गुरुवार, 28 नवंबर 2013

केबीसी-7 की पहली महिला करोड़पति बनीं फिरोज फातिमा




- राजकुमार सोनी
भोपाल। लोकप्रिय क्विज शो 'कौन बनेगा करोड़पति के सातवें संस्करण को अपनी पहली महिला करोड़पति युवा फिरोज फातिमा के रूप में मिल गई।  उत्तर प्रदेश के सहारनपुर की रहने वाली 22 वर्षीय फिरोज फातिमा ने गेम शो के इस संस्करण में एक करोड़ की ईनामी राशि जीती है और कार्यक्रम के सातवें संस्करण में ऐसा करने वाली वे पहली महिला बन गई हैं। इस चर्चित कार्यक्रम की मेजबानी मेगास्टार अमिताभ बच्चन करते हैं। बीएससी में स्नातक फिरोज ने कभी नहीं चाहा कि उनकी बहन आर्थिक समस्याओं के कारण पढ़ाई छोड़े। इसलिए उन्होंने अपनी आगे की पढ़ाई को जारी नहीं रखा। इस गेम शो में भाग लेने का फिरोज का एकमात्र मकसद इतनी रकम जीतना था जिससे वे अपने दिवंगत पिता द्वारा लिए गए कर्ज को चुका सकें। उन्होंने सारी जानकारी समाचार पत्र और समाचार चैनलों को देखकर हासिल की। फिरोज ने कहा, ''जब मैं अंतिम दूसरी कड़ी में हॉट सीट तक पहुंचने में असफल रही तब मैं बहुत घबराई हुई थी, मुझे यही लगा कि अब मुझे खाली हाथ ही घर वापस जाना होगा। लेकिन तब मैंने फास्टेस्ट फिंगर फस्र्ट राउंड जीता और हॉट सीट तक पहुंची। जब तक दर्शकों ने तालियां नहीं बजाईं और बच्चन जी ने मुझे गले नहीं लगाया तब तक मुझे ये एहसास नहीं था कि मैं एक करोड़ की राशि जीत चुकी हूं। ये बहुत अच्छा एहसास है। जीत की रकम से फिरोज चाहती हैं कि वे अपनी आगे की पढ़ाई पूरी करें और अपनी मां को तनावमुक्त जीवन दें। सोनी एंटरटेनमेंट चैनल पर प्रसारित होने वाले इस कार्यक्रम की यह कड़ी एक दिसंबर को प्रसारित की जाएगी।

