिंह और साधना सिंह राजस्थान गए थे। वहां से प्रतिमा लेकर आए। बुधवार को इस नई प्रतिमा को स्थापित किया गया। सुबह सात बजे सड़क मार्ग से शिवराज सिंह चौहान, साधना सिंह और रामपाल सिंह विदिशा पहुंचे। करीब साढ़े सात बजे तीनों मंदिर पहुंचे और पूजा में बैठे। शिवराज सिंह ने यहां पर अनुष्ठान भी कराया। मूर्ति की प्राण-प्रतिष्ठा एक माह बाद होगी।
मंदिर में मेला
लोगों को जैसे ही पता चला कि मंदिर में आज भगवान गणेश की मूर्ति स्थापित की जा रही है। वैसे ही मंदिर में भक्तों की भीड़ उमडऩा शुरू हो गई।

अवैध हुक्का लाउंज संचालकों की अब खैर नहीं


डीजीपी नंदन दुबे ने सभी थानों से जानकारी की तलब

भोपाल। राजधानी में बगैर लाइसेंस के चल रहे चार दर्जन से अधिक अवैध हुक्का लाउंज संचालकों की अब खैर नहीं। डीजीपी नंदन दुबे ने आज सुबह सभी थाना क्षेत्रों में अवैध रूप से संचालित किए जा रहे हुक्का लांउजों की जानकारी तलब की है।
गौरतलब है कि कल रात क्राइम ब्रांच पुलिस ने एमपी नगर जोन वन में एक अवैध हुक्का लांउज पर छापा मारकर डेढ़ दर्जन से अधिक नाबालिग बच्चों को हुक्का पीते हुए गिरफ्तार किया था। बाद में सभी नाबालिग बच्चों को एमपी नगर पुलिस के हवाले कर दिया था, जहां से नाबालिग किशोर-किशोरियों को उनके मां-बाप को बुलाकर समझाइश देकर छोड़ दिया था, लेकिन हुक्का लाउंज संचालक हर्ष बच्छानी को गिरफ्तार कर लिया था।

आदेश के बाद हरकत में आई पुलिस
डीजीपी नंदन दुबे के जानकारी तलब करने के बाद राजधानी की पुलिस हरकत में आ गई। एसपी साउथ अंशुमान सिंह एवं एसपी नार्थ अरविंद सक्सेना ने सभी थाना प्रभारियों को निर्देश दिए हैं कि अवैध हुक्का लाउंज की जानकारी आज शाम तक समिट कर दें।

48 हुक्का लाउंज अवैध
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भोपाल में लगभग चार दर्जन से अधिक हुक्का लाउंज संचालित हैं जिन्होंने अभी तक लाइसेंस नहीं लिया। बताया जाता है कि कोलार में 4, चूना भट्टी में 2, एमपी नगर इलाके में 16, रातीबड़ में 2, हबीबगंज में-1, विट्ठल मार्केट में -2, बुधवारा में 2, दस नंबर मार्केट में-2, टीटी नगर में - 5 के अलावा नगर निगम सीमा के बाहर एक दर्जन से अधिक हुक्का लाउंज संचालित हैं।

अवैध हुक्का लाउंज बंद किए जाएं
भारतीय जन बेरोजगार छात्र दल के प्रदेश अध्यक्ष मनोज त्रिपाठी ने डीजीपी नंदन दुबे से भोपाल में संचालित अवैध हुक्का लाउंजों को तत्काल बंद करने की मांग की है। उन्होंने प्रेस को जारी विज्ञप्ति में बताया कि हुक्का लाउंज से युवा पीढ़ी नसे की गिरफ्त में आ रही है।

अड़ीबाजी को लेकर की गई बदमाश की हत्या


- मारने वाला भी निकला बदमाश तीन आरोपी हिरासत में, एक आरोपी की तलाश जारी
- एक साल पहले भी हो चुका है दोनों बदमाशों में झगड़ा

भोपाल। शिवाजी नगर के एक पार्क में कल रात सिर पर रॉड व पैर में गोली मारकर 25 वर्षीय बदमाश अंकित जवादे की हत्या करने वाले चार आरोपियों में से एमपी नगर पुलिस ने तीन आरोपियों को हिरासत में ले लिया है। उन्होंने बताया कि बदमाश की हत्या अड़ीबाजी को लेकर की गई है। हिरासत में लिए गए दो आरोपियों का रिकार्ड भी आपराधिक प्रवृत्ति का बताया गया है।
एमपी नगर टीआई बृजेश भार्गव ने बताया कि अंकित जवादे की हत्या करने वाले नीलबड़ निवासी राजेश परमार, शिवाजी नगर निवासी भरत मेवाड़ा व राहुल उर्फ चुन्नू को हिरासत में ले लिया है। अभी दिलीप विश्वकर्मा फरार है। उसे भी पुलिस आज शाम तक गिरफ्तार कर लेगी।

क्यों की गई हत्या?
एसपी साउथ अंशुमान सिंह ने बताया कि अंकित जवादे की हत्या करने का मुख्य आरोपी दिलीप विश्वकर्मा है। दिलीप विश्वकर्मा से उसकी पुरानी दुश्मनी चल रही थी। उन्होंने बताया कि राजधानी के पुलिस थानों से मिली जानकारी के अनुसार दिलीप विश्वकर्मा का रिकार्ड क्रिमनल रहा है। उसके खिलाफ हबीबगंज, कमलानगर, टीटी नगर थाने में तीन मामले अड़ीबाजी, जान से मारने की धमकी के दर्ज हैं।  इधर सूत्रों का कहना है कि दोनों दिलीप विश्वकर्मा व अंकित जवादे अपने-अपने रसूख को क्षेत्र में कायम रखने के लिए एक दूसरे के जान के दुश्मन बने थे। दोनों एक-दूसरे की हत्या की साजिश लगभग तीन माह से रच रहे थे। लेकिन निहत्या अंकित जवादे कल रात 8 बजे दिलीप विश्वकर्मा, राजेश परमार, भरत मेवाड़ा व राहुल के हत्थे चढ़ गया। चारों लोग अंकित जवादे का नीलबड़ से ही पीछा कर रहे थे। चारों आरोपियों ने कल हत्या की साजिश रच ली थी कि आज इसको निपटाना ही है।

क्यों बने दुश्मन
सूत्रों ने बताया कि अंकित जवादे और दिलीप विश्वकर्मा की दोस्ती महज पांच साल पहले हुई थी। दोनों कमला नगर, टीटी नगर, हबीबगंज, एमपी नगर के अलावा आधा दर्जन थाना क्षेत्रों में अड़ीबाजी, मारपीट, जान ेस मारने की धमकी देना, मकानों-दुकानों पर जबरन कब्जा करने का धंधा करते थे। लेकिन दो साल पहले एक व्यापारी से की गई अड़ीबाजी के पीछे दोनों में झगड़ा हो गया और अंकित जवादे ने चार-पांच साथियों का अलग ग्रुप बना लिया। तभी से दिलीप विश्वकर्मा ने उसे जान से मारने की ठान ली थी।

एक साल पहले हुआ थी झगड़ा
टीआई बृजेश भार्गव ने बताया कि एक साल पहले शिवाजी नगर में अंकित जवादे व दिलीप विश्वकर्मा का झगड़ा हुआ था। तब एक सफेदपोश नेता ने मामला बैठकर सुलटा दिया था।

भाजपा नेता का छोटा भाई है हत्यारा
आरोपी राजेश परमार का बड़ा भाई हरिओम परमार  भाजपा का स्थानीय नेता है। वह एक पूर्व विधायक का समर्थक भी है। सूत्रों का कहना है कि भाजपा प्रदेश कार्यालय में हुई तोडफ़ोड़ में हरिओम का नाम सामने आया था।

क्या था मामला
मंगलवार रात 8 बजे के आसपास शिवाजी नगर पार्क में स्थानीय बदमाश अंकित जवादे की राजेश परमार, दिलीप विश्वकर्मा, भरत मेवाड़ा व राहुल उर्फ चुन्नू ने सिर पर रॉड मारकर एवं देसी कट्टा से गोली मारकर घायल कर दिया था। मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे पहले जेपी अस्पताल फिर हमीदिया में भर्ती कराया जहां उसकी मौत हो गई। पुलिस ने देर रात तीन लोगों को हिरासत में ले लिया था। पुलिस सबी आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

इनका कहना है
अंकित जवादे की हत्या करने वाले तीन आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। जबकि एक आरोपी दिलीप विश्वकर्मा की तलाश कर रही है। हत्या की वजह अड़ीबाजी को लेकर सामने आ रही है।
अंशुमान सिंह, एसपी साउथ

