लंदन: अपने किस्म की एक अनोखी और डरावनी घटना में कोलंबिया में एक मां ने कहा है कि उसका एक माह का नवजात बेटा ‘‘शैतान’’ है जो आग उगलता है और जिसने चलना भी शुरू कर दिया है। 28 वर्षीय ऐना फेरिया सांतोस ने पिछले माह कैरेबियाई तट के समीप लोरिका कस्बे में अपने बेटे को जन्म दिया था लेकिन उसने कहा कि उसकी मां बनने की खुशी कुछ ही मिनटों में काफूर हो गई जब उसने बच्चे में ‘‘कई विकृतियां’’ देखीं । इससे सांतोस के परिवार में यह भय फैल गया है कि वह ‘‘बच्चे के वेश में शैतान ’’ है।

पांच बच्चों की मां ने दावा किया कि नवजात शिशु ने चार सप्ताह का होते ही खड़े होना और चलना शुरू कर दिया था। 1976 की डरावनी फिल्म ‘‘दी ओमेन’’ की तरह ही सांतोस ने बताया कि यह नवजात शिशु अक्सर घर के चारों ओर छुप जाता है और घंटों तक बच्चों की तरह ठहाके लगाता है और उसकी आंखें डरावनी हैं। सांतोस ने आरसीएन रेडियो स्टेशन से बातचीत में कहा, ‘‘ वह एक वयस्क की तरह चलता है । कई बार वह बिस्तर के नीचे , सूटकेस में या वाशिंग मशीन में या फ्रिज में छिप जाता है ।’’

उसके पड़ोसियों ने भी दावा किया है कि बच्चा ‘‘प्रेत बाधा’’ से ग्रस्त है और वह मुंह से आग उगल सकता है। उन्होंने ऐसा इस आधार पर कहा है क्योंकि सोफे जैसी जिन जगहों पर वह नियमित रूप से बैठता है वहां तथा उसके कपड़ों पर जलने के निशान पाए गए हैं। इस घटना के चलते घबराए पड़ोसियों द्वारा सांतोस तथा उसके टैक्सी चालक पति आस्कर प्लेसिया लोपेज के घर पर कथित रूप पथराव किए जाने की भी बात सामने आई है।

हालांकि डाक्टर इस कहानी पर विश्वास नहीं करते और अब नवजात को प्रताडित किए जाने की आशंका के दृष्टिकोण से इस मामले की जांच शुरू कर दी गई है। कोलंबियाई परिवार कल्याण संस्थान, राष्ट्रीय पुलिस तथा कैथोलिक चर्च ने भी इन दावों की पुष्टि करने से इनकार कर दिया है कि इस घटना में काला जादू शामिल है। सूत्रों ने बताया कि मनोचिकित्सकों , एक सामाजिक कार्यकर्ता , एक पोषाहार विशेषज्ञा तथा एक वकील का दल इस मामले की जांच करेगा। एक सूत्र ने बताया कि बच्चे को प्रताडि़त किए जाने के निशान दिखाई दिए हैं। एक सूत्र के अनुसार ‘‘ बच्चे की बायीं हाथ की हथेली पर जले के निशान पाए गए हैं और इसलिए परिवार के माहौल में सुधार के लिए कदम उठाए गए हैं । मामले की जांच किए जाने तक परिवार को चेतावनी दी गई है ।’’