बुधवार, 27 नवंबर 2013

भविष्यवाणी : भाजपा को 117 से 125 सीटें मिलेंगी




मप्र में सूर्य लगवाएगा भाजपा की हैट्रिक
कांग्रेस को मिलेंगी 85 से 100 सीटें
- राजू स्वर्णकार
भोपाल।
सूर्य के तुला राशि से वृश्चिक राशि में आने से 25 नवंबर को हुए जबरदस्त मतदान की वजह से प्रदेश में पहली बार भारतीय जनता पार्टी हैट्रिक लगाकर एक नया इतिहास रचने जा रही है। 50 वर्षों के इतिहास में कोई भी सरकार मप्र में 10 साल से अधिक कार्यकाल पूरा नहीं कर पाई लेकिन इस बार यह इतिहास पहली बार लिखा जाएगा। वहीं कांग्रेस में एक जुटता एवं केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को कमान सौंपे जाने से इस बार कांग्रेस की सीटें बढ़कर 85 से 100 तक पहुंच जाएंगी।
लालकिताब विशेषज्ञ एवं प्रसिद्ध भविष्य वक्ता पंडित आशीष शुक्ल, इंदौर  ने दावा किया कि चंद्र-मंगल की युति व ग्रहों के राजा सूर्य के तुला राशि से वृश्चिक राशि में प्रवेश करने से भारतीय जनता पार्टी को मतदाताओं का सीधा लाभ मिल रहा है। 16 नवंबर को सूर्य के राशि परिवर्तन से भाजपा को 117 से 125 सीटें प्राप्त कर मध्यप्रदेश में तीसरी बार सरकार बनाएगी। उन्होंने कहा कि 10 साल से वनबास काट रही कांग्रेस पार्टी को भी इस बार 2008 में मिली 71 सीटों की तुलना में 20 से 30 सीटों का फायदा मिलेगा। कांग्रेस को इस बार 90 से 100 सीटें मिलेंगी।
चैतन्य भविष्य जिज्ञासा शोध संस्थान भोपाल के संचालक आचार्य पंडित राज के अनुसार विधानसभा में इस बार कांग्रेस-भाजपा में कांटे के  मुकाबले के तहत भारतीय जनता पार्टी अंतत: सरकार बनाने में कामयाब हो जाएगी। चंद्र-मंगल व सूर्य के शुभ प्रभाव से सत्तादल भाजपा को अच्छा लाभ मिलेगा।
ज्योतिषाचार्य पंडित धर्मेंन्द्र का कहना है कि यही मतदान अगर 25 नवंबर की तुलना में 15 नवंबर के आसपास होता तो कांग्रेस को 140 से 145 सीटें मिल सकती थीं। क्योंकि तुला राशि का सूर्य सत्तासीन सरकार के लिए लाभदायक नहीं होता। चूंकि सूर्य के वृश्चिक राशि में प्रवेश होने से इसका लाभ भाजपा सरकार को मिलेगा। भाजपा को इस बार 120 से 125 सीटें मिलेगी जबकि कांग्रेस 85 से 95 सीटों तक सिमट कर रह जाएगी।
ज्योतिषाचार्य पंडित विष्णु राजौरिया के अनुसार चंद्र, मंगल व सूर्य के प्रबल योग से सत्तासीन भाजपा सरकार तीसरी बार सरकार बनाकर आम लोगों के लिए जनकल्याणकारी योजनाएं बनाएगी। उन्होंने कहा कि  हालांकि कांग्रेस इस बार विपक्ष की भूमिका आक्रमक रूप में अपनाएगी जिससे नई सरकार को कई बार दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। लेकिन अंततोगत्वा सरकार अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी।

मंगलवार, 26 नवंबर 2013

मप्र में सूर्य लगवाएगा भाजपा की हैट्रिक



  • सत्तासीन दल को 117 से 125 सीटें मिलेंगी
  • कांग्रेस को मिलेंगी 85 से 100 सीटें
- राजू स्वर्णकार
भोपाल।
सूर्य के तुला राशि से वृश्चिक राशि में आने से 25 नवंबर को हुए जबरदस्त मतदान की वजह से प्रदेश में पहली बार भारतीय जनता पार्टी हैट्रिक लगाकर एक नया इतिहास रचने जा रही है। 50 वर्षों के इतिहास में कोई भी सरकार मप्र में 10 साल से अधिक कार्यकाल पूरा नहीं कर पाई लेकिन इस बार यह इतिहास पहली बार लिखा जाएगा। वहीं कांग्रेस में एक जुटता एवं केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को कमान सौंपे जाने से इस बार कांग्रेस की सीटें बढ़कर 85 से 100 तक पहुंच जाएंगी।

चैतन्य भविष्य जिज्ञासा शोध संस्थान के संचालक आचार्य पंडित राज ने दावा किया कि चंद्र-मंगल की युति व ग्रहों के राजा सूर्य के तुला राशि से वृश्चिक राशि में प्रवेश करने से भारतीय जनता पार्टी को मतदाताओं का सीधा लाभ मिल रहा है। 16 नवंबर को सूर्य के राशि परिवर्तन से भाजपा को 117 से 125 सीटें प्राप्त कर मध्यप्रदेश में तीसरी बार सरकार बनाएगी। उन्होंने कहा कि 10 साल से वनबास काट रही कांग्रेस पार्टी को भी इस बार 2008 में मिली 71 सीटों की तुलना में 20 से 30 सीटों का फायदा मिलेगा। कांग्रेस को इस बार 90 से 100 सीटें मिलेंगी।