कोर्ट परिसर में सुधीर के खिलाफ नारेबाजी


खुद को राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का कार्यकर्ता बताने वाले एक युवक ने बुधवार को कोर्ट परिसर में व्यापमं घोटाले के आरोपी सुधीर शर्मा के खिलाफ नारेबाजी की। जब सुधीर को कोर्ट से जेल ले जाया जा रहा था, तभी वहां कोलार निवासी आशुतोष कुमार आया और सुधीर शर्मा के खिलाफ नारेबाजी करने लगा। खुद को आरटीआई एक्टिविस्ट और संघ का कार्यकर्ता बताने वाले इस व्यक्ति का कहना था कि, सुधीर शर्मा ने करोड़ों रुपए कमाए और हजारों छात्रों का भविष्य बर्बाद कर दिया। हालांकि हंगामा होते देख एमपी नगर पुलिस मौके पर पहुंची और उसे पकड़कर अपने साथ ले गई।

13 अगस्त तक जेल में रहेंगे सुधीर शर्मा


- रिमांड अवधि खत्म होने पर एसटीएफ ने पेश किया था कोर्ट में
भोपाल। व्यापमं घोटाले में फंसे खनन व्यापारी सुधीर शर्मा को एसटीएफ की रिमांड खत्म होने के बाद बुधवार को कोर्ट में पेश किया गया। सीजेएम पंकज माहेश्वरी ने उन्हें आरक्षक भर्ती में हुई गड़बड़ी के मामले में 13 अगस्त तक जेल भेज दिया गया है।
उल्लेखनीय है कि, सुधीर शर्मा ने 25 जून को कोर्ट में सरेंडर किया था। उन पर एसटीएफ ने 10, 000 का इनाम घोषित कर रखा था। सुधीर का केस जाने-माने वकील प्रतुल्य शांडिल्य लड़ रहे हैं। शर्मा खुद को इस मामले में निर्दोष बताते आ रहे हैं। सुधीर शर्मा पर पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा-2012 और सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा-2012 में गड़बड़ी का आरोप है।

अग्रिम जमानत हो चुकी थी खारिज
भोपाल जिला अदालत, हाईकोर्ट और उसके बाद सुप्रीम कोर्ट से अग्रिम जमानत खारिज होने के बाद आखिरकार सुधीर शर्मा ने 25 जून को सरेंडर कर दिया था।

नहीं ढूंढ पाई थी एसटीएफ
13 मार्च को बयान दर्ज कराने के बाद शर्मा ने एसटीएफ थाने जाना ही बंद कर दिया था। इस बीच फरार घोषित हुए शर्मा की गिरफ्तारी के लिए एसटीएफ ने भोपाल समेत नागपुर व दिल्ली में भी कुछ ठिकानों पर दबिश दी थी। सूत्र बताते हैं कि फरारी के दौरान सुधीर शर्मा ज्यादातर नागपुर व दिल्ली में ही रहे। सरेंडर करने के लिए वह एक रात पहले ही भोपाल आए थे, लेकिन एसटीएफ को इसकी भनक तक नहीं लगी।

जाने-माने वकील लड़ रहे हैं सुधीर का केस
उज्जैन के बहुचर्चित प्रो. सभरवाल हत्याकांड में विशेष लोक अभियोजक रहे प्रतुल्य शांडिल्य ही सुधीर शर्मा के वकील हैं। उन्होंने ही शर्मा के सरेंडर के लिए अदालत में अर्जी पेश की थी। सुधीर के सरेंडर के दौरान प्रो. सभरवाल हत्याकांड में नामजद आरोपी रहे उज्जैन के विशाल राजौरिया अपने साथियों के साथ पूरे समय कोर्ट में सक्रिय रहे थे। विशाल वर्तमान में उज्जैन में भाजयुमो के नगर अध्यक्ष भी हैं।

डेंगू के तीन पॉजीटिव मरीज मिले, संख्या पहुंची 58 पर



भोपाल। राजधानी में बुधवार को डेंगू के तीन मरीजों की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। इस तरह से डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़कर 58 पर पहुंच गई है। इन मरीजों का उपचार चल रहा है। फिलहाल मरीज खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं।
सीएमएचओ डॉ. पंकज शुक्ला ने बताया कि तीनों मरीजों को उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी। अब तक मिले डेंगू के सभी मरीजों का उपचार गंभीरता से किया जा रहा है, उन्हें ब्लड बैंक से प्लेटलेड भी उपलब्ध करवाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अब पहले की तरह डेंगू के पॉजीटिव मरीज नहीं मिल रहे हैं। डेंगू पर नियंत्रण की स्थिति बनती जा रही है। फिर भी बुखार के गंभीर मरीजों के रक्त की स्लाइड बनवाकर जांच करवाई जा रही है।

फुटपाथ पर मिली युवक की लाश


भोपाल । तलैया थाना क्षेत्र स्थित रेतघाट के पास बुधवार दोपहर एक युवक की लाश फुटपाथ पर मिलने से सनसनी फैल गई। वह शाहजहांनाबाद इलाके का रहने वाला है। मौत के कारणों का खुलासा नहीं हुआ है। पुलिस ने मर्ग कायम कर तफ्तीश शुरू कर दी है। पुलिस के मुताबिक बुधवार दोपहर करीब तीन बजे रेतघाट स्थित एक निजी अस्पताल के सामने फुटपाथ पर युवक की लाश पड़ी होने की सूचना मिली। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची तथा पंचनामा बनाकर लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक की शिनाख्त शाहजहांनाबाद थानान्तर्गत ठक्कर बाबा कॉलोनी निवासी विक्रम करोसिया पुत्र फूलचंद करोसिया (40) के रूप में हुई है। शार्ट पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का खुलासा हो सकेगा।

गुरुवार, 24 जुलाई 2014

संक्षिप्त क्राइम समाचार


पानी में डूबने से मासूम की मौत
भोपाल। बागसेवनिया निवासी विश्वनाथ रावत का डेढ़ साल का बेटा जगदीश कल दोपहर में तेज बारिश में घर के बाहर खेल रहा था। अचानक पैर फिसल जाने से वह पानी में डूब गया। काफी देर तक मासूम के नहीं मिलने पर परिजनों से जब तलाश की तो गड्ढे में पानी में डूबा हुआ था। परिजनों ने उसे बाहर निकाला तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। पुलिस ने मर्ग कायम कर लाश पीएम के लिए भिजवा दी।
----------------------
चाकू से प्राणघातक हमला
गौतम नगर थाना अंतर्गत शारदा नगर के गली नंबर एक में रहने वाले जुबेर उर्फ जुबेद खान (20) कल दोपहर में किसी काम से बाजार आया था। तभी अकरम बसाथी (25) उसके साथ गाली गलौज करने लगा। विरोध करने पर अकरम ने जुबेर के पेट में चाकू घोंप दिया और फरार हो गया। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल युवक को हमीदिया अस्पताल में भर्ती कर दिया है।
-----------------
उपचार के दौरान दम तोड़ा
जहांगीराबाद निवासी रितेश आर्या पिता राजकुमार आर्य (20) 23 जुलाई को दोपहर में अज्ञात वाहन की टक्कर से घायल हो गया था। परिजनों ने उसे हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया था। उपचार के दौरान उसने कल रात दम तोड़ दिया।
---------
तालाब में डूबने से किशोर की मौत
खजूरी थाना अंतर्गत भैंसखेड़ी निवासी इजारत अली (18)का कल सुबह तालाब में डूबने से मौत हो गई। पुलिस के अनुसार किशोर तालाब में नहाने गया था, तभी उसका पैर फिसल गया। इस दौरान गोताखोरों ने उसे बचाकर परिजनों को सूचना दी। परिजनों ने तत्काल उसे चिरायु अस्पातल भैंसाखेड़ी में भर्ती कराया। उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया।

व्यापारी का स्कूटी व मोबाइल लूट ले गए बदमाश


भोपाल। कोहेफिजा थाना अंतर्गत खानूगांव निवासी एक वृद्ध को देर रात पल्सर सवार दो युवक लूटकर भाग गए। पुलिस के अनुसार शोभाराम उमरवानी (64) कल रात 12.30 बजे के आसपास अपनी स्कूटी से लौट रहे थे। अभी वह वीआईपी रोड के पास पहुंचे ही थे, तभी पहले से घात लगाए खड़े पल्सर सवार दो युवकों ने वृद्ध को रोकर लिया और स्कूटी से नीचे पटक दिया। जैसे ही वृद्ध जमीन पर गिरा एक युवक ने उसकी जेब से मोबाइल व 5-6 हजार रुपए निकाले और स्कूटी लेकर भाग गए। बाद में किसी वाहन चालक को रोककर उन्हें घटना की जानकारी दी। वाहन चालक ने पुलिस थाना में सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने परियादी की शिकायत पर प्रकरँण दर्ज कर लिया। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है।

भोपाल में नहीं मिले निलंबित एआईजी अनिल मिश्रा


- जयपुर पुलिस ने दो बार दी उनके घर पर दबिश
भोपाल। जयपुर पुलिस की टीम ने दूसरे दिन सीआईडी के निलंबित एआईजी अनिल मिश्रा को गिरफ्तार करने के लिए बुधवार व गुरुवार को लगभग आधा दर्जन ठिकानों पर दबिश दी लेकिन वह खबर लगते ही भोपाल से फरार हो गया। जयपुर पुलिस टीम को पता चला था कि अनिल मिश्रा भोपाल के किसी गुप्त स्थान पर छिपा हुआ है। अनिल मिश्रा की गिरप्तारी में भोपाल की सीआईडी पुलिस भी सहयोग कर रही है।
गौरतलब है कि ईव मिरेकल कंपनी के संचालक की पत्नी ने जयपुर महिला थाने में ब्लैकमेल कर ज्यादती करने का मामला दर्ज कराया है। बुधवार को जयपुर से तीन सदस्यों की टीम भोपाल आई। इसमें उप निरीक्षक सरोज घायल के साथ दो पुलिसकर्मी भी साथ आए हैं। बुधवार को उन्होंने सीआईडी, पुलिस मुख्यालय व एसटीएफ कार्यालय में पहुंचकर निलंबित एआईजी अनिल मिश्रा के बारे में जानकारी एकत्रित की। जयपुर पुलिस टीम ने बाद में रात को अनिल मिश्रा के बागमुगालिया स्थित मकान पर गई यहां मकान में ताला लगा हुआ था। देर रात तक व आज दोपहर तक पुलिस टीम ने 5 से 6 स्थानों पर दबिश दी लेकिन उसका कहीं सुराग नहीं मिला। जयपुर की टीम कल तक भोपाल में रहेगी। अगर अनिल मिश्रा मिल जाता है तो पुलिस उसे गिरप्तार कर जयपुर ले जाएगी।
इनका कहना है
निलंबित एआईजी अनिल मिश्रा को गिरफ्तार करने एवं पद स्थापना को लेकर जयपुर पुलिस बुधवार को भोपाल में डेरा डाले हुए है। सीआईडी पुलिस इसमें टीम का सहयोह कर रही है।
राजीव टंडन, एडीजी, सीआईडी

केरोसिन डालकर महिला को जलाया


भोपाल। बैरसिया थाना अंतर्गत ग्राम सरखंड़ी में एक महिला को सुसराल वालों ने दहेज में दो लाख रुपए नहीं लाने पर केरोसिन डालकर भाग लगा दी। झुलसी महिला को शासकीय अस्पताल में भर्ती करा दिया है। पुलिस के अनुसार उर्मिला बाई पति गोपाल (25) को पति गोपाल, राजू, रामलाल व मांगीलाल दो साल से दहेज के लिए प्रताडि़त कर रहे हैं। इसकी शिकायत महिला ने अपने माता-पिता को भी बताई लेकिन उनके समझाने के बाद भी ससुराल वालों ने प्रताडि़त करना जारी रखा। 21 जुलाई को शाम 7 बजे के आसपास मामूली विवाद को लेकर सभी ने मिलकर केरोसिन उड़ेल दिया और आगद लगा दी। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने झुलसी महिला को अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर दिया।

डॉक्टर साकल्ले की मौत की सीडी आई सामने


- कौन सी महिला है जो बार-बार सिग्नेचर कराने आती थी
भोपाल। जबलपुर मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. साकल्ले की मौत का मामला अब उलझता नजर आ रहा है। संदिग्ध मौत के पहले डॉ. साकल्ले तनाव में थे। उन पर लैपटॉप खरीदी को लेकर लगातार दबाव डाला जा रहा था। जबलपुर के निजी चैनल से डॉ. साकल्ले की बातचीत की एक सीडी सामने आई है, जिसमें इसका खुलासा हुआ है। डॉ. साकल्ले साफ तौर पर कहते नजर आ रहे हैं कि ऊपर से बार-बार दबाव डाला जा रहा है कि करो, नहीं तो तुम्हारी ऐसी-तैसी कर देंगे। एक फुटेज में महिला क्लर्क फाइलों का बंडल उनके सामने रखती है। इस पर डॉ. साकल्ले नाराजगी जताते हैं और कहते हैं कि आप लोग बार-बार फाइलों के बीच वही फाइलें रखकर मेरे सिग्नेचर कराना चाहते हैं। सीडी में डॉ. साकल्ले लैपटॉप खरीदी का साफ तौर पर विरोध करते नजर आ रहे हैं। सीडी में डॉ. साकल्ले कह रहे हैं कि इसके लिए डीएमई बजट क्यों दे रहा है।

27 लाख के खरीदे थे लैपटॉप
अपनी मौत से पहले चुनाव आचार संहिता के दौरान मई में डॉ. साकल्ले ने 84 लैपटॉप खरीदे थे। 32 हजार प्रति लैपटॉप के हिसाब से कुल 26 लाख 88 हजार रुपए की खरीदी की गई थी। ये लैपटॉप एससी-एसटी के छात्रों को दिए जाने थे, लेकिन मेडिकल कॉलेज के अफसरों ने इन्हें बेकार बताया था, क्योंकि इनमें ओरिजनल सॉफ्टवेयर नहीं थे। ऐसे में सवाल उठना लाजिमी है कि आखिर ऐसी क्या जरूरत आन पड़ी थी कि आचार संहिता के दौरान लैपटॉप खरीदने पड़े? लैपटॉप खरीदी के लिए डॉ. साकल्ले पर किसका दबाव था? किसके दबाव में घटिया लैपटॉप खरीदे गए?

लघु उद्योग.. दलाली का काम है
सीडी में डॉ. साकल्ले कह रहे हैं- लघु उद्योग तो क्या है? दलाली का काम है। जिसको ऑर्डर नहीं मिलता, वह हल्ला मचाने लगता है। कमीशन सबको मिलना है 20 परसेंट, चाहे आर्डर आ जाए या न आए। वर्षों से चल रहा है दलाली का खेल। जब से लघु उद्योग निगम बना है, तब से यही चल रहा है। सरकारी नौकरी में प्रॉब्लम बहुत होते हैं, ऊपर से फोन आता है। सीधे धमकी देते हैं। जो प्रेशर में आ गया तो आ गया।

एक दिन में आधा दर्जन से अधिक चोरियां


- चोरों को हौसले बुलंद, बारिश में नहीं हो रही रात्रि गश्त
भोपाल। राजधानी में चोरों के हौसले इतने बुलंद हैं कि वह रोजाना आधा दर्जन से अधिक सूने मकान, दुकानों को निशाना बनाकर हाजरों का सामान, नकदी, जेवर लेकर चंपत हो रहे हैं। इधर, पुलिस बल की कमी का बहाना कर सिर्फ एफआईआर दर्ज कर इतिश्री कर रही है।
जेवर चोरी : पुलिस के अनुसार बीती रात कटारा हिल्स निवासी गिरीशचंद शर्मा के घर से अज्ञात चोर सोने-चांदी के जेवरात व नगदी 17 हजार रुपए समेत करीब 40 हजार का माल बटोर कर फरार हो गए।
दुकान के ताले तोड़े : निशातपुरा पुलिस ने बताया कि करोंद निवासी महेश विश्वकर्मा की करोंद चौराहे पर मोबाइल की दुकान है। बीती रात अज्ञात बदमाश उनकी दुकान का ताला तोड़कर नोकिया कंपनी के करीब 30 हजार रुपए कीमत के मोबाइल चोरी कर ले गए।
हजारों की चोरी : ऐशबाग के गोविंद गार्डन में रहने वाले करण जीत सिंह ने बताया कि अज्ञात चोर उनके घर का ताला तोड़कर मोबाइल व नगदी 12 हजार रुपए समेत हजारों का माल चुरा ले गए।
घर का ताला तोड़ा : गोविंदपुरा थाना अंतर्गत साईं गार्डन अवधपुरी निवासी नीरज ठाकुर के मकान का ताला तोड़कर चोर 35 हजार कीमत का नया लैपटॉप लेकर भाग गए। फरियादी किसी काम से दोस्त से मिलने गया था, इस दौरान कमरे का दरवाजा खुला था।
दुकान से बैग गायब : कमलानगर  निवासी विशाल सोनी ने पुलिस को शिकायती आवेदन देते हुए बताया कि वह बुधवार रात दुकान का लॉकर बंद कर रहे थे और अपना बैग दुकान के काउंटर पर रखा था, जिसे अज्ञात बदमाश चोरी करके ले गए। बैग में नगदी 36 हजार रु पए सहित सोने के जेवर रखे थे।  सोने की चेन, कड़े, चांदी के जेवरात, लेपटाप, तीन मोबाइल, दो पासबुक, दो चेक व अन्य सामान सहित करीब 1 लाख 25 हजार का माल रखा हुआ था।
लैपटॉप व एलईडी चोरी : पिपलानी थाना अंतर्गत ए-सेक्टर के निजामुद्दीन कॉलोनी निवासी जमील अनवर खान के मकान का ताला तोड़कर चोर एक लैपटॉप, एलईडी व नकदी सहित 45 हजार का सामान लेकर चंपत हो गया। फरियादी दो दिन पहले शहर से बाहर गया था।

हथियार सप्लाई के बाद कमीशन मिलता था


पुलिस कल पेश करेगी हथियार तस्करों को
भोपाल। टीटी नगर पुलिस द्वारा बुधवार को गिरफ्तार किए गए आरोपियों ने पुलिस को बताया कि वह दतिया, भिंड, मुरैना से हथियार सप्लाई करने भोपाल, इंदौर व जबलपुर ले जाते थे इसके बदले में हमें कमीशन मिलता था। हथियार बनाने वाला गिरोह का मुखिया कोई और है। इस बारे में हमें जानकारी नहीं है। उन्होंने पुलिस को बताया कि ग्वालियर-चंबल संभाग के विभिन्न जिलों से भारी मात्रा में हथियारों की तस्करी हो रही है। पुलिस अभी आरोपियों से पूछताछ कर रही है।
गौरतलब है कि अवैध हथियारों की खरीद फरोख्त करने वाले गिरोह के सदस्यों को पुलिस ने बुधवार को न्यायालय में पेश कर दो दिन के रिमांड पर लिया है। पुलिस का अनुमान है कि पूछताछ में आरोपियों से और हथियार बरामद हो सकते हैं। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है। पुलिस के अनुसार हथियार खरीदने और बेचने वाले कुलदीप उर्फ राज दांगी, दिलीप दांगी, अरविंद दांगी और राधेश्याम को टीटी नगर इलाके में गिरफ्तार किया गया था। उनके पास से तीन पिस्टल और नौ कट्टे सहित एक दर्जन कारतूस बरामद किए थे। मामले का खुलासा होने के बाद पुलिस ने चारों आरोपियों को बुधवार देर शाम अदालत में पेश किया। जहां से पुलिस ने आरोपियों को दो दिन के रिमांड पर लिया है। अब पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि उन्होंने कितने लोगों को हथियार बेचे हैं।

पीएचक्यू से हटेगी आईपीएस महिला


- पत्नी द्वारा लगाए गए प्रमोद वर्मा पर अवैध संबंधों की जांच शुरू
भोपाल। ग्वालियर से एसपी पद से हटाकर पुलिस मुख्यालय पदस्थ किए गए एआईजी प्रमोद वर्मा की महिला मित्र को पीएचक्यू से शीघ्र ही हटाकर अन्यत्र तबादला किया जा रहा है। जिससे जांच में बाधा नहीं पड़े। इधर, प्रमोद वर्मा के अवैध संबंधों की जांच कर रही एडीजी सुषमा सिंह ने बताया कि उनकी पत्नी निधि वर्मा से पूछताछ करने के लिए भोपाल से एक टीम शीघ्र ही दिल्ली भेजी जा रही है। निधि वर्मा के बयान लेने के बाद प्रमोद वर्मा से संबंध रखने वाली महिला आईपीएस अधिकारी के बयान दर्ज किए जाएंगे इसके बाद में महिला सेल रिपोर्ट पुलिस मुख्यालय को कार्रवाई के लिए भेज देगा।
पीएचक्यू आएंगे वर्मा
इस बीच ग्वालियर एसपी पद से पुलिस मुख्यालय में एआईजी बनाए गए वर्मा की अवकाश अवधि समाप्त हो गई है। वर्मा तबादला होने के बाद से आईजी ग्वालियर आदर्श कटियार से अवकाश स्वीकृत करवाकर रवाना हो गए हैं। वह पुलिस मुख्यालय में शीघ्र ही आमद दे देंगे।
क्या था मामला
आईपीएस प्रमोद वर्मा की पत्नी निधि वर्मा ने दिल्ली से प्रदेश के डीजीपी नंदन दुबे को भेजे शिकायती ईमेल में एक महिला अधिकारी का नाम लिया था। वर्मा के कार्यकाल में ये महिला अफसर अनेक जिलों में साथ काम कर चुकी है। आरोप है कि वह काम के बहाने पुलिस अधीक्षक निवास आया करती थी और घंटों बंद कमरे में समय बिताया जाता था।

मंदिर से दानपेटी उठाकर ले गए युवक को पुलिस ने पकड़ा


- मां ने टीटी नगर पुलिस थाना जाकर दी थी सूचना
भोपाल। न्यू मार्केट स्थित हनुमान मंदिर में देर रात को चोरी करने वाले युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। युवक बुधवार देर रात को मंदिर की दानपेटी को उठाकर अपने साथ ले गया था। गुरुवार सुबह घर में बैठकर वह दानपेटी के पैसे गिन रहा था। तभी, उसकी मां ने मंदिर की दानपेटी को पहचान लिया। बेटे को खबर किए बिना मां चुपचाप टीटी नगर थाने पहुंची और पुलिस को इस बात की जानकारी दी।  युवक की मां ने पुलिस को बताया कि उसके बेटे मुकेश मेहरा के पास हनुमान मंदिर की दानपेटी है और वह घर पर बैठकर पैसे गिन रहा है। सूचना के बाद पुलिस ने मुकेश को उसके घर से गिरफ्तार कर लिया है।
पुजारी ने दी थी चोरी की जानकारी
चोरी का पता सुबह चला जब पुजारी राजेश पाणिग मंदिर आए। उन्होंने देखा कि मंदिर की दानपेटी टूटी थी और उसमें रखी नकदी गायब थी। चोर ने ऊपरी मंजिल पर राम दरबार और देवी दरबार की भी तिजोरियों का तोडऩे की कोशिश की थी लेकिन वह सफल नहीं हो सका। पुलिस युवक से पूछताछ कर रही है।
फोटो केप्शन
1 व 2. युवक मुकेश के पास से बरामद पैसे गिनते पुलिस अधिकारी।
3. आरोपी मुकेश मेहरा
4. हनुमान मंदिर में दानपेटी चोरी के बाद पुजारी लोगों को जानकारी देते हुए।


नियमितिकरण की मांग को लेकर सौंपा ज्ञापन


भोपाल। कोलार के गेहूंखेड़ा स्थित नगर पालिका कार्यालय में गुरुवार को कर्मचारी संघ के सम्मेलन का आयोजन हुआ। इसमें कर्मचारियों की समस्याओं और उनके कल्याणकारी कार्यक्रमों पर चर्चा हुई। कार्यक्रम में सीएमओ सत्येंद्र सिंह धाकरे, विधायक रामेश्वर शर्मा व विश्वास सांगर शामिल हुए। इस दौरान भारतीय मजदूर संघ से संबद्ध श्रमजीवी कर्मचारी संघ ने नपा में कार्यरत दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों के नियमितिकरण का मुद्दा उठाया। संघ की कोलार शाखा के अध्यक्ष पूरन लाल आदिवाल ने इस संबंध में विधायक रामेश्वर शर्मा व विश्वास सारंग को ज्ञापन सौंपा। साथ ही नपा में स्वीकृत पदों के विरुद्ध दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों को रखने की भी मांग की।

विज्ञान मॉडल बनाने के लिए मिलेंगे पांच हजार


भोपाल। विज्ञान के प्रति रुझान बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार ने विद्यार्थियों के लिए इंस्पायर अवार्ड देने की योजना बनाई है। इसमें हर स्कूल के दो छात्रों को मॉडल बनाने के लिए 5000-5000 रुपए देगी। इस राशि से माॉडल या प्रोजेक्ट बनाकर छात्र जिला स्तरीय प्रदर्शनी में शामिल हो सकते हैं। जिलास्तर पर बेहतर प्रदर्शन करने वाले छात्रों को राज्य स्तरीय प्रदर्शनी में शामिल होने का मौका मिलेगा। इस प्रदर्शनी में चयनित छात्रों को दिल्ली में राष्ट्रीय प्रदर्शनी में भाग लेने का मौका वर्ष 2015-16 में मिलेगा।
ऐसे होगा चयन
- सरकारी हो या गैर सरकारी, सीबीएसई हो या माध्यमिक शिक्षा मंडल, केंद्रीय स्कूल या फिर सैनिक स्कूल के बच्चे 6 वीं से 10वीं तक के बच्चे इसके पात्र होंगे।
- हर स्कूल के प्रधानाध्यपक द्वारा अपने स्कूल से दो बच्चों का नाम स्टेट अथोरिटी को भेजा जाएगा। स्टेट अथोरिटी द्वारा जानकारी नेशनल अथोरिटी को भेजी जाएगी।