ज्योतिषाचार्य पंडित धर्मेंन्द्र का कहना है कि यही मतदान अगर 25 नवंबर की तुलना में 15 नवंबर के आसपास होता तो कांग्रेस को 140 से 145 सीटें मिल सकती थीं। क्योंकि तुला राशि का सूर्य सत्तासीन सरकार के लिए लाभदायक नहीं होता। चूंकि सूर्य के वृश्चिक राशि में प्रवेश होने से इसका लाभ भाजपा सरकार को मिलेगा। भाजपा को इस बार 120 से 125 सीटें मिलेगी जबकि कांग्रेस 85 से 95 सीटों तक सिमट कर रह जाएगी।

ज्योतिषाचार्य पंडित विष्णु राजौरिया के अनुसार चंद्र, मंगल व सूर्य के प्रबल योग से सत्तासीन भाजपा सरकार तीसरी बार सरकार बनाकर आम लोगों के लिए जनकल्याणकारी योजनाएं बनाएगी। उन्होंने कहा कि  हालांकि कांग्रेस इस बार विपक्ष की भूमिका आक्रमक रूप में अपनाएगी जिससे नई सरकार को कई बार दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। लेकिन अंततोगत्वा सरकार अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी।

शनिवार, 23 नवंबर 2013

डिप्टी जेलर की गोली मारकर हत्या


  नई दिल्ली। जिला जेल वाराणसी में तैनात डिप्टी जेलर अनिल त्यागी की आज सुबह गोली मारकर हत्या कर दी गई। हत्यारों ने उनके ऊपर नाइन एमएम की पिस्टल से छह गोलियां बरसाईं। मेरठ के मूल निवासी डिप्टी जेलर छह वर्ष से बनारस में तैनात थे। अस्पताल पहुंचने से पहले उन्होंने दम तोड़ दिया। रोज की तरह ही 40 वर्षीय अनिल त्यागी आज सुबह भी अपनी कार से कैंट थाना क्षेत्र में महावीर मंदिर के समीप एक जिम में पहुंचे थे। कार पार्क करने के लिए ड्राइविंग सीट की तरफ का शीशा खोल रखा था। कार खड़ी करके जैसे ही दरवाजा खोलकर सीट पर बैठे-बैठे पहला कदम बाहर निकाला बाइक सवार दो बदमाश वहां पहुंचे। जब तक वह कुछ समझते पीछे बैठे बदमाश ने डिप्टी जेलर पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। गोली उनके सीने, पेट, गर्दन व शरीर के अन्य हिस्सों में लगी। गोलियां बरसाने के बाद बदमाश सड़क उस पार खड़े दो अन्य बाइक सवार साथियों के साथ मानसिक चिकित्सालय के बगल से पार्वती नगर कालोनी के रास्ते फरार हो गए। जिस जिम के बाहर घटना हुई, वहां पर क्राइम ब्रांच के एसआइ रणजीत राय भी कसरत कर रहे थे। फायरिंग की आवाज सुनकर रणजीत राय बाहर आए तो देखा डिप्टी जेलर खून से लथपथ पड़े थे, शरीर बेजान हो चुका था। कंट्रोल रुम व एसपी क्राइम को सूचना देने के साथ ही तत्काल उन्हें जिप्सी में लेकर चंद कदम दूर स्थित दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल पहुंचे जहां डाक्टरों ने जेलर को मृत घोषित कर दिया। डिप्टी जेलर की हत्या की खबर मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। एडीजी / आइजी, डीआइजी, एसएसपी समेत कई थानों की फोर्स पहुंच गई। मौके से पुलिस को नाइन एमएम के आधा दर्जन खोखे मिले हैं। मेरठ के नौचंदी थाना क्षेत्र के गढ़ रोड गली नंबर एक के निवासी डिप्टी जेलर अनिल त्यागी की यहां 2008 में तैनाती हुई थी। हत्या के पीछे की वजह जेल में अपराधियों पर सख्ती बताई जा रही है। सख्ती से परेशान कुछ बदमाशों ने डिप्टी जेलर को देख लेने की धमकी भी दी थी। इन दिनों डिप्टी जेलर जेल में बंद अपराधियों की प्रोफाइल तैयार करा रहे थे, इसको लेकर भी बदमाशों में खौफ था।
पत्‍‌नी नहीं थी साथ जेल परिसर में परिवार के साथ रहने वाले डिप्टी जेलर त्यागी रोज अपनी पत्‍‌नी अनुभा त्यागी के साथ जिम में जाते थे और अक्सर वह बाइक से ही जिम में आते थे। शनिवार को वह कार से आए और पत्‍‌नी भी साथ नहीं थी। शक है बदमाश कई दिनों से उनका पीछा कर रहे थे लेकिन पत्‍‌नी के साथ होने की वजह से वारदात नहीं कर रहे थे। आज डिप्टी जेलर को अकेला पाकर बदमाशों को मौका मिल गया।
सीसी कैमरा काम नहीं आया जिम के बाहर सीसी कैमरा लगा है लेकिन वह घटना को कैद नहीं कर पाया। डिप्टी जेलर अपनी कार जिम के बाहर दायीं ओर पार्क कर रहे थे यदि वह जिम के ठीक बाहर कार खड़ी करते तो बदमाश कैमरे में कैद हो सकते थे। जिम संचालक ने भी कैमरा इस तरह लगा रखा था कि वह सिर्फ उसके मुख्यद्वार को ही कवर कर रहा था। यदि कैमरे का मुंह थोड़ा ऊपर सड़क की ओर होता तो बदमाश पहचान में आ सकते थे।
अजय, बीकेडी पर शक पुलिस को जिला जेल में बंद शातिर बदमाश अजय उर्फ विजय, माफिया बृजेश सिंह के भाई की हत्या में शामिल बीकेडी के गिरोह पर अधिक शक है। बीकेडी का खास बिरादर और माफिया मुन्ना बजरंगी के गुरु रहे गजराज सिंह का बेटा अजीत सिंह भी जेल में बंद है। गाजीपुर जेल से दो दिन पहले सनी सिंह भी छूटा है। जेलर की सख्ती से ये सभी परेशान थे।