जज की जगह आईपीएस को बना दिया मानवाधिकार आयोग का अध्यक्ष


भोपाल। मप्र मानवाधिकार आयोग में जज की जगह आईपीएस अधिकारी को अध्यक्ष पद के लिए अधिकृत किया गया है। इस संबंध में सामान्य प्रशासन विभाग ने बाकायदा राजपत्र में इसका प्रकाशन किया गया है। जबकि मानवाधिकार आयोग में अध्यक्ष के संवैधानिक पद पर सुप्रीम कोर्ट के जज या हाईकोर्ट जज को नियुक्त या प्राधिकृत किया जा सकता है। इस बारे में सामान्य प्रशासन विभाग के राज्य मंत्री लाल सिंह आर्य ने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया। सामान्य प्रशासन विभाग ने मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष के रूप में आईपीएस बीएम कंवर को प्राधिकृत किया है। इसके संबंध में सामान्य प्रशासन विभाग ने 22 जुलाई को आदेश जारी किया है। मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष की नियुक्ति या फिर कार्यवाहक अध्यक्ष के रूप में कार्य करने के संबंध में राजपत्र में अधिसूचना जारी की जाती है। आश्चर्य की बात तो यह है कि सामान्य प्रशासन विभाग ने बीएम कंवर को कार्यवाहक अध्यक्ष के रूप में नहीं बल्कि अध्यक्ष के रूप में कार्य करने के लिए प्राधिकृत किया है।

ऐसे की जाती है नियुक्ति
आयोग के अध्यक्ष या कार्यवाहक अध्यक्ष की नियुक्ति प्रदेश के राज्यपाल चयन समिति की अनुशंसा पर की जाती है। चयन समिति के अध्यक्ष मुख्यमंत्री होते हैं और विधानसभा अध्यक्ष, गृहमंत्री और नेता प्रतिपक्ष इस समिति के सदस्य होते हैं।

कौन रखता है अध्यक्ष बनने की पात्रता
आयोग के अध्यक्ष के लिए सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जस्टिस ही पात्रता रखते हैं। उनके न होने पर हाईकोर्ट के रिटायर्ड चीफ जस्टिस को कार्यवाहक अध्यक्ष बनाया जा सकता है। लेकिन ऐसे किसी भी सदस्य को जो जस्टिस नहीं है, उसे कार्यवाहक अध्यक्ष या प्राधिकृत अध्यक्ष नहीं बनाया जा सकता। इसके संबंध में मानवाधिकार संरक्षण अधिनियम में स्पष्ट प्रावधान किया गया है।

कई कोर्स बंद करने से स्टूडेंट्स नाराज


भोपाल। शहर के सरकारी कॉलेजों में संचालित पाठ्यक्रमों को बंद किए जाने के खिलाफ विभिन्न कॉलेजों के छात्र-छात्राओं ने गुरुवार को रैली निकाली। सरकारी कॉलेज बचाओ संघर्ष समिति के बैनर तले सड़क पर उतरे इन छात्रों ने रंगमहल चौराहे से रैली निकाली। रैली में शामिल छात्रों की मांग है कि सरकारी कॉलेजों में बंद किए जा रहे विभिन्न कोर्सों को यथावत चलने दिया जाए। छात्रों ने बताया कि शहर के 7 सरकारी कॉलेजों में विभिन्न कोर्सेस बंद होने से हमें काफी परेशानी हो रही है। समिति के सदस्य विजय कुमार ने बताया कि सरकारी कॉलेजों के भूगोल, अर्थशास्त्र, राजनीति शास्त्र, मनोविज्ञान एवं सांख्यिकी जैसे कोर्स बंद कराकर कॉलेज प्रबंधन आधुनिक सामाजिक विज्ञान को पंगु बना रहा है। इतना ही नहीं चित्रकला, संगीत व नृत्य जैसे कोर्सों को बंद करके ललित कलाओं की बुनियाद कमजोर की जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार के इस कदम से हजारों लड़कियां शिक्षा से वंचित हो रही हैं। हम प्रदेश के मुखिया सीएम शिवराज सिंह चौहान से मिलकर यह निवेदन करना चाहते हैं कि सरकारी कॉलेजों में संचालित हो रहे इन कोर्सों को बंद न करें।

शहर में रुक-रुककर हो रही बारिश


भोपाल। राजधानी में बीते तीन दिन से जारी बारिश गुरुवार को भी जारी रही। दिनभर रिमझिम बारिश होती रही। हालांकि इंदौर, उज्जैन संभाग में काफी पानी बरसा। मौसम विभाग का कहना है कि अब धीरे-धीरे बारिश में कमी आएगी। मंगलवार से बुधवार के बीच शहर में 1.70 सेमी पानी बरसा। मौसम केंद्र के वैज्ञानिक डॉ. अनुपम काश्यपी ने बताया कि प्रदेश में बना अबदाव कम दबाव के क्षेत्र में बदलकर गुजरात और राजस्थान की ओर चला गया है। इसी वजह से बारिश में कमी आई। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, शहर में अब तक 37.16 सेमी बारिश हो चुकी है। यह सामान्य से सिर्फ 5.77 प्रतिशत कम रह गई है। इस रिमझिम बारिश में फूलों, पत्तों और बाग-बगीचों की खूबसूरती और भी बढ़ा दी है। चारों ओर फैली हरियाली मन को खुशी दे रही है। रिमझिम बारिश का आनंद लेने के लिए लोग घरों से बाहर निकलकर राजधानी के वाटर पार्र और आस-पास स्थित डेम का रुख कर रहे हैं। 

शिकायत है, तो कोर्ट जाओ : प्रमुख सचिव


- प्री-मेडिकल टेस्ट की सीटों पर काउंसलिंग को लेकर विवाद जारी
भोपाल। प्री-मेडिकल टेस्ट की 170 सीटों को लेकर चल रही काउंसलिंग को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा। गुरुवार को कुछ छात्र पहले सीएम और उसके बाद प्रमुख सचिव से भी मिले। बुधवार को भी सीटों के गलत आवंटन को लेकर जमकर हंगामा हुआ था, जिसे बाद में सुधारा किया गया। गांधी मेडिकल कॉलेज (जीएमसी) में चल रही ऑल इंडिया प्री मेडिकल टेस्ट (एआईपीएमटी) की 170 सीटों की काउंसलिंग में गड़बडिय़ों की शिकायत लेकर गुरुवार को आधा दर्जन छात्र बीजेपी कार्यालय में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मिले। कुछ छात्र अपने अभिभावकों के साथ सुबह सीएम हाउस जा पहुंचे थे। वहां से उन्हें पता चला कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एक बैठक में शामिल होने प्रदेश भाजपा कार्यालय गए हैं। ये लोग तब वहां जा पहुंचे। यहां मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद उन्हें वल्लभ भवन बुलाया गया था। वहां छात्रों ने प्रमुख सचिव मेडिकल एजुकेशन अजय तिर्की से मुलाकात की। छात्रों के मुताबिक, प्रमुख सचिव ने कहा है कि, काउंसलिंग नियमानुसार हो रही है। जिनको शिकायत है, वे कोर्ट जा सकते हैं।

विजयराघवगढ़ से संजय व बहोरीबंद से प्रणय होंगे भाजपा प्रत्याशी

विधानसभा उप चुनाव

भोपाल। मप्र की तीन विधानसभा सीटों के लिए अगले महीने होने वाले उपचुनाव में प्रत्याशियों के नामों पर चर्चा करने के लिए गुरुवार को प्रदेश भाजपा चुनाव समिति की बैठक हुई। इसमें प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नरेंद्र सिंह तोमर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह, पूर्व सांसद कैलाश जोशी आदि मौजूद थे। बैठक में कटनी जिले की विजयराघवगढ़ से संजय पाठक और बहोरीबंद से दिवंगत विधायक प्रभात पांडे के पुत्र प्रणय का नाम पर सहमति बन गई है। हालांकि आगर सीट को लेकर अभी कोई निर्णय नहीं लिया गया है। आगर सीट पर दो पूर्व विधायक रेखा रत्नाकर, गोपाल परमार तथा स्थानीय नेता राजाराम मालवीय दावेदारी जता रहे हैं। बहोरीबंद और आगर भाजपा के पास थीं, जबकि विजयराघवगढ़ सीट कांग्रेस ने जीती थी। विजयराघवगढ़ सीट जीतने वाले संजय पाठक लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस का हाथ छोड़कर भाजपा के पाले में आ गए थे। बैठक के बाद नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि, नामों पर अंतिम मोहर केंद्रीय अध्यक्ष से चर्चा के बाद लगाई जाएगी।

व्यापमं फर्जीवाड़ा मामले पर दिल्ली में धरना दिया कांग्रेसियों ने


मप्र कांग्रेस की दिल्ली से दहाड़, नहीं मानेंगे हार!
भोपाल। व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापमं) में हुई गड़डिय़ों को देश का सबसे बड़ा घोटाला मानती आ रही मप्र कांग्रेस ने गुरुवार को नई दिल्ली में जंतर-मंतर पर धरना दिया। धरने पर प्रदेश कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव, मप्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष सत्यदेव कटारे, विधायक बाला बच्चन, सचिन यादव, जीतू पटवारी, शैलेंद्र पटेल, जयवर्धन सिंह और प्रदेश युवक कांग्रेस अध्यक्ष कुणाल चौधरी विशेषतौर पर मौजूद थे। मप्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष सत्यदेव कटारे ने आरोप लगाया है कि, प्रदेश सरकार इन दोनों घोटालों में गहराई से लिप्त है। यही कारण है कि, वो लगातार इन दोनों मामलों को दबाने में लगी है। उन्होंने कहा कि, हम यहां यह बताने आए हैं कि, मप्र बाहर से जैसा दिखता है, वैसा है नहीं।

मप्र में संवैधानिक संकट
बुधवार को भोपाल में नेता प्रतिपक्ष कटारे ने आरोप लगाया था कि, मौजूदा सरकार के कार्यकाल में यह स्थिति हो गई है कि, जहां हाथ डालो, वहीं घोटाला निकलता है। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की पर्चियों के आधार पर नौकरियां मिल रही हैं। पर्ची लिखवाकर लाओ और नौकरी पाओ।

विधानसभा में गूंजते रहे दोनों मामले
व्यापमं और एमपीएससी गड़बड़ी को लेकर कांग्रेस विधायक विधानसभा सत्र के दौरान लगातार सरकार पर हमले करते रहे। कांग्रेस विधायक काला एप्रिन पहनकर विधानसभा पहुंचे, तो दो-तीन बड़े प्रदर्शन तक कर दिए। हालांकि सरकार इन दोनों आरोपों को नकारती रही है। इन आरोपों पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्वयं प्रेस कांफ्रेंस लेते हुए कहा था कि, व्यापमं घोटाले की एसटीएफ निष्पक्ष जांच कर रही है। इसलिए उसे सीबीआई को सौंपे जाने का कोई मतलब नहीं है। उन्होंने एमपीपीएसी में अपनी भांजी के चयन को भी सही ठहराया था। विधानसभा में सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री लाल सिंह आर्य ने कांग्रेस के जवाबों का स्पष्टीकरण देते हुए कहा था कि, मुख्यमंत्री की भांजी के चयन में कोई गड़बड़ी नहीं है।

ईद की खुशियां मातम में बदली , यात्री बस ने किशोर को कुचला



भोपाल। अशोका गार्डन इलाके के 80 फिट रोड पर रहने वाले एक परिवार की ईद की खुशियां गुरुवार शाम मातम में बदल गईं। उनका एक लाड़ला सड़क हादसे का शिकार हो गया। घटना में उसकी मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। यह हादसा मंगलवार इलाके में भारत टाकीज ओवरब्रिज पर हुआ। गुरुवार शाम कोई साढ़ सात बजे एक तेज रफ्तार बस ने स्कूटी पर सवार मासूम को कुचल दिया। घटनास्थल पर ही असत की मौके पर मौत हो गई। सूचना मिलते ही पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए। घटना इतनी दर्दनाक थी कि देखने वालों के दिल दहल गए। मौके से मासूम के शव को तत्काल मेडिकोलीगल संस्थान भेजा गया। पुलिस ने न्यू स्टार ट्रेवल्स की बस क्रमांक एमपी 40 पी-1123 के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

पुलिस के मुताबिक 80 फिट अशोकागार्डन में रहने वाला असद (12) स्कूटी पर सवार होकर भारत टाकीज ओवरब्रिज से घर लौट रहा था। इसी दौरान सामने से आ रही न्यू स्टार ट्रेवल्स बस ने तेज और लापरवाही वाहन चलाते हुए कुचल दिया। हादसा इतना दर्दनाक था कि मौके पर ही असद की मौत हो गई। घटना में वाहन भी क्षतिग्रसत हो गया। पुलिस को राहगीरों ने सूचना दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने बस को जब्त कर लिया है। आरोपी चालक के खिलाफ गैरइरादतन हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है।
ये दोस्ती हम न तोड़ेंगे

असद बेहद ही चंचल और मिलनसार स्वभाव का किशोर था। वह अपनी 12 साल की उम्र में रिश्तों को भी गंभीरता को समझने लगा था। उसके मामा के मोबाइल में उसकी एक वीडियो देखकर सबकी आंखों से आंसू टपक रहे थे। अपने दोस्त के साथ वह ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे गाता हुआ नजर आ रहा था। वही दोस्त आज रो-रोकर कह रहा था असद तू दोस्ती तोड़कर मुझे अकेला छोड़कर चला गया। ईद की तैयारियों में लगे असद के परिवार का रो-रोकर बुरा हाल है। वह थोड़ी-थोड़ी देर में असद को याद करके अचेत हो जाते हैं। उनका कहना है कि अब असद के ईद के कपड़े कौन पहनेगा।

शुक्रवार, 11 जुलाई 2014

संक्षिप्त क्राइम समाचार


बहला फुसलाकर ले गया युवक
छोला मंदिर थाना अंतर्गत उडिय़ा बस्ती में भागीरथ प्रसाद रहते हैं। उनकी 13 वर्षीय किशोरी कल शाम बाजार जा रही थी, तभी कमलेश अहिरवार नामक युवक उसे बहला फुसलाकर भगा ले गया।
जेवर उड़ा ले गए चोर
कमला नगर थाना अंतर्गत नेहरू कॉलोनी निवासी अनिल मोहतकर के मकान का ताला तोड़कर चोर सोने के मंगलसूत्र, हार व नकदी सहित 30 हजार का सामान लेकर चंपत हो गए।
ताला चटकाकर की चोरी
जहांगीराबाद थाना अंतर्गत बरखेड़ी निवासी अवेधश प्रताप सिंह के मकान का ताला चटकाकर चोर यहां से तीन मोबाइल, एटीएम व नकदी लेकर भाग गया। चोरी गए सामान की कीमत 35 हजार रुपए बताई गई है।
कोलार में सामान चोरी
कोलार थाना अंतर्गत पैलेस आर्चीज निवासी डॉ. सुमित उपरेती के मकान का ताला तोड़कर चोर यहां से 30 हजार रुपए नकद, नल की टोंटी व डीवीडी लेकर भाग गया। चोरी उस वक्त हुई जब डॉक्टर किसी परिचित से मिलने गए थे। इस दौरान मकान सूना था।
सट्टा खिलाते तीन धराए
भोपाल। बीती रात कोहेफिजा पुलिस ने विजय नगर इलाके से राधेश्याम सोनी को सट्टा खिलाते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसके कब्जे से 19 हजार रुपए एवं टीला जमालपुरा पुलिस ने आरबीआई कॉलोनी से लखन सिंह व देवी सिंह के कब्जे से 10 हजार 200 रुपए एवं सट्टा पर्ची जब्त की है।
जलने से दो की मौत
टीटी नगर थाना अंतर्गत निवासी राजा साल्वे (19)खाना बनाते समय झुलस गया था। उसे नर्मदा अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया। इधर, निशातपुरा निवासी नगमा पति आमिर (22)ने उपचार के दौरान हमीदिया अस्पातल में दम तोड़ दिया। उसे जली हुई अवस्था में भर्ती कराया गया था।
















 










युवती व महिला से किया दुष्कर्म


भोपाल। दो अलग-अलग स्थानों पर युवितयों के साथ दुष्कर्म के मामले सामने आए हैं। अशोकागार्डन पुलिस के अनुसार प्रगति नगर चौराहा निवासी 19 वर्षीय युवती को गोलू (22)ने शादी का झांसा देकर उसे 20 जून को बहला फुसलाकर भगा ले गया। इस दौरान उसने युवती के साथ दुष्कर्म किया। जब युवती ने शादी के लिए दबाव बनाया तो वह मुकुर गया। इधर, निशातपुरा थाना अंतर्गत रतन कॉलोनीस करोंद निवासी 22 वर्षीय महिला से उसके नंदोई बलवीर अहिरवार ने बलात्कार कर डाला। पुलिस के अनुसार महिला घर में अकेली थी। जबकि पति बाहर गया हुआ था। पति के वापस आने पर महिला ने घटना के बारे में बताया। फरियादिया की शिकायत पर पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया। आरोपी फरार बताया जा रहा है।