टेक्नीशियन के वीभत्स हत्याकांड का आरोपी गिरफ्तार

भोपाल। टेक्नीशियन रामबालक की हत्या करने वाले आरोपी को क्राइम ब्रांच व मिसरोद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। एएसपी क्राइम ब्रांच शैलेन्द्र सिंह चौहान ने बताया कि 19 नवंबर 2013 को थाना मिसरोद पर महिला ममता प्रजापति द्वारा थाने पर सूचना दी गई कि उसका पति राम बालक प्रजापति पिता बैजनाथ प्रजापति, उम्र 40 साल निवासी मोधहा, जिला हमीरपुर, उप्र हाल आप्टेल कुंज कृष्ण पुरम मिसरोद जो कि मंडीदीप में झालानी इंजीनियरिंग में क्वालिटी कंट्रोलर के रूप में कार्य करता  था, 18 नवंबर 2013 को रोज की तरह सुबह 10 बजे ड्यूटी हेतु गये थे परंतु 18 नवंबर 2013 को वापस घर नहीं आये । ममता एवं उसके मकान मालिक लक्ष्मण शर्मा के द्वारा रात्रि के दौरान राम बालक को कई फोन लगाये गये तो राम बालक के द्वारा बताया गया कि वह पुल पर है और घर लौट कर आ रहा है, उसके बाद रात्रि करीब 10 बजे राम बालक का मोबाइल बंद हो गया । रात भर इंतजार करने के बाद पति के न आने पर सुबह यह बात ममता ने अपने  भतीजे को बताई भतीजे उमेष एवं मकान मालिक तथा उसके लड़कों द्वारा सुबह से शाम तक मंडीदीप से राधापुरम जो कि ममता का निवास है, तक कई बार तलाष करने के पश्चात झाडिय़ों में राम बालक की सर कुचली लाश मिली जिसे ममता ने उसकी स्वेटर से पहचाना । लाश एक बैनर से ढकी गई थी । ममता ने बताया कि उसके पति के शरीर से पेंट एवं काले रंग का बैग जो वो रोज ले जाते थे वह गायब है । पोस्ट मार्टम में मृत्यु का कारण सिर पर प्राण घातक चोट होना बताया । पोस्टमार्टम के पष्श्चात मृतक की लाश को लेकर परिजन हमीरपुर उप्र पैतृक गांव रवाना हो गये। पुलिस के द्वारा मिसरोद थाने  पर अपराध क्रमांक 378/13, धारा 302, 201 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। पुलिस के पास इस वीभत्स हत्या के संबंध में कई तरह के जॉंच के बिंदु उपस्थित हुए जैसे - रंजिश, अवैध संबंध, आपसी लेन-देन लूटपाट या अचानक मारपीट । जैसे बिंदुओं पर पुलिस ने पांच टीमें बनाकर विवेचना प्रारंभ कर दी । इस संबंध में पुलिस के द्वारा मृत्यु के पूर्व शेरे पंजाब ढाबा, कलारी पर कर्मचारियों से पूछताछ की जहांं पर ज्ञात हुआ कि मृतक के द्वारा उसके मित्र पांडे से पैसे उधार लेकर गणेश चौधरी के साथ बैठकर शराब सेवन के बाद खाना खाया गया । इस संबंध में मित्रों के घरों आदि की तलाशी ली गई मृतक के फैक्ट्री में फैक्ट्री मालिक, मैनेजर, फोर मेन, सहकर्मियों से पूछताछ की गई तब भी इस हत्या का कोई सुराग नहीं मिला । यह अवश्य पता चला कि मृतक ने मृत्यु के पूर्व शराब का सेवन किया था और अकेले घर की ओर रवाना हुआ था। घटना स्थल के आस पास के लोगों से पूछताछ करने पर रात्रि के दौरान कुछ व्यक्तियों का घटनास्थल के आस पास नियमित रूप से बैठना पाया गया । घटना स्थल के पास झुग्गी में रहने वाले रवि पिता कमल काजले,, निवासी मंडीदीप घटना दिनांक से ही घर से लापता होना पाया गया । घर के व्यक्तियों ने अलग अलग तरह से बातें बताई। इससे पुलिस को रवि पर शंका हुई । रवि के मित्रों और मिलने वालों से रवि के बारे में पूछताछ की उनके द्वारा भी अलग अलग जानकारी दी गई जिससे पुलिस की शंका और बढ़ गई । रवि की तलाश में विभिन्न स्थानों पर टीमें भेजी गई। मंडीदीप वापस आने पर रवि को पकड़ा गया । पकड़े जाने पर रवि ने अपना जुर्म कबूल किया । रवि के द्वारा विवाद के बाद रामबालक की हत्या पत्थर पर सर पटक-पटक कर करना बताया गया । उसके बाद उसका बैग व पैंट, जलाना बताया । पुलिस ने आरोपी से मृतक का मोबाइल और टिफिन बरामद कर लिया है । प्रकरण को सुलझाने में प्रमुख भूमिका निभाने वाले क्राइम ब्रान्च एवं मिसरोद पुलिस के कर्मचारियों को पुरस्कृत करने की घोषणा की गई है।