उपमन्यु सक्सेना की संपत्ति होगी कुर्क


भोपाल। राजीव गांधी कॉलेज की असिस्टेंट प्रोफेसर इंदु शर्मा आत्महत्या मामले में फरार टीआई उपमन्यु सक्सेना के शुक्रवार को सरेंडर नहीं करने के बाद पुलिस अब उसकी संपत्ति कुर्क करेगी। गौरतलब है कि 11 जुलाई को उपमन्यु सक्सेना को सरेंडर करना था। कोर्ट के बाहर पुलिस उसकी राह तकती रही लेकिन उसका कहीं सुराग नहीं लगा। न्यायालय के आदेश पर अब फरार टीआई की संपत्ति कुर्क की कार्रवाई पुलिस कल से शुरू करेगी।

पेपर व्यापारी को लगाया 15 लाख रुपए का चूना


- चेक बाउंस होने के बाद फरियादी ने की शिकायत, पुलिस की टीम जाएगी गुजरात

भोपाल।
राजधानी में धोथाधड़ी के मामले लगातार सामने आने से यहां से व्यापारियों को लाखों रुपये का चूना लग रहा है। ऐसा ही एक मामला एमपी नगर इलाके में सामने आया है।
एमपी नगर टीआई बृजेश भार्गव के अनुसार आकांक्षा अपार्टमेंट एमपी नगर जोन वन में विनोद भार्गव पिता किशन चंद भार्गव (49) की पेपर ट्रेड लिंक के नाम से फर्म है। वह कई सालों से विभिन्न कंपनियों को कागज सप्लाई कर रहे हैं। 22 जुलाई 2013 को उनके पास मालवीय नगर, भोपाल स्थित गुजरात की कंपनी डाक्यू प्रिंट प्रा. लि. के ब्रांच मैनेजर मुकेश पटेल व कन्हैयालाल पहुंचे एवं 15 लाख रुपए कागज सप्लाई का ऑर्डर बुक किया। पेपर लिंक के संचालक विनोद भार्गव ने 15 लाख रुपए कीमत का आर्डर सप्लाई कर दिया। इसके बदले में डाक्यूप्रिंट प्रा. लि. ने अहमदाबाद की एक प्राइवेट बैंक के चेक भुगतान के लिए दिए थे। जो नियत समय पर भुगतान हेतु लगाने पर चेक बाउंस हो गए।

चेक दिए, नहीं हुआ भुगतान
विनोद भार्गव का कहना है कि मालवीय नगर स्थित कंपनी के दफ्तर में चेक का भुगतान करने के लिए कई बार चक्कर लगाए लेकिन मुकेश पटेल व कन्हैया लाल ने बहाने बनाकर जल्द भुगतान हो जाएगा, कहते रहे। लेकिन उन्होंने किसी भी प्रकार का भुगतान नहीं किया।

एक सप्ताह से ऑफिस बंद
कल दोपहर में जब विनोद भार्गव कंपनी के मालवीय नगर स्थित दफ्तर पहुंचे तो यहां का नजारा देख वह भौचक्के रह गए। कंपनी के दफ्तर का ताला जड़ा हुआ था। आसपास के लोगों से पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि कंपनी का दफ्तर एक सप्ताह से बंद है।

इनका कहना है
विनोद भार्गव नाम व्यापारी ने डाक्यूप्रिंट प्रा. लि. अहमदाबाद, गुजरात के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
- बृजेश भार्गव, टीआई, एमपी नगर

आम आदमी से कम, पुलिस से दोगुना जुर्माना


- बिना हेलमेट पहने पुलिस कर्मी वाहन नहीं चला पाएंगे
- डीआईजी ने भेजा सभी थानों को फरमान


भोपाल।
हेलमेट अभियान पर पुलिस की किरकिरी इससे हुई कि आधे से ज्यादा पुलिस वाले बिना हेलमेट के दो पहिया वाहन चलाते हैं और पुलिस वाले उनके ही साथ होने के नाते चालान नहीं बनाते। आम आदमी का चालान तो तुरंत बना दिया जाता है। किन्तु अब ऐसा नहीं होगा। सभी वाहन चालकों को अच्छा संदेश देने के उद्देश्य से पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि अब यदि कोई पुलिस वाला बिना हेलमेट पहने दिखा तो उसके विरूद्ध दो गुना जुर्माना किया जाएगा। इसके बाद ही उसने हेलमेट पहनना शुरू नहीं किया तो अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

खाकी वाले भी पहनें हेलमेट
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने माना कि वैसे तो काफी लोग अब सड़कों पर दो पहिया वाहन चलाते समय हेलमेट पहनने लगे हैं,किन्तु अधिकांश पुलिस वाले वर्दी की धमक के कारण हेलमेट पहनना जरूरी नहीं समझते। इससे अन्य दो पहिया वाहन चालकों में अच्छा संदेश नहीं जाता। यही कारण है कि पुलिस वालों को यह कहा गया है कि यदि कोई पुलिस वाला बिना हेलमेट के दो पहिया वाहन चलाता मिले तो उससे आम आदमी से वसूले जाने वाले जुर्माने का दोगुना जुर्माना वसूला जाए। इसके साथ ही यह भी कहा जाएगा कि यदि एक- दो बार जुर्माने के बाद भी पुलिस वाला हेलमेट नहीं पहने तो उसके विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाए। पिछले दो माह से राजधानी में हेलमेट चेकिंग अभियान लगभग ठप सा पड़ा है। हालांकि कभी-कभी कुच बिना हेलमेट पहने युवकों को पकड़कर पुलिस कंट्रोल रूम ले जाती है फिल्म दिखाने।

इनका कहना है
यह सही है कि काफी पुलिस वाले हेलमेट नहीं पहनते। अब ऐसे पुलिस वालों से दोगुना जुर्माना करेंगे। अभी हेलमेट चेकिंग अभियान चालू है।
- डी श्रीनिवास वर्मा, डीआईजी

तुकोगंज टीआई निलंबित, वकीलों की हड़ताल खत्म


भोपाल/ इंदौर। इंदौर में वकीलों के साथ दुव्र्यवहार के मामले में तुकोगंज थाना प्रभारी को कन्हैयालाल दांगी को निलंबित कर दिया गया है। यह घोषणा विधानसभा में गृह मंत्री बाबूलाल गौर ने की। वहीं इस निर्णय के बाद इंदौर में वकीलों ने अपनी हड़ताल खत्म कर दी। विधानसभा में शुक्रवार को कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने ध्यानाकर्षण सूचना में इंदौर के वकीलों के साथ दुव्र्यवहार और उनकी थाना प्रभारी के खिलाफ कार्रवाई को लेकर दिए जा रहे धरने का मामला उठाया था। इसके जवाब में गृह मंत्री ने दुव्र्यवहार के आरोप में तुकोगंज थाना प्रभारी दांगी को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने का आश्वासन दिया। साथ ही कहा कि पूरे मामले की पीएचक्यू से वरिष्ठ अधिकारी को भेजकर जांच कराई जाएगी।

फर्जी खाता खोलने वाली बैंकों पर कसा शिकंजा


- सीआईडी ने बैंक व टेलीकॉम कंपनियों को भेजा नोटिस


भोपाल।
प्रदेश में सरकारी गैर सरकारी वित्तीय संस्थाएं और टेलीकॉम कंपनियों के नेटवर्क का इस्तेमाल हवाला कारोबार में होने का खुलासा करने के बाद सीआईडी मुख्यालय ने प्रदेश के सभी बैंक और सेल्यूलर कंपनियों को नोटिस जारी किए हैं। संस्थाओं से कहा गया है कि उनके नेटवर्क का इस्तेमाल हवाला कारोबार में नहीं हो रहा है, इस बात की तस्दीक के लिए संस्थाएं अपने स्तर पर जांच करवाएं। सीआईडी मुख्यालय ने साफ किया है कि यदि जांच और प्रकरणों में किसी संस्था का नाम हवाला कारोबार के नेटवर्क में आता है तो कंपनी प्रतिनिधियों पर भी प्रकरण दर्ज किए जाएंगे। एडीजी सीआईडी राजीव टंडन ने बताया कि इससे पहले पाकिस्तान से संचालित होने वाले हवाला रैकेट का खुलासा किया गया था। गिरोह के तीन सदस्य राजधानी से लोगों को ठगने का कारोबार चला रहे थे। पकड़े गए आरोपियों के पास से 21 लाख रुपए कैश, 32 एटीएम कार्ड और 28 सिमी कार्ड बरामद किए गए थे। जांच में पाया गया कि सभी बैंक खाते फर्जी नाम पतों पर खुले थे और एटीएम कार्ड से संचालित होते थे। इसी प्रकार जारी सिम कार्ड भी फर्जी नाम पतों पर रजिस्टर्ड थे, जिनसे लोगों को फोन कर लॉटरी खुलने और खातों में रुपए जमा कराने का झांसा दिया जाता था। इस मामले में सीआईडी पाकिस्तान से गिरोह का संचालन करने वाले व्यक्तियों की धरपकड़ के लिए इंटरपोल का सहारा लेने जा रही है। इस संबंध में अधिकारियों से बातचीत हो चुकी है।

पीडब्ल्यूडी के कार्यपालन यंत्री शर्मा निलंबित



भोपाल । लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री पंकज शर्मा को अभियोग पत्र प्रस्तुत होने के साथ ही विभाग द्वारा निलंबित किए जाने के आदेश जारी किए है।
शर्मा जब लोक निर्माण विभाग होशंगाबाद में पदस्थ थे, तब उनके विरूद्ध पुलिस अधीक्षक, विशेष पुलिस स्थापना लोकायुक्त कार्यालय भोपाल द्वारा कार्रवाई की गई थी। उक्त कार्रवाई के चलते विशेष प्रकरण दिनांक 28 जून को विशेष न्यायालय, होशंगाबाद में अभियोग पत्र प्रस्तुत किया गया है। इसलिए मप्र शासन द्वारा तत्कालीन कार्य पालन यंत्री होशंगाबाद पंकज शर्मा जो कि वर्तमान में कार्यपालन यंत्री मुख्यमंत्री युवा कांट्रेक्टर योजना, कार्यालय प्रमुख अभियंता में पदस्थ थे। उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित किए जाने के आदेश विभाग ने जारी कर दिए है।
शर्मा का निलंबन अवधि में मुख्यालय कार्यालय प्रमुख अभियंता लोक निर्माण भोपाल रखा गया है। शर्मा को नियमानुसार जीवन निर्वहन भत्ता मिलेगा।

जर्मनी में भी रही भोपाल टेस्ट ट्यूब बेबी सेंटर की गूंज


म्यूनिख में आयोजित अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेंस में शामिल होकर स्वदेश लौटे डॉ. सिंह दम्पति


कांफ्रेंस में भारत की ओर से पहली बार चार रिसर्च पेपर प्रस्तुत कर हासिल की नई उपलब्धि


भोपाल।
कई अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेंस में भाग लेकर अपनी प्रतिभा और शोधपत्र का लोहा मनवा चुके भोपाल टेस्ट ट्यूब बेबी के संचालक डॉ. रणधीर सिंह और मोनिका सिंह ने जर्मनी के म्यूनिख में आयोजित अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेंस में    ज्ञानवर्धक व्याख्यान और उपयोगी शोधपत्र प्रस्तुत कर दुनिया भर के उपस्थित चिकित्सों की वाहवाही बटोरी। डॉ. सिंह दम्पत्ति ने कांफ्रेंस में चार रिसर्च पेपर प्रस्तुत कर एक बार फिर विश्व स्तर पर सफलता के झंडे गाड़ दिए हैं। टेस्ट ट्यूब बेबी के क्षेत्र में नई खोज और तकनीक को लेकर आयोजित इस अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेंस में डॉ. रणधीर सिंह और मोनिका सिंह एक मात्र दंपति थे, जिन्हें भारत की ओर से एक साथ चार रिसर्च पेपर प्रस्तुत करने का निमंत्रण मिला था। उम्मीद के मुताबिक डॉ. सिंह दंपत्ति ने भारत की ओर से चार रिसर्च पेपर प्रस्तुत कर कांफ्रेंस में उपस्थित दुनियाभर के लगभग दस हजार डाक्टरों को दांतों तले अंगुली दबाने को मजबूर कर दिया। कांफ्रेंस में विश्व प्रसिद्ध डॉक्टर राय हॉम्बर्ग ने दिल खोलकर सिंह दंपत्ति के ज्ञानवर्धन व्यााख्यान और शोध पत्र की सराहना करते हुए कहा, डॉ. सिंह दंपत्ति के शोधपत्र काबिलेतारीफ हैं, जो यहां उपस्थित दुनिया भर के चिकित्सों का मार्गदर्शन करेंगे और टेस्ट ट्यूब बेबी की नई तकनीक से दुनिया भर के लोग रूबरू हो सकेंगे। भारत से लगभग 100 चिकित्सकों ने भाग लेकर कांफ्रेंस का लाभ उठाया। डॉ. सिंह दंपत्ति ने 30 जून और 1 जुलाई को अपने शोधपत्र तथा व्याख्यान प्रस्तुत किए। अपनी प्रतिभा और खोज के दम पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर निरंतर प्रसिद्ध अर्जित कर रहे डॉ. रणधीर  और मोनिका सिंह को कम कीमत पर टेस्ट ट्यूब बेबी सुविधा उपलब्ध कराने का श्रेय भी जाता है। इन्होंने अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेंस एएसआरएम, यूएसए बोस्टॅन में कम कीमत पर टेस्ट ट्यूब बेबी की तकनीक को पहली बार दुनिया के सामने प्रस्तुत कर बताया था कि अब गरीब नि: संतान दम्पति जिनकी उम्र कम है, कम कीमत में नई तकनीक द्वारा टेस्ट ट्यूब बेबी के माध्यम से संतान सुख प्राप्त कर सकते हैं। उनके द्वारा गरीब माता-पिता को दी गई इस सौगात की दुनिया भर में सराहना होती है। टेस्ट ट्यूब बेबी की नई तकनीकों के सफलतापूर्वक संचालन के लिए सिंह दंपत्ति को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई सम्मान मिल चुके हैं। अपनी शुरुआत से लेकर अब तक भोपाल टेस्ट ट्यूब बेबी सेंटर में 1500 से अधिक स्वस्थ बच्चों का जन्म हुआ है। शहर में टेस्ट ट्यूब बेबी सेंटर शुरू करने का श्रेय डॉ. रणधीर सिंह और डॉ. मोनिका सिंह को ही जाता है।  

इन विषयों पर रिसर्च पेपर

भोपाल टेस्ट ट्यूब बेबी के संचालक रणधीर सिंह और मोनिका सिंह ने म्यूनिख जर्मनी में आयोजित अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेंस में चार प्रमुख विषयों पर रिसर्च पेपर प्रस्तुत किए, जिनमें पहला टेस्ट ट्यूब बेबी में भ्रूण प्रत्यारोपण की नई तकनीक की खोज, दूसरा अधिक उम्र की महिलाओं के लिए भी अब टेस्ट ट्यूब बेबी संभव, तीसरा टी.बी. से ग्रस्त मरीजों में टेस्ट ट्यूब बेबी तकनीक में सुधार, चौथा विषय कम कीमत एवं कम समय में टेस्ट ट्यूब बेबी अब संभव था। 

नई तकनीक से हर कोई ले सकेगा संतान सुख
भोपाल टेस्ट ट्यूब बेबी सेंटर के अथक प्रयासों से अब अमीर, गरीब तथा मध्यम वर्ग हर किसी को संतान सुख की सौगात मिल सकेगी। भोपाल टेस्ट ट्यूब बेबी सेंटर में देश-विदेश के कई मध्यम परिवार के नि:संतान दम्पत्तियों ने संतान सुख प्राप्त किया है। यह चमत्कार भोपाल टेस्ट ट्यूब बेबी सेंटर के संचालक डॉ. रणधीर सिंह और डॉ. मोनिका सिंह द्वारा नित नई तकनीक पर शोध के चलते संभव हुआ।

सेंटर में बच्चों का निशुल्क परीक्षण एवं टीकाकरण
भोपाल टेस्ट ट्यूब बेबी सेंटर की खासियत है कि यहां बेबी के जन्म के बाद भी माता-पिता और बच्चे से आत्मीय संबंध बनाए रखा जाता है। इसके लिए हर साल सेंटर द्वारा बच्चों का निशुल्क परीक्षण एवं टीकाकरण किया जाता है। साथ ही बच्चों को तरह-तरह के पुरस्कारों से नवाजा जाता है। यहां पर बच्चों के माता-पिता अलग-अलग राज्यों से आते हैं। संतान सुख मिलने के बाद उनके चेहरे पर खुशियां देखते बनती हैं।